राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य नेकोविड-19 के उपचार हेतु सैन्य अस्पतालों की तैयारियों के बारे में अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की

Pahado Ki Goonj
देहरादून,राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य ने गुरुवार को कोविड-19 के उपचार हेतु राज्य में सैन्य अस्पतालों की तैयारियों के बारे में सैन्य अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जानकारी प्राप्त की।
राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने कहा कि कोविड-19 से रोकथाम तथा जागरूकता अभियान में भूतपूर्व सैन्य चिकित्सकों तथा सैन्य कर्मियों की मदद ली जाए। कोविड-19 से बचाव तथा रोकथाम में सभी को मिलजुल कर कार्य करना है। इसके लिए एक प्रभावी कार्य योजना शीघ्र बननी चाहिए।
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान जीओसी सब एरिया ने जानकारी दी कि उत्तराखंड के पांचों सैन्य अस्पताल देहरादून, रुड़की, रानीखेत, पिथौरागढ़ तथा लैंसडाउन कोविड-19 के उपचार हेतु उपलब्ध है। सैन्य अस्पताल देहरादून में 246 कोविड बेड जिनमें 50 ऑक्सीजन बेड है तथा सैन्य अस्पताल रुड़की में 126 कोविड बेड जिनमें 50 ऑक्सीजन बेड हैं। सैन्य अस्पताल देहरादून में ऑक्सीजन बेड बढ़ाने की कार्यवाही गतिमान है। सैन्य अस्पताल देहरादून एवं रुड़की में प्रत्येक दिन आरटीपीसीआर टेस्ट तथा रैपिड टेस्ट कराए जा रहे हैं।

निदेशक, सैनिक कल्याण ने बताया कि लगभग 300 भूतपूर्व सैनिक कोविड-19 के संकटकाल में अपनी सेवाएं देने के इच्छुक हैं। आवश्यकतानुसार पुलिस की सहायता तथा अस्पतालों में सुरक्षा एवं भीड़ नियंत्रण में इनकी सेवाएं ली जा सकती हैं।https://youtu.be/pMWbO-_OnkA

Ukpkg.comन्यूजपोर्टल वेव चैनल देखें एंव शेयर किजयेगा

प्रबंध निदेशक, उपनल ने जानकारी दी कि राज्य के दोनों मंडलों से लगभग 298 लोगों की वैकेंसी प्राप्त हुई है। जिनमें 105 स्टाफ नर्स तथा 40 वार्ड बॉय की सेवाओं की आवश्यकता बताई गई है। उपनल द्वारा करोना काल में अभी तक 270 लोग सेवायोजित किए जा चुके हैं।
कमांडेंट,सैन्य अस्पताल देहरादून ने जानकारी दी कि अस्पताल द्वारा टेलीफोन पर भी चिकित्सकीय सलाह उपलब्ध कराई जा रही है।
आगेपढें

युवक ने फांसी लगाकर दी जान
देहरादून। थाना पटेल नगर क्षेत्र के अंतर्गत पूजा बिहार सेवला कला शिमला बाईपास रोड पर एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जिसकी सूचना पुलिस को मकान मालिक ने दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने पड़ताल की, लेकिन उन्हें कोई सुसाइड नोट नही मिला। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
मिली जानकारी के अनुसार पौड़ी गढ़वाल निवासी 25 वर्षीय देवदत्त देवरानी देहरादून में दून बिजनेस पार्क में नौकरी करता था। वर्तमान समय में पूजा विहार सेवला कला शिमला बायपास रोड पर किराए पर रह रहा था। बीते शाम देवदत्त अपने कमरे से नहीं निकला तो मकान मालिक द्वारा कमरे की खिड़की से देखा तो वह पंखे से लटका मिला। मकान मालिक द्वारा आनन-फानन में पुलिस को सूचना दी गई, सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके पर पड़ताल की लेकिन उन्हें कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। .थाना पटेलनगर प्रभारी प्रदीप राणा ने बताया कि फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

 

कोविड केयर सेंटर के निर्माण कार्यों का किया निरीक्षण


देहरादून। प्रदेश में कोरोना का कहर को देखते हुए सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी स्वास्थ्य सुविधाओं को जल्द से जल्द विकसित करवाने के लिए कार्य कर रहे हैं। गणेश जोशी गढ़ी कैंट के पास बने अस्पताल पहुंचे। उन्होंने 150 बेड के डेडिकेटेड कोविड चिकित्सा अस्पताल के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि यह संकट का समय है. इसलिए इस समय का एक-एक पल बेहद कीमती है। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि राज्य की जनता के अमूल्य जीवन को बचाने के लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे। अभी तीन दिन पहले वह स्वयं इस स्थान का निरीक्षण करने आए थे। उन्होंने सीएम को जल्द छावनी अस्पताल को 150 बेड के कोविड अस्पताल में अपग्रेड कर देने का भरोसा दिलाया था। उन्होंने सीईओ को कहा था कि दिन-रात लगातार काम कर जल्द से जल्द इस अस्पताल में कोविड चिकित्सा प्रारंभ की जानी है। उन्होंने कहा कि मजदूर भाइयों को भी इस काम के महत्व का आभास है और वह अपनी पूरी क्षमता से काम कर रहे हैं।


