रांची के बिरसा मुंडा स्टेडियम में जय घोष पेंशन महा सम्मेलन का सफल आयोजन हुआ सम्पन्न

Pahado Ki Goonj

प्रदेश के मुख्यमंत्री  हेमंत सोरेन, लोकसभा सांसद श्रीमती महोबा मांझी, विधायक सुश्री अंबा प्रसाद आदि को उत्तराखंड के प्रदेश अध्यक्ष जीतमणी पैन्यूली द्वारा उत्तराखंड की पहाड़ी टोपी स्मृति चिन्ह के रूप में भेंट की गई।

मुख्यमंत्री सोरेन, श्रीमती महोबा मांझी, सुश्री अंबा प्रसाद आदि द्वारा उत्तराखंड के स्मृति चिन्ह की प्रशंसा की गई !  सोरेन के द्वारा उत्तराखंड के प्रतिनिधि मंडल को पगड़ी पहना कर स्वागत किया गया

मुख्यमंत्री  हेमंत सोरेन द्वारा सार्वजनिक मंच से घोषणा कि गयी कि इस वर्ष 15 अगस्त तक शासनादेश जारी करके वह झारखंड में पुरानी पेंशन बहाल करेंगे।

रांची, देहरादून, ukpkg.com झारखंड कि राजधानी बिरसा मुंडा कि धरती रांची के बिरसा मुंडा स्टेडियम में जय घोष पेंशन महा सम्मेलन का आयोजन किया गया था जिसमें पुरानी पेंशन बहाली राष्ट्रीय आंदोलन उत्तराखंड (NMOPS Uttrakhand) की प्रांतीय कार्यकारिणी के प्रदेश अध्यक्ष  जीतमणी पैन्यूली के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल झारखंड की राजधानी रांची में आयोजित जय घोष पेंशन महासम्मेलन में सम्मिलित हुआ रांची झारखंड से लौटने के बाद  पैन्यूली ने बताया कि इस महासम्मेलन में पुरानी पेंशन बहाली राष्ट्रीय आंदोलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष  विजय कुमार बंधु राष्ट्रीय महासचिव स्थित प्रज्ञा एवं झारखंड के  मुख्यमंत्री  हेमंत सोरेन ,लोकसभा सांसद श्रीमती महोबा मांझी विधायक सुश्री अंबा प्रसाद आदि अनेक गणमान्य लोग सम्मिलित हुए झारखंड के मुख्यमंत्री  हेमंत सोरेन, लोकसभा सांसद श्रीमती महोबा मांझी, विधायक सुश्री अंबा प्रसाद आदि को उत्तराखंड के प्रदेश अध्यक्ष जीतमणी पैन्यूली द्वारा उत्तराखंड की पहाड़ी टोपी स्मृति चिन्ह के रूप में भेंट की गई ।

मुख्यमंत्री सोरेन, श्रीमती महोबा मांझी, सुश्री अंबा प्रसाद आदि द्वारा उत्तराखंड के स्मृति चिन्ह की प्रशंसा की गई !  सोरेन के द्वारा उत्तराखंड के प्रतिनिधि मंडल को पगड़ी पहना कर स्वागत किया गया। राँची के बिरसा मुंडा स्टेडियम में लगभग 40 से 45 हजार अधिकारी कर्मचारियों से खचाखच भरे इस सम्मेलन में  मुख्यमंत्री  हेमंत सोरेन द्वारा सार्वजनिक मंच से घोषणा कि गयी कि इस वर्ष 15 अगस्त तक शासनादेश जारी करके वह झारखंड में पुरानी पेंशन बहाल करेंगे! लोकसभा सांसद श्रीमती महोबा मांझी के द्वारा भी आश्वश्त किया गया कि कर्मचारियों कि पुरानी पेंशन कि मांग को ससंद में उठाया जाएगा। पुरानी पेंशन बहाली राष्ट्रीय आंदोलन NMOPS के नेतृत्व में राजस्थान एवं छत्तीसगढ़ में पूर्व में ही पुरानी पेंशन बहाल हो चुकी है अब आने वाले दिनों में तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, बिहार एवं पंजाब में पुरानी पेंशन बहाल होने की संभावना है इसके लिए लगातार संबंधित प्रदेश की कार्यकारिणी राष्ट्रीय कार्यकारिणी से मिलकर वहां पर लगातार अपना दबाव बना रही है उन्होंने कहा कि NMOPS का उद्देश्य कर्मचारियों को संगठित कर 2024 से पूर्व पूरे भारतवर्ष में पुरानी पेंशन बहाल करवाना है इसके लिए सभी कर्मचारियों को एकजुट होना होगा आगामी दिनों में 9 सितंबर 2022 को पंडित गोविंद बल्लभ पंत की जयंती पर देहरादून में एक चिंतन शिविर बैठक का आयोजन किया जाएगा ,जिसमें उत्तराखंड के समस्त जनपद कार्यकारिणी प्रांतीय कार्यकारिणी एवं NMOPS Uttarakhand को अपना समर्थन देने वाले सभी 10 महा संघों एवं मान्यता प्राप्त 50 से अधिक कर्मचारी संगठनों के प्रतिनिधि प्रतिभाग करेंगे, इस अवसर पर NMOPS कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी भी उपस्थित रहेगी झारखंड की राजधानी रांची में प्रदेश अध्यक्ष के साथ प्रदेश महामंत्री इं. मुकेश रतूड़ी, प्रदेश कोषाध्यक्ष इं. शांतनु शर्मा, चेयरमैन संघर्ष समिति इं. जगमोहन सिंह रावत  ने भी प्रतिभाग किया।

