उत्तराखंड की मुख्य खबरें जानिये

Pahado Ki Goonj
कई यूकेडी नेता आप में शामिल
देहरादून। उत्तराखंड में आम आदमी पार्टी अपना कुनबा लगातार बढ़ाने में जुटी है। इसी कड़ी में आज यूकेडी के पूर्व महानगर अध्यक्ष संजय क्षेत्री और उनके समर्थकों ने आम आदमी पार्टी का दामन थामा। प्रेस क्लब में आयोजित एक कार्यक्रम में आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर और सह प्रभारी राजीव चैधरी की मौजूदगी में यूकेडी के नेताओं ने पार्टी ज्वाइन किया। इस दौरान आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर ने भाजपा और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। एसएस कलेर ने कहा कि आप पार्टी लगातार इस बात पर जोर देती आई है कि पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत जीरो वर्क सीएम थे। उन्होंने 4 साल में कोई भी विकास का काम नहीं किया जिसकी वजह से राज्य 4 साल पीछे चला गया है। उन्होंने कहा कि आने वाले चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी संगठन विस्तार पर पूरा जोर दे रही है और मजबूती से अपने संगठन को खड़ा कर रही है।
आगेपढें एसएमपीफोटो डी 5
फटी जींस के बयान पर महिला कांग्रेस ने फंूका सीएम का पुतला
हरिद्वार। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के फटी जींस के फैशन को लेकर दिए गए बयान के बाद देवभूमि के लोगों में गुस्सा है। गुरुवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदेश में कई जगह धरना प्रदर्शन कर नारेबाजी की। वहीं पुतला फूंककर विरोध जताया। कांग्रेस ने मुख्यमंत्री से महिलाओं से माफी मांगने की मांग की है।
हरिद्वार में महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने भगत सिंह चैक पर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का पुतला दहन किया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कहा कि एक तरफ भाजपा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देती है दूसरी तरफ महिलाओं के प्रति ऐसी घृणित सोच रखती है। कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री से बयान पर माफी मांगने की मांग की। महिला कांग्रेस ने कहा कि जींस को लेकर सीएम ने महिलाओं के ऊपर जो अभद्र टिप्पणी की है उसके लिए मुख्यमंत्री को माफी मांगनी चाहिए। उत्तराखण्ड महिलाओं की देन है उनके बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता। ऐसे नेता जो महिलाओं के वस्त्रों से उनके चरित्र का आंकलन करते हैं उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए। उन्होंने कहा कि सत्ता के नशे में महिलाओं का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। बेरोजगारी और पलायन पर सरकार को ध्यान रखना जरूरी है।
आगेपढें
सीएम की टिप्पणी से भड़के एनएसयूआई ने फूंका पुतला
देहरादूून। भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश महासचिव एनएसयूआई विकास नेगी के नेतृत्व में मुख्यमंत्री द्वारा युवाओं के पहनावे को लेकर की गई टिप्पणी के विरोध में कांग्रेस भवन में पुतला दहन किया गया
विकास नेगी का कहना था कि प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा महिलाओं के प्रति दिया गया बयान घोर निंदनीय है। यह संपूर्ण भाजपा की मनोदशा को दर्शाता है। मुख्यमंत्री भारतीय संविधान का कितना सम्मान करते हैं यह भी दर्शाता है जिसमें कि साफ लिखा है कि चाहे लड़का हो चाहे लड़की, चाहे गरीब हो चाहे अमीर किसी की वेशभूषा पर कोई सवाल नहीं उठाया जा सकता परन्तु भाजपा द्वारा पहले ही कई बार वेशभूषा, जाति, धर्म पर निरंतर अशोभनीय टिप्पणियां होती रही हैं।
