विधि-विधान के साथ ज्योतिरीश्वर महादेव का पट-ब्रह्मचारी मुकुन्दानन्द बन्द हुआ

Pahado Ki Goonj

सम्पादक जीतमणि पैन्यूली से न्यूज प्रकाशित करने के लिए 7983825336 पर सम्पर्क करें।

ज्योतिर्मठ, चमोली
पौष शुक्ल द्वादशी तदनुसार दिनांक 14 जनवरी 2022

आज से लगभग 2500वर्ष पूर्व सुदूर केरल के कालडी ग्राम से ज्योतिर्मठ पधारे बालक शंकर ने ज्योतिर्मठ की इस पावन धरा पर स्थित कल्पवृक्ष की छांव में आत्मज्योति का दर्शन किया था और प्रस्थानत्रयी पर भाष्य की रचना की थी । और उसी स्थान पर भगवान भोलेनाथ की स्थापना की थी आज जिन्हें ‘ज्योतिरीश्वर महादेव’ के रूप में क्षेत्रवासी सहित पूरे भारत के लोग उनकी पूजा करते हैं ।

संक्रान्ति से मास परिवर्तन के नियम को मानने के अनुसार आज जब माघ मास की संक्रान्ति पर्व आया तो परम्परागत नियम के अनुसार भगवान ज्योतिरीश्वर महादेव की प्रातः सविधि पूजा सम्पन्न करके – हरियाली श्रृंगार और घृत लेपन करके माघ मास पर्यन्त के लिए मन्दिर परिसर के कपाट को बन्द कर दिया गया पुनः फाल्गुन की संक्रान्ति तिथि मे मन्दिर खोला जाएगा ।
लौकिक मान्यता के अनुसार आज माता पार्वती अपने पिता के घर चली जाती हैं और भोलेनाथ पाताललोक में जाकर महाराज बलि को अमर कथा सुनाते हैं । लोक प्रचलन में आज उत्तराखंड की सभी माताएं अपने-अपने पिता के घर चली जाती हैं संक्रान्ति के उत्सव को मनाने के लिए अस्तु ।

परम्परागत रूप से मन्दिर की पूजा कर रहे उनियाल परिवार के पुरोहितों ने सभी विधि सम्पन्न किए ।

इस पुनीत अवसर पर उपस्थित रहे ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगद्गुरु शङ्कराचार्य स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती जी महाराज और उनके प्रतिनिधि स्वामिश्रीः अविमुक्तेश्वरानंदः सरस्वती जी महाराज की ओर से
ब्रह्मचारी मुकुन्दानन्द ने भगवान ज्योतिरीश्वर महादेव का अभिषेक, पुष्प समर्पण और स्तुति की ।

आज के इस पुनीत अवसर पर उपस्थित रहे  शिवानन्द उनियाल जी, गोविन्द प्रसाद उनियाल, रामेश्वर प्रसाद उनियाल,  गणेश उनियाल जी, संजय उनियाल जी, विजय उनियाल जी, श्रीमति सरिता उनियाल, मनोज गौतम जी,  विद्यासागरन् अण्णा जी, अमित तिवारी जी, टिंकू घनखड जी आदि भक्तजन उपस्थित रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

विधानसभा चुनाव को लेकर चुनाव के लिए जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन ने कसी कमर

टिहरी गढवाल जिलाधिकारी ईवा आशीष ईमेल:pahadonkigoonj@gmail.com टिहरी : विधान सभा सामान्य निर्वाचन 2022 को जनपद में निष्पक्ष, स्वतंत्र, सुव्यवस्थित रूप से सम्पादित कराए जाने हेतु जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन ने संयुक्त रुप से कमर कस ली है। जिला निर्वाचन अधिकारी टिहरी गढ़वाल इवा आशीष श्रीवास्तव की अगुवाई में सभी व्यवस्थाओं […]

You May Like