महाकुम्भ में उत्तराखंड हिमाचल की देवडोलीयां देगी हमें रोजगार- जीतमणि पैन्यूली

Pahado Ki Goonj

देहरादून/लिखवार गावँ टिहरी गढ़वाल ,विदेशी लोगों ने अपने देश को पर्यटकों बुलाने के लिए व्यबस्था बनाई है।हमारे यहाँ प्रकृति ने सुंदरता दी है उसको संवारने के लिए हमें काम करने की आवश्यकता है।
देव डोलियों को हरिद्वार कुम्भ में स्नान के लिए लेजाने का बिचार श्री सेम नागराजा को अष्टादश ज्ञान यज्ञ को सुनाने के आयोजन सम्पन करने के बाद श्री विद्यादत रतूड़ी पूर्व DIOS प्रतापनगर ,प्रदेश देश में समाजिक चेतना के सूत्रधार,जनक, विश्व में बली प्रथा समाप्त करने का कार्य करने वाले महापुरुष ने 2010 के महाकुम्भ में कराया। कारण बलि प्रथा रोकने का संकल्प था ।18 महापुराण करना ।18 पुराण सम्पन्न होने पर उनके द्वारा भगवान श्री कृष्ण ने बुलवाया कि देव भूमि उत्तराखंड में महा कुम्भ में सभी लोग आते हैं। तो यहां के देवी देवताओं को भी हमे लेजाना चाहिए। जहां उनकी शक्ति को कुंभ के पुण्य से भगति बढ़ेगी। वहीं हमारे साधरण स्वर्ग उत्तराखंड है।उनकी देव डोलियों की पहचान देश विदेश में होगी

।आपसी भाई चारा बढ़ेगा ।इसके साथ साथ हमारी संस्कृति की जानकारी विश्व स्तर पर होगी।इससे हमको जो फायदे दिखाई देने लगे हैं ।वह कि हर गाँव मे देव डोलियों के माध्यम से संस्कृति को बढ़ाने में हमें नई पहचान मिली हैं। अब मीडिया से जुड़े लोगों को इसका प्रचार प्रसार विश्व स्तर पर करना चाहिए।उसके कारण हमारे यहां के गाँव खुशहाल होंगे। हमारे अहम, मोह के कारण समय लगेगा।जल्दी पद पर बैठा आदमी किसी की अच्छी राय को लेना नहीं चाहता है जबकि मनुष्य राय को ग्रहण कर काम करते हुए दिखाई देने है। हमारे प्रत्येक गाँव की वेबसाइट बने उसमें हमारे कल्चर ,फसलों खानपान ,सामजिक सुरक्षा की जानकारी देनी चाहिए।इसके माध्यम से उत्तराखंड में गाँव गाँव में बाहर से आने वाले पर्यटकों तीर्थ यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं के आवागमन से रोजगार मिलेगा। आज अपनी प्रतिभा को दिखवा का जमाना है दिखेगा तो प्रचार होगा। प्रचार से रोजगार मिलेगा। दुनिया भर के ph.d करने वाले विद्यार्थियों को अपनी थिसेश लिखने के लिए स्वतंत्र स्वच्छ बातावरण उत्तराखंड के अलावा कहीं नहीं मिल सकता है। उत्तराखंड में प्रतापनगर के लिए सदबुद्धि, सदभावना पाने के लिए बहुत सुंदर प्रयोगशाला यह महा कुम्भ है। बस आपको गुस्सा त्याग कर सयम से रहना चाहिए। अब विद्यादत रतूड़ी जी के मार्गदर्शन में सर्व श्री पूर्व कैबनेट मंत्री डॉ मोहन सिंह रावत गाँव वासी जी,उपमहानिरीक्षक शिव प्रसाद चमोली, अधीक्षन अभियन्ता हर्षमणि व्यास,BSAधीरज मणि कुड़ियाल, वंशीधर पोखरियाल,प्रधाना चार्य,भगवान सिंह रांगड़, विशाल मणि पैन्यूली, आशा राम व्यास, ठेकेदार

कंडियाल , द्वारिका प्रसाद भट्ट, तेज राम सेमवाल,आचार्य रमेश पैन्यूली स्वामी नागेंद्र महाराज के नेतृत्व

में आगे बढ़ने जारहा है ।यह वटवृक्ष उत्तराखंड की नई पहचान बनाने जारहा है। यह बिडम्बना ही है कि उत्तराखंड में प्रत्येक गावँ में देवताओं के मंदिर है परन्तु उनके आंकड़े सरकार के पास नहीं है उनका डोकोमेटेशन होना चाहिए। ऋग्वेद में वर्णन आता है कि बनस्पतियों देवताओं का वास होता है। उन्हीं के सदगुणों से हम यहां निवास करते रहे हैं।उनकी कृतियों का प्रचार प्रसार कुम्भ में सरकार को करना चाहिए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के नेतृत्व में सरकार ओर आकर्षित ढ़ंग से उत्तराखंड के विकास के लिए सभी प्रकार के पहलुओं पर विचार कर रही है पर्यटन एवं तीर्थाटन के प्रति उनका साफ दृष्टि कोण है कि इनको अलग अलग तरीके से बढ़वा दिया जासकता है सांसद के रूप में 16 फरबरी को पहाडोंकीगूँज के लिये दिएगए साक्षात्कार में उन्होंने कहा

प्रतापनगर के लिए जो करना चाहते हैं तो कर सकते हैं।

ऋषिकेश। कुंभ महापर्व 2021 में देवडोली शोभायात्रा की व्यवस्था के लिए मोहन सिंह रावत गांववासी के नेतृत्व में श्री देवभूमि लोक संस्कृति विरासतिय शोभायात्रा समिति का एक प्रतिनिधिमंडल ने संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज से मुलाकात की।

आगे देखें

24×7 देखें ukpkg.com न्यूज पोर्टल वेव चैनल
सम्पादक जीतमणि पैन्यूली

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

ट्रेंचिंग ग्राउंड में आग लगाते पकड़ा गया युवक

ऋषिकेश। शहर के नगर निगम डंपिंग ग्राउंड में लगातार आग लगने का मामला सामने आता रहता है। वहीं अब इस मामले में चैंकाने वाला खुलासा हुआ है। जिसमें यह पता चला है कि डंपिग ग्राउंड में लगने वाली आग खुद नहीं बल्कि असामाजिक तत्वों द्वारा लगाई जाती है। नगर निगम […]

You May Like