जबकि देवभूमि उत्तराखण्ड में महिलाओं को आदि शत्तिफ के रूप में पूजा जाता है। वहीं मुख्यमंत्री को पहनावा दिखाई दे रहा है। उत्तराखण्ड की बेटियों द्वारा अपने प्रदेश ओर देश का नाम विश्व में रोशन किया जा रहा है वहीं भाजपा उन पर अपने तुगलकी मान थोपना चाहती है।
उत्तराखंड एनएसयूआई इसका घोर विरोध करती है। यदि मुख्यमंत्री द्वारा इस टिप्पणी के लिए माफी नहीं मांगी गई तो मुख्यमंत्री आवास घेराव किया जायेगा और उनको काले झंडे दिखाने का काम किया जाएगा।
इस अवसर पूर्व महासंघ महासचिव अंजलि चमोली अभय कत्युरा प्रदेश सचिव, प्रकाश नेगी, उज्जवल सेमवाल, 55कॉजल नेगी, अजय सैनी, सागर, शीशपाल सौर, प्रदीप विटी अमन, अमित, मनाशिरमा, सचिन आदि मौजूद थे।

आगेपढें
भाजपा सरकार के चार वर्ष के कार्यकाल पर आप ने मनाया काला दिवस
देहरादून। उत्तराखण्ड में भाजपा सरकार के चार साल पूरे होने पर आज आम आदमी पार्टी ने काला दिवस मनाया। आज आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सीएम आवास कूच किया। इस दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच जम कर धक्कामुक्की हुई। वहीं पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष की तबीयत भी इस दौरान बिगड़ गई है। जिन्हें अस्पताल ले जाया गया।
आज उत्तराखण्ड में भाजपा सरकार के चार साल पूरे होने जहां एक तरफ सरकार द्वारा कार्यक्रम का आयेाजन किया जा रहा है वहीं दूसरी ओर आम आदमी पार्टी ने सरकार के चार साल पूरे होने पर उनकी चार सालों की विफलता को लेकर आज पूरे प्रदेश की सभी विधानसभाओं में प्रदर्शन कर काला दिवस मनाया गया।
वहीं राजधानी में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सीएम आवास कूच किया। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को सीएम आवास से पहले ही रोक दिया गया जिस पर प्रदर्शनकारियों ने वहां जमकर हंगामा किया। पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच जम कर धक्कामुक्की भी हुई। वहीं इस दौरान आम आदमी पार्टी प्रदेश अध्यक्ष की तबीयत बिगड़ गई जिस पर उन्हें वहां से अस्पताल ले जाया गया।
आगेपढें
पंजाबी समुदाय को सरकार में जगह न देने पर जताई नाराजगी
देहरादून। उत्तरांचल पंजाबी महासभा ने सरकार में पंजाबी समुदाय को कोई स्थान न दिये जाने पर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को ज्ञापन प्रेषित किया है।
इस ज्ञापन के माध्यम से कहा गया है कि उत्तराखण्ड के विकास में पंजाबी समुदाय का पूर्ण योगदान रहा है। पंजाबी कोई जात नहीं है बल्कि देश की विभिन्न संस्कृतियों से भरपूर हैं। देशसेवा के लिए जनसंघ के समय से सेवा भावना से भाजपा से जुड़े हुए हैं लेकिन आज इस समाज को एक षड़यंत्र के तहत नजरअंदाज किया जा रहा है। जिससे उत्तराखण्ड का भाईचारा प्रभावित हो रहा है।
कहा कि पंजाबी समाज न केवल भारत में पूरे संसार में अपनी पहचान से जाना जाता है। देश विदेशों में हमारी सेवा तन मन धन से और देश के प्रति मर मिटने के लिए पंजाबी समाज सबसे आगे कार्य करता आ रहा है। कोरोना के समय पंजाबी समाज की हर जगह प्रशंसा होती आ रही है। पूरा देश हमारे सेवा की सराहना करता रहा है जैसे लंगर, पानी, सैनिटाइजर, गुरूद्वारा, मंदिर, मस्जिद, स्कूलों में, सैनिटाइजर कोरोना फंड (मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री) मे योगदान देते आ रहे हैं। आपदा में हमने अपने स्कूल, घर, मंदिर, गुरुद्वारा खोलकर हर स्थान पर जाकर लोगों की जरूरत की वस्तुए और राज्यपाल भवन में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, प्रिंटेड मीडिया इत्यादि को सम्मानित करना हमारा प्राथमिकता रही है।
