उत्तराखंड में विकास कार्यों की प्रगति को खुद जांचेंगे पीएम मोदी

Pahado Ki Goonj

देहरादून : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राज्य में चल रहे ड्रीम प्रोजेक्ट और केंद्र सरकार की केंद्रपोषित योजनाओं की प्रगति की समीक्षा खुद प्रधानमंत्री करेंगे। 28 फरवरी को प्रस्तावित इस कार्यक्रम ‘प्रगति’ की तैयारियों के संबंध में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने सभी संबंधित महकमों से केंद्रपोषित योजनाओं में हुए कार्यों का 15 फरवरी तक अपडेट डेटा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

केंद्र सरकार की ओर से शुरू की गईं योजनाओं के साथ ही अन्य महत्वाकांक्षी योजनाओं में ऑल वेदर रोड, ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेललाइन, नई केदारपुरी निर्माण की प्रगति के बारे में प्रधानमंत्री पूछताछ कर सकते हैं। लिहाजा राज्य सरकार इसके मद्देनजर भी तैयारी कर रही है। प्रधानमंत्री की उक्त समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी शिरकत करेंगे।

इन योजनाओं का प्रगति का लेंगे जायजा

-प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लाभार्थियों की संख्या

-डिजिटल लेन-देन के तहत भीम व यूपीआइ एप्स में प्रगति

-मृदा स्वास्थ्य योजना के तहत लाभार्थियों की संख्या

-ई-मंडी में पंजीकृत लाभार्थी

-प्रधानमंत्री सिंचाई योजना

-प्रधानमंत्री आवास योजना

-एलईडी बल्ब वितरण की प्रगति

-ईज ऑफ डूइंग बिजनेस

-नए भारत निर्माण पर किए गए कार्य

-एक भारत-श्रेष्ठ भारत पर प्रगति विवरण

-आयुष्मान योजना

एलईडी बल्ब-ट्यूबलाइट वितरण पर झोंकी ताकत

प्रधानमंत्री की हर घर को किफायती बिजली मुहैया कराने के लिए एलईडी बल्ब वितरण योजना को राज्य में तेजी से अंजाम दिया जा रहा है। ऊर्जा सचिव राधिका झा ने इस संबंध में शुक्रवार को सचिवालय स्थित अपने कक्ष में उक्त कार्यक्रम की समीक्षा की।

उन्होंने बताया कि प्रदेशभर में सस्ती दरों पर एलईडी बल्बों, ट्यूबलाइट व पंखों का वितरण किया जा रहा है। राज्य के 67 डाकघरों और उरेडा के 13 जिला परियोजना कार्यालयों में एलईडी बल्ब के साथ पांच स्टार रेटेड पंखे भी उपलब्ध कराए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

उत्तराखंड से नेपाल के लिए सीधी बस सेवा होगी संचालित

देहरादून: ‘भारत-नेपाल मैत्री बस सेवा’ के तहत उत्तराखंड परिवहन निगम नेपाल के लिए बस सेवा संचालित कर सकेगा। काठमांडू में हुई परिवहन करार बैठक में भारत-नेपाल बस संचालन को स्वीकृति मिल गई। उत्तराखंड को तीन मार्गों पर बस संचालन की मंजूरी मिली है। इनमें नेपाल महेंद्रनगर से वाया बनबसा (उत्तराखंड) […]

You May Like