नगर पालिका बडकोट में पानी की किल्लत को लेकर महिलाओं ने अधिशासी अभियंता से कि वार्ता ।

Pahado Ki Goonj


बडकोट में पानी की किल्लत को लेकर महिलाओं ने अधिशासी अभियंता से कि वार्ता ।
बड़कोट। ( मदनपैन्यूली ) नगर पालिका बड़कोट के विभिन्न वार्डों में पानी की किल्लत को लेकर महिलाओं ने पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष अतोल रावत के नेतृत्व में अधिशासी अभियंता जल संस्थान पुरोला अमित कुमार से वार्ता की , नगर पालिका के राजेंद्र मैमोरियल स्कूल के प्रांगण में
महिलाओ ने वार्ड न0 एक व वार्ड नं04 में पानी की किल्लत को लेकर अधिशासी अभियंता को अपनी व्यथा सुनाई,महिलाओं ने कहा है कि यहां पर करीब 1 माह से पानी की किल्लत बनी हुई है जिसके चलते पीने के पानी लेने व कपड़े धोने के लिए यमुना नदी तक जाना पड़ रहा है, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष अतोल सिंह रावत ने कहा है कि प्रत्येक साल गर्मी के मौसम में नगर पालिका क्षेत्र में पेयजल की किल्लत बनी रहती है। इन दिनों भी नगर वासियों सहित चारधाम की यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियों को पीने के पानी की समस्या से जूझना पड़ता है। हर साल पेयजल की समस्या से जूझते बड़कोट नगर क्षेत्र के वासिंदों के लिए विभागीय अधिकारियों द्वारा आज तक पेयजल की समस्या से निजात दिलाने के लिए कोई ठोस प्रयास नहीं किया जा रहा है। बीते एक दशक से नगर वासी लिफ्ट योजना की आस लगाए बैठे हैं। लेकिन, अभी तक लिफ्ट योजना भी बड़कोट क्षेत्र के लिए नहीं बन सकी।
नगर पालिका परिषद बड़कोट क्षेत्रान्तर्गत वर्तमान समय में करीब 30 हजार की आबादी है। यहां जल संस्थान के पास वर्तमान में 1200 से अधिक कनेक्शन धारी उपभोक्ता है। जलसंस्थान द्वारा आज भी नगर क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति उसी पुराने प्राकृतिक पेयजल स्रोत से की जा रही है। पेयजल स्रोत वही पुराना है, जबकि उपभोक्ताओं की संख्या लगातार बढ़ रही है। गर्मियों के मौसम में पेयजल स्रोत सूख जाने के कारण पानी काफी कम हो जाता है। जिससे क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति सुचारु नहीं हो पाती है अधिशासी अभियंता अमित कुमार ने मौके पर पहुंचकर महिलाओं की समस्या सुनी तथा पानी की समस्या को दूर करने के लिए सुझाव भी मांगे अधिशासी अभियंता ने कहां है की वार्ड नंबर 1 और वार्ड नंबर 4 के लिए 10 दिन के भीतर नई पाइप लाइन बिछाई जाएगी , तथा अलग-अलग वार्डो के लिए बारी बारी से पानी की आपूर्ति की जाएगी, अधिशासी अभियंता ने अपील की है ,कि इस कठिन परिस्थिति में नगरवासी विभाग का सहयोग करें ,पेयजल के पानी को सिंचाई आदि के लिए उपयोग न करें,व मेन लाइन पर पानी की मोटरे न लगाए , वार्ता में किताब सिंह रावत, लाइन मैन नरेश डिमरी, बरदेव नेगी, नागेन्द्र सिंह ,जगेंद्र चौहान, श्रीमती रामकला ,चैनी देबी,बिना देबी,कबिता,सहित सैकड़ों महिलाएं मौजूद थी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

तीरथ सरकार का देवस्थानम बोर्ड को भंग करने पर विचार

हरिद्वार। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत लगातार पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के फैसलों पलट रहे हैं। एक बार फिर सीएम तीरथ ऐसा ही कुछ करने जा रहे हैं। दरअसल, सीएम ने अब देवस्थानम बोर्ड में शामिल 51 मंदिरों को बोर्ड से मुक्त किये जाने व बोर्ड पर पुनर्विचार […]

You May Like