पहाड़ के विकास की योजनाओं के लिए आयोजित की गई चौपाल ।

Pahado Ki Goonj

पहाड़ के विकास की योजनाओं के लिए आयोजित की गई चौपाल ।। बडकोट / नौगांव: (मदनपैन्यूली)
प्रधानमन्त्री के लोकल फॉर वोकल सिद्धान्त पर समाज सेवा से जुड़े समाज सेवियों ने उत्तरकाशी जनपद के ब्लॉक मुख्यालय नौगांव में आयोजित चौपाल में पहाड़ के विकास की योजनाये पहाड़ से बनाने के लिए उपहास रखा और क्षेत्र के विकास के मुद्दों के लिए प्रधानमन्त्री और मुख्य मंत्री को मांग पत्र भेजा।
कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय कल्याणकारी योजनाओं के उत्तराखण्ड संयोजक अलोक अवस्थी ने कहा कि पहाड़ के विकास के लिए दिल्ली और देहरादून में बनने वाली योजनाएं भ्र्ष्टाचार को बढ़ावा दे रही हैं इसलिए पहाड़ के विकास की योजनाए यहां की चौपाल में तैयार हों।
राज्य आंदोलनकारी रबिन्द्र जुगरान ने कहा कि सरकारी तन्त्र की जड़ों में भ्र्ष्टाचार केन्सर की तरह काम कर रहा है,जिससे पहाड़ों का विकास आगे नही बढ़ पा रहा है उन्होंने पहाड़ के विकास के लिए चौपाल के माध्यम से आंदोलन चलाने की बात कही।
चौपाल में तैयार क्षेत्रीय मुद्दों में यमुनाघाटी में बेस अस्पताल, घोषित कृषि मण्डी की स्थापना,बागवानी जड़ी बूटी शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान,यमुनोत्री धाम का वैष्णव देवी की तर्ज पर विकास,पृथक जनपद की स्थापना,अनिवार्य सैनिक शिक्षा आदि शामिल किए गए।
शनिवार को पुरोला से देहरादून के रैफर गर्भवती की रास्ते में हुई मौत पर दो मिनट का मौन रख कर श्रद्धांजलि दी गई और जिला प्रशासन से प्रकरण की जाँच की मांग की गई। वक्ताओं का कहना था कि यमुनाघाटी के नौगांव पुरोला और मोरी ब्लॉक में एक भी गाइनोक्लोजिस्ट न होने से गर्भवती महिलाएं अकाल मर रही हैं और सरकारी तन्त्र तमाश वींन बना हुआ है।
कार्यक्रम में अभियान के महासचिव कुंवर जपेन्द्र सिंह,विजेंद्र रावत,नगर पंचायत अध्यक्ष शशि मोहन राणा,सकल चन्द रावत,जयदेव शाह,पूर्व मंत्री नारायण सिंह राणा,एल पी सेमवाल,कबूल पंवार,जगदीस असवाल,जगदीप रावत,राजेश रावत,आदि शमिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

उत्तराखंड पर्यटन द्वारा 26 से 28 फरवरी के मध्य कोलकाता में आयोजित हुए travel and tourism fair से पूर्व पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज से वार्ता

देहरादून कोलकाता पहाडोंकीगूँज के लिए विशेष पश्चिम बंगाल के लोग परिवार सहित सालभर में एक बार महीने ,पन्द्रह दिन औऱ हप्ता भर जरूर घूमने जाते हैं वहां हिन्दू ओं की जनसंख्या 65 लाख के ज्यादा है यदि उसका 10प्रतिशत लोगों को लाने का प्रयास करते हैं तो650 हजार लोगों को […]

You May Like