उत्तराखंड में पंजाबी महासभा ने जोरों शोरो से हर पर्व मनाया हैं। हरेला पर्व कुमाऊं का पर्व होते हुए भी मुख्यमंत्री के निर्देश के अनुसार गढवाल क्षेत्र मे भी मनाया गया। पंजाबी समाज सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर सहयोग करता आ रहा है जिसमें उत्तराखंड बनने के बाद हर बार अल्पसंख्यक चेयरमैन पंजाबी समाज से बनता आ रहा है अब कि बार क्यु नहीं? पांच विधायक होते हुए भी सरकार किसी का भी सहयोग क्ंयू नहीं? आज हम इस विषय पर सोचने पर मजबूर है? हमारे सामने और भी विकल्प है कि हम सब आगे की राजनीति बनाय जो हमारी माँगे पूरे करे हम उनको सहयोग देकर उनकी सरकार बनने मे पूर्ण सहयोग करेंगे
कहा कि उत्तराखंड प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, उत्तराखंड प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम के संज्ञान में भी मंत्री मंडल से पहले अवगत करा दिया गया था। पंजाबी समाज जल्द ही मान्य प्रधानमंत्री , पार्टी अध्यक्ष नड्डा को भी मांग पत्र लिख रहे हैं कि हमारे साथ हर बार ही सौतेला व्यवहार क्यूं होता है? हम पूर्णतः एक बार नव नियुत्तफ मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से यह मांग करते हैं कि हमारा सरकार मे सहयोग होना अनिवार्य है अन्यथा पंजाबी समाज की सोच बदल सकती है उसका जो भी परिणाम होगा उसके उत्तरदायित्व मुख्यमंत्री और उत्तराखंड सरकार का होगा। ज्ञापन देने वालों में राजीव घई प्रदेश अध्यक्ष , जी. एस. आनंद प्रदेश संगठन मंत्री व गढवाल प्रभारी , एस. पी. कोचर, राम देव आनंद, वीरेन्द्र सिंह चड्डा, संजीव सिंह ग्रोवर, राज कुमार फूटेला, संजय तलवार, भारत भूषण चुग, राजीव परनामी, अशोक कुमार छाबड़ा, बलदेव जैसवाल आदि थे।
आगेपढें
मुख्यमंत्री तीरथ के स्टाफ में फिर तब्दीली, दो नए निजी सचिवं शामिल
देहरादून। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के स्टाफ में शामिल किए गए 4 निजी सचिव में से 2 अधिकारियों को रिप्लेस किया गया है।इनकी जगह पर बाध्य प्रतीक्षा में चल रहे 2 अधिकारियों को सीएम स्टाफ से जोड़ा गया है।
उत्तराखंड में नए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की सियासी गाड़ी पटरी पर पूरी रफ्तार से दौड़े, इसके लिए सीएम भरसक प्रयासों में लगे हैं। कुर्सी पर बैठते ही उनके द्वारा कई ताबड़तोड़ फैसले लिए गए। इसके अलावा अपने स्टाफ में भी सीएम पसंद के अधिकारियों को ही नियुक्त कर रहे हैं। बीते 2 दिन पहले सीएम द्वारा अपने स्टाफ में 4 लोगों को निजी सचिव स्तर पर नियुक्त किया गया था। । मनीषा पंवार के वरिष्ठ निजी सचिव सुरेंद्र कुमार और आईएएस आशीष चैहान के निजी सचिव कबीर अंसारी को सीएम स्टाफ में अटैच किया गया था। लेकिन अब उन्हें वापस वहीं भेज दिया है। अब बाध्य प्रतिक्षा में दो अधिकारी मुख्य निजी सचिव विक्रम सिंह और वरिष्ठ निजी सचिव हेम भट्ट को सीएम के स्टाफ में शामिल किया गया हैं।
आगेपढें
कौशिक को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने पर भव्य रोड शो
हरिद्वार। पूर्व कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक के बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने पर हरिद्वार में भव्य रोड शो निकाला गया, जो कि हरिद्वार सूखी नदी से प्रारंभ किया गया। जिसमें प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक का कार्यकर्ताओं ने सबसे पहले भव्य स्वागत किया और रोड शो निकाला। वहीं, प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि वह प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार हरिद्वार में आए हैं और वह कार्यकर्ताओं का जुनून देखकर मंत्रमुग्ध हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि 2022 चुनाव में भाजपा सभी जिलों में परचम लहराएगी।