प्रांतीय कोषाध्यक्ष इं. शांतनु शर्मा ने कहा कि जुलाई और अगस्त माह में सभी जनपदों एवं विकास खंडों में सदस्य अभियान तेज किया जाएगा चेयरमैन संघर्ष समिति इं. जगमोहन सिंह रावत ने कहा कि NMOPS Uttrakhand के साथ लगातार कर्मचारी, अधिकारी एवं शिक्षक जुड़ रहे हैं और इस आंदोलन को गति प्रदान कर रहे हैं।

प्रदेश महामंत्री इं. मुकेश रतूड़ी ने कहा उत्तराखंड में पुरानी पेंशन बहाली के जाने के लिए हर स्तर पर उत्तराखंड प्रांतीय कार्यकारिणी लगातार प्रयास कर रही है और इसके लिए समय-समय पर विभिन्न कर्मचारी संगठनों के साथ समाज के बुद्धिजीवी वर्ग के लोगों के साथ रणनीति बना रही है और उम्मीद है कि कर्मचारियों की एकजुटता के फल स्वरुप NMOPS उत्तराखंड के बैनर तले लोकसभा चुनाव 2024 से पहले उत्तराखंड में पुरानी पेंशन बहाल होगी ।उत्तराखंड का 80000 कर्मचारी, अधिकारी एवं शिक्षक इस समय एनएमओपीएस की तरफ उम्मीद भरी निगाहों से देख रहा है ।रांची से उत्तराखंड पहुंचने पर उत्तराखंड की क्रांतिकारी प्रांतीय कार्यकारिणी द्वारा प्रतिभाग करने वाले सभी सदस्यों का स्वागत किया गया इस अवसर पर प्रदेश प्रचार प्रसार सचिव हर्षवर्धन जमलोकी, प्रदेश मीडिया प्रभारी  मनोज अवस्थी, प्रदेश प्रवक्ता सूर्य सिंह पंवार, प्रांतीय सलाहकार इं. दिनेश सिंधवाल, इं. राजेंद्र सिंह चौहान, देहरादून जनपद अध्यक्ष सुनील गुसाईं, देहरादून की जनपद सचिव हेमलता कजालिया, उत्तराखंड डिप्लोमा इंजीनियर महासंघ के प्रांतीय अध्यक्ष इं. एस. एस. चौहान, उत्तराखंड डिप्लोमा इंजीनियर संघ लोक निर्माण विभाग के प्रांतीय अध्यक्ष इं. आर. सी. शर्मा, महामंत्री इं. छब्बील दास सैनी, उत्तराखंड मिनिट्रीशियल फेडरेशन के प्रांतीय अध्यक्ष पूर्णा नन्द नौटियाल, महामंत्री मुकेश बहुगुणा, उत्तराखंड डिप्लोमा इंजीनियर संघ सिंचाई विभाग के प्रांतीय महासचिव इं. अनिल पंवार, प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह रावत, प्रमोद कैंतुरा, प्रताप सिंह पंवार, अमित शेखर नेगी, चेतन कोठारी, आशा कांडपाल, प्रेमलता गुसाईं, मयंक बिष्ट, दिशांत सिंह, मगन सिंह राणा, प्रवेश उनियाल, प्रवेश सेमवाल, रणजीत सिंह, रंजना, राखी रौथान, शशिकांत, देवेंद्र कुमार, पुष्पेंद्र पवार, चंद्रमोहन डोभाल,ममता आर्य, अनीता शर्मा, प्रमोद कुमार, राजेंद्र रतूड़ी, सचिवालय संघ के उपाध्यक्ष श्री सुनील लखेडा, राकेश जोशी, प्रदीप पपनै, धर्मेन्द्र द्विवेदी बृजेश सिंह अरूण सिंह सुशील सिंह राजेंद्र तिवारी राजीव नयन पाण्डेय कपिल कुमार चौहान, कीर्ति भट्ट, इं.नीरज नौटियाल, इं. समीक्षा शर्मा डोभाल, इं. प्रदीप उनियाल आदि उपस्थित थे

Next Post

कॉन्स्टेबल की मौत के मामले में वीडियो बनाने वाला पुलिसकर्मी निलंबित

देहरादून। हर्रावाला में बीते रविवार को सड़क हादसे में हुई हेड कॉस्टेबल राकेश राठौर की मौत के मामले में देहरादून एसएसपी जन्मेजय खंडूड़ी ने चीता पुलिसकर्मी को निलंबित कर दिया है। वहीं सीओ डोईवाला को पूरे मामले की जांच का आदेश दिए हैं। बीते रविवार देर रात को देहरादून पुलिस […]