कोरोना कर्फ्यू का पालन कराने के लिए पुलिस कर रही सख्ती
खटीमा। बढ़ते कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर पर अंकुश लगाने के लिए राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में कोविड कर्फ्यू लगाया गया है। कोरोना कर्फ्यू का पालन कराने के लिए पुलिस द्वारा जगह-जगह चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान पुलिस द्वारा लोगों को अनावश्यक घरों से बाहर घूमने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ना करने व मास्क ना पहनने पर आवश्यक कार्रवाई की गयी।
बता दें कि उधम सिंह नगर जनपद के सीमांत क्षेत्र खटीमा में भी पुलिस प्रशासन को आम जनता से कोरोना कर्फ्यू का पालन कराने में काफी मेहनत करनी पड़ रही है। आम जनता शाम को भी सड़कों पर गाड़ियों से घूम रही है। जिन्हें रोक कर पुलिस द्वारा उनसे कारण पूछा जा रहा है। जो लोग दवाई या अन्य आवश्यक कार्यों से जा रहे हैं, उन्हें पुलिस द्वारा जाने दिया जा रहा है। वहीं जो लोग अनावश्यक रूप से घूम रहे हैं। उनके खिलाफ पुलिस द्वारा नकद चालान काटा जा रहा है। वहीं पुलिस अधिकारी ललित मोहन रावल का कहना है कि लोगों को कर्फ्यू का पालन कराने के लिए पुलिस द्वारा चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। खटीमा क्षेत्र में हर चैराहे पर पुलिस तैनात है। अनावश्यक रूप से गाड़ियों से घूमने वाले लोगों का नकद चालान काटा जाएगा।

कोरोना इफैक्टः चारधाम यात्रा स्थगित
देहरादून। बढ़ते कोविड के मामले को देखते हुए चारधाम यात्रा को स्थगित कर दिया गया है।उत्तराखंड में चारधाम यात्रा को स्थगित कर दिया गया। बढ़ते कोविड के मामले को देखते हुए राज्य सरकार ने यह बड़ा फैसला लिया है। सिर्फ मंदिर में पुजारी कपाट खुलने समय पूजा करेंगे। इस बात की जानकारी खुद सीएम तीरथ सिंह रावत ने दी। बता दें कि गुरुवार को इस संबंध में एक बैठक आयोजित की गई थी।
देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डॉ.हरीश गौड़ ने बताया कि मई में शुरू होने वाली चारधाम यात्रा को लेकर सरकार की फैसला लिया गया है। आज गुरुवार को उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद के सभागार में पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज की अध्यक्षता में बैठक की गई। इसमें देवस्थानम बोर्ड के सीईओ रविनाथ रमन, अपर सचिव पर्यटन जुगल किशोर पंत, बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बीडी सिंह, अपर निदेेशक विवेक चैहान के अलावा चमोली, रुद्रप्रयाग और उत्तरकाशी जिलों के डीएम व एसपी भी मौजूद रहे।

देर रात तीन बसों में लगी आग,संदिग्ध पकड़ा

रामनगर। रोडवेज बस डिपो में खड़ी तीन बसों में बु्धवार रात 2 बजे जबरदस्त आग लग गई। फायर ब्रिगेड ने मौके पर पहुंचकर आग को बुझाया। फायर ब्रिगेड़ ने समय रहते आग पर काबू किया।
स्टेशन इंचार्ज नवीन आर्य ने बताया कि आग लगने के कारणों की जांच की जा रही है। पुलिस ने एक संदिग्ध को पकड़ा है, जिस पर आग लगाने शक है। उससे पूछताछ की जा रही है।
रामनगर रोडवेज बस अड्डे में इन दिनों निर्माण कार्य चल रहा है। जिसके चलते पुरानी बसों को एक साइड पर खड़ा किया गया था। आग पुरानी बसों में लगी है। बताया जा रहा है कि इन बसों में बैठकर आसपास के असामाजिक तत्व शराब पीते हैं।
स्टेशन इंचार्ज ने बताया कि कई बार पुलिस को सूचना दी गई थी कि शाम के समय गश्त बढ़ाई जाए, ताकि असामाजिक तत्वों को हटाया जाए। कोतवाल अबुल कलाम ने बताया कि एक आरोपी को शक के आधार पर पकड़ा है। जिससे पूछताछ की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

उल्टी यात्रा बुढ़ापे से बचपन की तरफ़

उल्टी यात्रा बुढ़ापे से बचपन की तरफ़ https://www.facebook.com/watch/?v=483008142891956 बचपन में शिखाएं जो 50 को पार कर गये हैं या करीब हैं उनके लिए यह खास है। लखनऊ,मेरा मानना है कि दुनिया में ‌जितना बदलाव हमारी पीढ़ी ने देखा है हमारे बाद की किसी पीढ़ी को “शायद ही ” इतने बदलाव […]

You May Like