पत्नी की बेरहमी से हत्या करने वाले अभियुक्त को पुलिस व एसओजी ने किया गिरफ्तार

Pahado Ki Goonj

पत्नी की बेरहमी से हत्या करने वाले अभियुक्त को पुलिस व एसओजी ने किया गिरफ्तार

पिथौरागढ़ :थाना कोतवाली पिथौरागढ़ को सूचना मिली की एक अज्ञात महिला का शव चंडाक चमाली कच्ची रोड पर कलमठ (पुलिया) के नीचे नग्न अवस्था में पडा हुआ है सूचना मिलते ही *पुलिस अधीक्षक पिथौरागढ श्री रामचंद्र राजगुरु एवं पुलिस उपाधीक्षक पिथौरागढ़ श्री विमल कुमार आचार्य* तथा *एसओजी व थाना कोतवाली* की टीमे मौके पर पहुंची घटना स्थल का मुआयना करने पर प्रथम दृष्टिया हत्या किया जाना प्रतीत हुआ, जानकारी की गयी तो मृतका की गुमशुदगी थाना कोतवाली में दर्ज की गयी थी मृतका की शिनाख्त दिनेश बहादुर सिंह की बहिन व जीजा जो पिथौरागढ़ में रहते हैं इनके द्वारा गोमती देवी पत्नि दिनेश बहादुर नेपाल के रूप में हुयी । *डॉग स्क्वाड व फोरेंसिक टीम* द्वारा भी घटना स्थल व उसके आस पास खोजबीन करायी गयी । उपरोक्त मामले में *थाना कोतवाली में FIR.NO. 59/19 धारा 302/201 IPC में पंजीकृत किया गया* । पता करने पर ज्ञात हुआ कि मृतका का पति थाने में सूचना देने के बाद से ही गायब हो गया था जो अपनी पत्नी का शव लेने व दाह-संस्कार हेतु भी नही आया । पुलिस द्वारा दिनेश पर शक होने पर इसकी खोजबीन की जा रही थी, *दिनांक 04.05.2019 को पुलिस को पता लगा कि मृतका का पति दिनेश जो नेपाल भागने की फ़िराक में है जिसे डिग्री कॉलेज रोड पिथौरागढ़ से गिरफ्तार किया गया*। घटना में प्रयुक्त पिकप वहां को पुलिस ने कब्जे में ले लिया है ।
*पूछताछ का विवरण*– पूछताछ में अभियुक्त दिनेश बहादुर ने बताया कि मेरी शादी 14 वर्ष पूर्व गोमती देवी पुत्री कालू कोहली जिला दार्चुला नेपाल से हुयी थी,मेरे तीन बच्चे है बीबी व बच्चों के साथ मैं पिछले आठ महीने से डिग्री कॉलेज के पास किराये के मकान में रह रहा हू और वर्तमान में मजदूरी के साथ पिकप गाड़ी भी चलाकर अपने परिवार का पालन पोषण कर रहा था और मेरी पत्नी भी घरो में खाना बनाने का काम करती थी । मेरा व मेरी पत्नी का काफी समय से पारिवारिक झगडा चल रहा था ,मेरी पत्नी का चाल-चलन भी मुझे ठीक नही लगता था जिस कारण में काफी तनावग्रस्त था । दिनांक 16.04.2019 को जब मेरी पत्नी काम से वापस लौट रही थी तो मैंने गाडी रोककर उसको गाड़ी में बिठा लिया और मैने कहा कि मेरी माँ की तबियत ख़राब है भाटकोट से नेपाल फोन आसानी से मिल जाता है चल वहाँ से माँ से बात करेंगे फिर मै गाड़ी चलाकर भाटकोट न जाकर घंटाकरण होते हुए चंडाक की और ले गया और चन्डाक से चमाली जाने वाली रोड से वापस गाड़ी घुमाकर कच्ची सड़क पर बने कलमठ (पुलिया) के पास गाड़ी रोककर व उतरकर पत्नी वाली साइड से आकर उससे अपने पारिवारिक कलह के बारे में बात करने लगा तो बात इतनी बढ़ गयी थी कि मैंने उससे बोला कि या तू मर या मै मरूँगा तो मेरी बीबी ने कहा कि मुझे मार दे तो मैंने उसी के दुपट्टे से उसका गला दबा दिया जिससे उसकी मृत्यु हो गयी और फिर मैंने उसे गाड़ी से निकाल कर सड़क पर बने कलमठ के नीचे नग्न अवस्था में डाल कर उसके नाक-कान के सोने के आभूषण निकाल लिए और उसके कपडे व चप्पल झाड़ी में फेक दिए घटना के बाद मेरे द्वारा कमरा खाली कर अपने तीनो बच्चों को नेपाल छोड़ दिया था पकडे जाने के डर से छुप रहा था ।
*वैधानिक कार्यवाही*– अभियुक्त को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय में पेश कर जेल भेजा जा रहा है । अन्य बरामदगी की संभावना को देखते हुए अभियुक्त का पुलिस कस्टडी रिमांड लिया जायेगा ।
*अभियुक्त का नाम*– दिनेश बहादुर सिंह पुत्र स्व० माधव राज ,उम्र 32 वर्ष निवासी पंसेरा बैतडी नेपाल हाल निवास डिग्री कॉलेज रोड पिथौरागढ़ ।
*मृतका का नाम*–गोमती देवी पत्नी दिनेश बहादुर सिंह उम्र 29 वर्ष निवासी पंसेरा बैतडी नेपाल हाल निवास डिग्री कॉलेज रोड पिथौरागढ़ ।

*गिरफ्तारी टीम के सदस्य*
*01*- श्री प्रताप सिंह नेगी (SHO कोतवाली पिथौरागढ़ )
02- श्री प्रकाश सिंह मेहरा (SOG प्रभारी )
03- श्री हीरा सिंह डांगी (SSI कोतवाली )
04- श्री हेम तिवारी (उ०नि० SOG)
05- श्री संजय पूनिया (उ०नि० कोतवाली )
06- श्री प्रियांशु जोशी (उ०नि० कोतवाली )
07- श्री दिनेश सिंह (उ०नि०कोतवाली )
08- प्रियंका मौनी (उ०नि० कोतवाली )
09- शिवानी नेगी (उ०नि०कोतवाली )
10- अनिल मर्तिलिया (SOG पिथौरागढ़)
11- मनमोहन भंडारी (SOG पिथौरागढ़)
12- बलवंत वल्दिया (SOG पिथौरागढ़)
13- संदीप चंद (SOG पिथौरागढ़)
14- राजकुमार (SOG पिथौरागढ़)
15- राजेंद्र प्रसाद (कोतवाली पिथौरागढ़)।
*प्रभारी मीडिया सैल*
*पुलिस कार्यालय पिथौरागढ़।* *दिनांक-05-05-2019*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

पत्रकार नरेश कांडपाल को पितृ शोक

  पिथौरागढ़। हिन्दुस्तान अखबार के ब्यूरो चीफ नरेश कांडपाल के पिता गौरीदत्त कांडपाल(75) का आक्समिक निधन होने से शोक की लहर है। शनिवार को उनका निधन राममूर्ति अस्पताल बरेली में उपचार के दौरान हुआ। गौरीदत्त लंबे समय से बीमार चल रहे थे। वो वर्ष 1965, 1971 में भारत पाक युद्ध […]

You May Like