नेता प्रतिपक्ष के बहाने सरकार को घेरने की कोशिश, मदन कौशिक ने रखा पक्ष

Pahado Ki Goonj

देहरादून। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश का कोरोना का इलाज चल रहा है। कांग्रेस की ओर से स्वास्थ्य सुविधाओं और प्रशासन की कार्यप्रणाली को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं। सरकार की ओर से कांग्रेस के सवालों का जवाब देते हुए शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने इस संबंध में सरकार का पक्ष रखा है। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश कोरोना संक्रमित हैं, जिनका इलाज देहरादून में चल रहा था. जिसके बाद उन्हें एयरलिफ्ट कर दिल्ली के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है. कांग्रेस की ओर से प्रदेश में लगातार स्वास्थ्य व्यवस्थाओं पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष को देहरादून से सफदरगंज दिल्ली के मेदांता अस्पताल रेफर किया गया है। इस पर कांग्रेस ने ब्ड त्रिवेंद्र सिंह रावत से स्वास्थ्य सुविधाओं का हवाला देते हुए इस्तीफे की मांग की है। सरकार का पक्ष रखते हुए शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं की कोई कमी नहीं है। इसके लिए इंदिरा हृदयेश ने खुद ब्ड को धन्यवाद कहा है। शासकीय प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने बताया कि नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश को कोरोना होने के बाद उनसे संपर्क किया गया। फिर उन्हें उनकी सुविधानुसार अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन वो सिंगल रूम में रहना चाहती थी। अस्पताल प्रशासन ने उनकी उम्र का ध्यान रखते हुए उन्हें में रखने का फैसला किया। लेकिन वो नहीं मानी। इसके बाद उन्हें किसी अन्य अस्पताल में भी शिफ्ट कराया गया। फिर भी उन्होंने दिल्ली के मेदांता अस्पताल जाने की इच्छा जताई. इसकी पूरी व्यवस्था प्रदेश सरकार द्वारा की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

पुलिस संग आप कार्यकर्ताओं की नोकझोंक

मसूरी। शिफन कोर्ट और आईडीएच बिल्डिंग से बेघर हुए लोगों को विस्थापित करने के लिए आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा गांधी चैक से विरोध रैली निकाली गई। हालांकि विरोध रैली को पुलिस द्वारा कुछ ही दूरी पर रोक दिया गया। इस दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों में जमकर नोकझोंक हुई। […]

You May Like