गंगा समग्र जन-जागरण कलश यात्रा में श्री बद्रीनाथ मंदिर के धर्माधिकारी भूवन चन्द्र उनियाल ने गंगा माँ की महिमा का सुन्दर व भावमय विस्तृत वर्णन किया

Pahado Ki Goonj

गंगा समग्र जन-जागरण कलश यात्रा में श्री बद्रीनाथ मंदिर के धर्माधिकारी भूवन चन्द्र उनियाल ने गंगा माँ की महिमा का सुन्दर व भावमय विस्तृत वर्णन किया

विष्णु प्रयागे नमस्तुभ्यं
धवलायै नमो नम:
जय गंगे नमो गंगे
अलकनन्दायै नमोस्तु ते

गंगा समग्र जन-जागरण कलश यात्रा का पाण्डुकेश्वर/बद्रीनाथ (नारद कुण्ड) से आने पर मंगलवार कामदा एकादशी दि. २७ मार्च को विष्णु प्रयाग में क्षेत्र की जनता द्वारा भव्य स्वागत हुआ। विष्णु प्रयाग में भक्तों द्वारा गंगा माँ के भजन-कीर्तन, चालीसा, आरती सत्संग से पूरा माहौल भक्तिमय हो गया, जिसमें महिलाओं ने बढ़-चढ़कर भाग लिया। गंगा (अलकनन्दा व धवला) तट पर धर्माधिकारी बद्रीनाथ मंदिर समिति भूवन चन्द्र उनियाल ने गंगा माँ की महिमा का सुन्दर व भावमय विस्तृत वर्णन किया। गंगा समग्र के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य ललित कपूर, डॉ मोहन सिंह गाँववासी, जिला संयोजक श्विक्रम नेगी, खण्ड संयोजक ऋषि प्रसाद सती, खण्ड सह-संयोजक लक्ष्मण नैनवाल व अन्य गणमान्य नागरिकों व जनता के मध्य, गंगा माँ की स्वच्छता पर जोर देने का आग्रह देते हुए कहा कि वर्तमान में विश्व की मुख्य समस्या स्वच्छ पेयजल की कमी है, जिस कमी को भारतीय सनातन संस्कृति के अन्तर्गत नदियों को माँ के रूप में वास्तविक आदर करके ही दूर किया जा सकता है। तत्पश्चात जोशीमठ मुख्य बाजार से भजन-किर्तन करते हुय जन-जागरण कलश यात्रा निकली, जिसने पूरे जोशीमठ को गंगा माँ की भक्ति में डुबो दिया। कलश यात्रा सायं को नृसिंह मंदिर पहुँची, जहाँ रात्री में स्थानीय कलाकारों द्वारा भजनों का सुन्दर कार्यक्रम रहा। आज बुधवार सुबह यात्रा अगले पड़ाव नन्दप्रयाग के लिए नृसिंह मंदिर जोशीमठ से गंगा माँ की जय-जयकार के साथ रवाना हुई।हर हर गंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

उत्तराखंड सरकार द्वारा मेडिकल कालेज में अब डाक्टर नहीं कसाई बनाये जाएंगे

उत्तराखंड सरकार द्वारा मेडिकल कालेज में अब डाक्टर नहीं कसाई बनाये जाएंगे ये डॉक्टर लूटेगा नही तो क्या करेगा ? राज्य के निजी उच्च शिक्षण संस्थानों में जहां झंड़ा 110-120 फुट ऊपर तक लहराया जा रहा है वहीं अब मेडिकल कॉलेज की फीस भी ऊंचाईयों तक पहुचने वाली है.सवाल ये […]

You May Like