पौड़ी गढ़वाल की बुधवार की लड़की जलाने जैसी घटना नहो कानून बने

Pahado Ki Goonj

पौड़ी:कफोलस्यूं पट्टी की छात्रा को जिंदा जलाने की घटना के विरोध में बुधवार को कफोलस्यूं के मुख्य बाज़ार अगरोड़ा, जखेटी एवं पीपलीपानी पूरी तरह बन्द रहे। साथ ही कफोलस्यूं पट्टी के लोगों ने डीएम कार्यालय पौड़ी में धरना प्रदर्शन भी किया और अपराधी को शीघ्र ही कठोर दण्ड देने की भी मांग की। इस धरना प्रदर्शन में पूर्व प्रधानाचार्य श्री सरोप सिंह नेगी, जिला पंचायत सदस्य लक्ष्मी बिष्ट, गौरव रावत, सामाजिक कार्यकर्ता हेमंत मोहन बिष्ट, जगदीश सिंह, जगमोहन सिंह, पुष्कर सिंह, मोहित सिंह के साथ सैकड़ों ग्रामीण शामिल थे।

समाज मे विरोध होना चाहिए ।पर सवाल यह है कि लचीला कानून का लाभ अपराधी को मिलता है।

ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए सजा के बाद अपील न करने के लिए कानून को बनाया जाना चाहिए तभी अपराध रोकेंगे।धरना प्रदर्शन से अपराध करने वालों के हौसलें बुलन्द रहते हैं कि छूटने ,सजा की अपील होजाएगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

दिल्ली में गरजेंगे संस्कृत के रक्षक इनकी योग्यता यूजीसी के मानकों के अनुसार नेटपीएचडी है

दिल्ली :संस्कृत के रक्षकों और संवाहकों का दर्द देश की राजधानी में खुलकर सामने आने वाला है। वर्षों से उपेक्षा का दंश झेल रहे राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान के सभी परिसरों के अतिथि और संविदा अध्यापक 27 दिसंबर को जंतर-मंतर और इसके बाद संस्थान मुख्यालय पर धरना-प्रदर्शन करने जा रहे हैं। […]

You May Like