वहीं, भाजपा के जिला महामंत्री विकास तिवारी ने कहा कि मदन कौशिक पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष होने के साथ-साथ उत्तराखंड के अलग राज्य के रूप में अस्तित्व में आने के बाद से ही विधानसभा में हरिद्वार का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। इसलिए सभी कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी है कि पार्टी प्रदेश अध्यक्ष होने के नाते उनका भव्य स्वागत हरिद्वार में किया जाए. रोड शो व स्वागत कार्यक्रम की जानकारी देते हुए विकास तिवारी ने बताया कि रोड शो की शुरूआत खड़खड़ी सूखी नदी से की गई है। रोड शो सूखी नदी से शुरू होकर भीमगोड़ा कुंड, हर की पैड़ी, पोस्ट ऑफिस, वाल्मीकि चैक, शिव मूर्ति, देवपुरा, तुलसी चैक, शंकराचार्य चैक, बंगाली मोड़, पहाड़ी बाजार, चैक बाजार कनखल, थाना कनखल, रामदेव की पुलिया, कृष्णानगर, सिंह द्वार, आर्यनगर चैक, तहसील, शंकर आश्रम, चंद्राचार्य चैक और ऋषिकुल होते हुए देवपुरा चैक पर संपन्न होगा। साथ ही उन्होंने बताया कि युवा मोर्चा के कार्यकर्ता बाइक से रैली में आगे-आगे चल रहे हैं और लगभग 50 स्थानों पर कार्यकर्ताओं और शहर की जनता द्वारा मदन कौशिक पर पुष्प वर्षा कर उनका भव्य स्वागत किया गया। इस दौरान जगह-जगह युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं द्वारा आतिशबाजी भी की गई।

बाल संप्रेक्षण गृह से फरार हुए सात किशोर,दो मिले
देहरादून। हल्द्वानी में बाल संप्रेक्षण गृह से सात विधि विवादित किशोर तीन मंजिला भवन की खिड़की के एंगल और जाली काटकर फरार हो गए। किशोरों ने तीन मंजिल से उतरने के लिए खोल और चादरों की रस्सी बनाई।
सातों किशोरों में से छह चोरी और एक एनडीपीएस एक्ट में राजकीय संप्रेक्षण गृह में थे। छह किशोर हल्द्वानी के आसपास क्षेत्र और एक अपराधी लालकुआं का बताया जा रहा है। काफी खोज बीन के बाद दो किशोर मिल गए हैं।
जानकारी के अनुसार, सुबह छह बजे चैकीदार जैसे ही बाल अपराधियों को उठाने के लिए तीन मंजिले भवन के कमरे में पहुंचा तो दरवाजा अंदर से बंद था। दरवाजा खटखटाने के बाद भी जब दरवाजा नहीं खुला तो चैकीदार ने दरवाजे का कुंडा तोड़ अंदर देखा तो खिड़की का एंगल कटा हुआ देखकर वह हैरान रह गया। उसने इसकी सूचना उच्च अधिकारियों को दी।
मौके पर पहुंचे सीओ सिटी डा. जगदीश चंद्रा और सीओ भूपेंद्र सिंह धौनी ने घटना की जानकारी ली। सीओ जगदीश चंद्रा ने बताया कि सात किशोर चादर और गद्दों की खोल की रस्सी बनाकर तीन मंजिला भवन से नीचे उतरे। इसके बाद वे एक पुरानी सीढ़ी लगाकर दीवार फांदकर फरार हो गए। उन्होंने कहा कि घटना सुबह तीन से चार बजे की है। सुबह जानकारी मिलने के बाद खोज बीन शुरू की गई तो दो किशोर मिल गए। बाकी किशोरों की तलाश जारी है।

बीजेपी सरकार के चार साल पूरे, दृष्टि पत्र के आंकड़ों ने खोली पोल
