हिन्दी है हम वतन है हिन्दोस्तां हमारा

Pahado Ki Goonj

हिन्दी है हम वतन है हिन्दोस्तां हमारा
विश्व हिन्दी दिवस (10 जनवरी )की सभी हिन्दी भाषी लोगों और हिन्दी बोलने वाले देश विदेश के सभी लोगों, सभी हिन्दी भाषी क्षेत्र के लोगों को अपनी जान पहचान बढ़ाने के लिए कार्य करते रहने की आवश्यकता है ,इसके इस्तेमाल करने से हमारी संस्कृति को बढ़ावा मिलेगा।वर्ष 1976 में सर्वप्रथम नागपुर में विश्व हिन्दी सम्मेलन आयोजित हुआ था ,जिसके बाद वर्ष 2006 से पूर्व पीएम डॉ मनमोहन सिंह जी ने हर वर्ष 10 जनवरी को विश्व हिन्दी दिवस मनाने की शुरुआत की।हिन्दी की स्थिति को मजबूत और सुदृढ़ करने के उद्देश्य और अंतरर्राष्ट्रीय भाषा के रूप में पेश करने के उद्देश्य से विश्व हिन्दी दिवस मनाया जाता है,देश समेत विदेशों में विदेश मंत्रालय हर जगह हिन्दी दिवस को धूमधाम से मनाते हैं,अतः सभी देशवासियों से निवेदन है कि अधिक से अधिक अपने देश की मातृ भाषा हिंदी को प्रयोग में लाएं ताकि हिन्दी का पूरे विश्व में अधिक से अधिक प्रचार प्रसार हो।
जय हिन्द, जय भारत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण दिए जाने के फैसले को मंजूरी मिल गई है

मोदी कैबिनेट की बैठक में आज सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण दिए जाने के फैसले को मंजूरी मिल गई है. आर्थिक आधार पर आरक्षण देने का फैसला कोई नया नहीं है. आज से पहले नरसिम्हाराव की सरकार ने 25 सितंबर, 1991 को सवर्णों को 10% आरक्षण दिया था – ठीक […]