देहरादून। उत्तराखंड में बीजेपी सरकार के चार साल पूरे हो गए हैं। इन चार सालों में सरकार और संगठन के दावे कितने जमीन पर उतरे, इसकी हकीकत साल 2017 में चुनावी दृष्टि पत्र को देखकर समझा जा सकता है। दृष्टि पत्र में मौजूद बिंदुवार वादों पर नजर दौड़ाएं तो अधिकतर घोषणाओं में राज्य सरकार द्वारा कुछ खास नहीं पहल नहीं की गई है। उत्तराखंड में साल 2017 में विधानसभा चुनाव से पहले सभी राजनीतिक दलों ने अपनी घोषणाओं को लेकर मैनिफेस्टो जारी किया था। बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र को दृष्टि पत्र का नाम दिया था। फौरी तौर पर देखें तो इस दृष्टि पत्र में भाजपा ने करीब 12 पन्नों में प्रदेश की 5 साल की योजनाओं और विकास परक सोच को बयां किया था। पार्टी ने अलग-अलग सेक्टर को विभिन्न बिंदुओं के आधार पर अपनी प्राथमिकताओं को इस दृष्टि पत्र में शामिल किया था। दृष्टि पत्र में गांवों से लेकर शहरों के विकास को लेकर अलग-अलग रोडमैप भी शामिल किए गए थे। लोगों की जरूरतों और मांग को ध्यान में रखकर दृष्टि पत्र में मुद्दों को जगह दी गई थी। लेकिन आपको शायद जानकर हैरानी होगी कि अधिकतर बिंदुवार मुद्दों पर पिछले 4 साल में बहुत कुछ नहीं हो पाया। अधिकतर मुद्दे सरकार ने विचार के लिए जरूर रखें, लेकिन पूरा काम 90ः से ज्यादा पर नहीं हो पाया है। बीजेपी की दृष्टि पत्र में शिक्षा, स्वास्थ्य, युवा, पर्यटन, कृषि आधारभूत विकास, महिला, एससी एसटी अल्पसंख्यक, उद्योग व्यापार, भ्रष्टाचार, संकल्प और राजधानी जैसे विषयों को शामिल किया गया था. राजधानी के मामले को छोड़ दिया जाए तो हर सेक्टर में कई बिंदुओं के जरिए अपनी प्राथमिकताओं और वादों को दर्ज कराया गया था। बीजेपी के दृष्टि पत्र पर नजर दौड़ाएं तो यह साफ दिखता है कि इन 4 सालों में अलग-अलग सेक्टर्स, जिनको लेकर वादे किए गए थे। उनमें बिंदुवार होने वाले शत-प्रतिशत कामों की संख्या बेहद कम थी। बीजेपी ने इन आंकड़ों को नकारते हुए अपनी सरकार में दृष्टि पत्र में दिए गए सभी वादों को पूरा करने की बात कह रही है। बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष देवेंद्र भसीन कहते हैं कि दृष्टि पत्र में भाजपा ने 2017 में चुनाव से पहले जो वादे किए थे, वह पूरे किए जा रहे हैं। साथ ही प्रदेश में अब तक 85ः वादे पूरे किए जा चुके हैं। बीजेपी ने अगले एक साल में बाकी बचे हुए 15ः वादों को पूरा करने की बात कही है। बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष देवेंद्र भसीन दावा करते हैं कि इन्हीं वादों को पूरा करने की वजह से भाजपा विधानसभा चुनाव 2022 में 60 सीटें लाएगी।
आगेपढें

नव निर्माण कोर्ट परिसर में फैमिली कोर्ट का उद्घाटन
देहरादून। नैनीताल हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस राघवेंद्र सिंह चैहान ने वर्चुअली देहरादून के नए जिला कोर्ट परिसर में बने फैमिली कोर्ट भवन का उद्घाटन वर्चुअली किया। इस दौरान देहरादून जिला कोर्ट के न्यायाधीश सहित तमाम अधिवक्ता और फैमिली कोर्ट के अधिवक्ता मौजूद रहे। देहरादून हरिद्वार रोड स्थित पुराने जेल परिसर में निर्माणाधीन जिला न्यायालय परिसर में सबसे पहले तैयार होने वाले फैमिली कोर्ट के उद्घाटन को लेकर अधिवक्ताओं में खासा उत्साह देखने को मिला। वरिष्ठ अधिवक्ताओं ने राज्य सरकार आग्रह किया कि पुराने कोर्ट से नए निर्माणाधीन भवन में आने वाले जिला न्यायालय परिसर के सभी कोर्ट जल्द से जल्द तैयार किए जाए। साथ ही उन्होंने नए निर्माणाधीन न्यायालय में वकीलों की चेंबर व्यवस्था होने के साथ ही पुराने कोर्ट हरिद्वार रोड से आने जाने वाले मार्ग पर फ्लाईओवर निर्माण करने की मांग भी रखी है। ताकि आवाजाही सुरक्षित हो सके। देहरादून के दशकों पुराने जिला कोर्ट के साथ अन्य अदालतों को हरिद्वार रोड स्थित पुराने जेल स्थान पर नवनिर्मित न्यायालय भवनों में शिफ्ट करने की कवायद चल रही है। इसी के दृष्टिगत जिला न्यायालय भवन के साथ ही अन्य अदालतों के भवन भी तैयार हो रहे हैं। इसी क्रम में सबसे पहले सबसे व्यस्ततम रहने वाले फैमिली कोर्ट भवन उद्घाटन किया गया। नव निर्मित फैमिली कोर्ट भवन में सीढ़ियों के साथ लिफ्ट की सुविधा व दिव्यांग के लिए रैंप और शौचालय निर्माण अलग से कराया गया है। कोर्ट में वाद दायर करने वालों को किसी तरह की कोई परेशानी न हो इसके लिए उनके उचित बैठने की व्यवस्था, बच्चों के खेलने के साधन और विश्राम ग्रह की भी अतिरिक्त सुविधा उपलब्ध कराई गई है। फैमिली कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता मनमोहन लांबा ने बताया कि देहरादून जिले में सबसे अधिक मामले फैमिली कोर्ट में लंबित चल रहे हैं। ऐसे में दशकों पुराने फैमिली कोर्ट में सुदृढ़ व्यवस्था ना होने के कारण कई तरह की तकनीकी समस्याएं लंबे समय से चल रहीं थी। ऐसे में नए फैमिली कोर्ट के भवन तैयार होने के बाद अब ना सिर्फ पारिवारिक विवाद के लंबित मामले तेजी से निपटाए जाएंगे। बल्कि फैमिली कोर्ट से संबंधित वकीलों के साथ पीड़ितों को न्याय दिलाने में भी बड़ी राहत मिलेगी। फैमिली कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता मनमोहन लावा के मुताबिक आधुनिक समय के मुताबिक नव निर्माण फैमिली कोर्ट में कई सुविधाएं वर्तमान समय के अनुसार मुहैया कराई गई है। हालांकि पुरानी कोर्ट परिसर से आवाजाही के लिए कुछ समस्याएं जरूर सामने नजर आ रही हैं। लेकिन इस मामले में भी हाई कोर्ट को व्यवस्था बनाने के लिए आग्रह किया गया है। वहीं उत्तराखंड बार काउंसिल के सदस्य चंद्रशेखर तिवारी का भी मानना है कि जिला न्यायालय परिसर में सबसे पहले तैयार होने वाले फैमिली कोर्ट से अधिवक्ताओं सहित केस दायर करने वाले लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। नए फैमिली कोर्ट में तमाम सुविधाएं हैं जो अब तक पुराने कोर्ट में नहीं थी. अधिवक्ता चंद्रशेखर तिवारी के मुताबिक नए निर्माण जिला न्यायालय के अन्य कोर्ट भवन को भी जल्द तैयार किया जाएगा। इसके लिए राज्य सरकार और हाई कोर्ट से आग्रह किया गया है।फोटो डी 2
सल्ट उपचुनाव को लेकर आचार संहिता लागू
अल्मोड़ा। सल्ट विधानसभा उपचुनाव की तिथि का ऐलान होने के बाद जिला प्रशासन चुनाव की तैयारियों में जुट गया है। शनिवार को अल्मोड़ा के डीएम नितिन भदौरिया ने उपचुनाव की तैयारियों को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक की। डीएम ने बताया की भारत निर्वाचन आयोग द्वारा सल्ट विधानसभा क्षेत्र के उप-निर्वाचन के लिए कार्यक्रम घोषित कर दिया गया है। जिसके बाद से ही पूरे जिले में आचार संहिता लागू हो गई है। सल्ट उप-चुनाव के लिए 23 मार्च को नामांकन, 30 मार्च नाम वापसी का अंतिम दिन है। वहीं 31 मार्च को नामांकन की समीक्षा होगी। 17 अप्रैल को मतदान और 2 मई को मतगणना होगी.उप-चुनाव के लिए सल्ट विधानसभा में कुल 136 बूथ बनाये गये हैं। जीआइसी भिकियासैंण से सभी पोलिंग पार्टियों को रवाना किया जाएगा। पोलिंग पार्टियों को ट्रेनिंग देने को लेकर तैयारियां की जा रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

स्वामिश्रीः 1008' अविमुक्तेश्वरानंदः सरस्वती ने श्रीनगर कमलेश्वर महादेव से जोशीमठ अस्पताल निर्माण के लिए आशीर्वाद मंगा

श्रीनगर गढ़वाल,ज्योतिष् पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी श्री स्वरुपानंद सरस्वती जी महाराज के शिष्य प्रतिनिधि ‘स्वामिश्रीः 1008’ अविमुक्तेश्वरानंदः सरस्वती ने आज जोशीमठ से हरिद्वार जाते समय श्रीनगर के प्रख्यात श्री कमलेश्वर महादेव जी में दर्शन जलाभिषेक किया और जोशीमठ में 100 बिस्तरों के अस्पताल के निर्माण में सफलता का आशीर्वाद मांगा। […]

You May Like