चारधाम के डिजीटल दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु-  त्रिवेन्द्र सिंह रावत

Pahado Ki Goonj
  • चारधाम के डिजीटल दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु
  • उत्तराखण्ड के प्रमुख धार्मिक स्थलों से आरती का होगा लाईव प्रसारण
  • जिओ उपलब्ध करवाएगा डिजीटल प्लेटफार्म

पहाड़ों की गूंज राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक  समाचार पत्र 10 वें वर्ष में प्रवेश करने जारहा है ।पत्र की खबरों का संज्ञान देश, प्रदेश की सरकारों ने लेकर जन हित के कई काम  किये। कार्य करने के फल स्वरूप पत्र की लोकप्रियता देश में बढ़ी है।इस अबसर पर  पहाड़ों की गूंज प्रकाशन समुह उत्तराखंड में रोजगार को बढ़ावा देने ,पलायन को रोकने के लिए ठोस अल्प प्रयास विशेषांक के रूप में 7मार्च 2020 को  प्रकाशित करने जारहा है। उत्तराखंड के पर्यटन , तीर्थ ,एवं अन्य रमणीय स्थानों की रुचिकर जानकारी   से सुधी पाठकों में  उत्तराखंड आने के लिए  जिज्ञासा को बढ़ावा देने के लिए  ।देश में विदेशी , कारपोरेट कार्यलयों, प्रत्येक जिला पंचायत, विकास खण्ड, नगर पालिका परिषद , सांसद ,विधायक महान भाव  तक पहुचाने का प्रयास है । तीर्थ स्थल पर्यटक स्थल ,सहासिक खेल हमारे प्रदेश के लिए रोजगार के अबसर देते हैं।इस वर्ष 30 अप्रैल से प्रारंभ होने वाली चारधाम यात्रा व आगामी वर्ष 2021 में होने वाले कुम्भ में आने के लिए पत्रिका की पठनीय सामग्री जिज्ञासा बढ़ाने me hotal restorent, dharmsalaon, अस्पताल, ट्रैवल एजेंसी, moter कंपनी, ग्राम प्रधान, zile ke adhikriyon ke फ़ोन नंबर

आपके सहयोग  से ही सम्भव होगा। अपनी ओर से शुभकामना ,संस्थान  प्रगति आख्या विज्ञापन  प्रकाशन के लिए ________________________________

श्याम श्वेत  ₹ 15000 पूर्ण पृष्ठ ,₹7500 आधा पृष्ठ, ₹ 3750  1/4 पेज

1सेमि की पट्टी ₹ 1200

रंगीन के लिए 50%बढ़ोतरी के साथ अग्रिम भेजने की कृपा करें। या पत्र भेजडीजयेगा।

आप अपनी प्रति बुक कराने के लिए सहयोग राशि 25 रुपये   pahadon ki goonj के खाते में भेजने की कृपा करें।

Bank of india

Pahadon ki goonj a/c -705330110000013,

Ifsc – BKID0007053,   branch -code7053,  micr code -248013004,  pan -BLVPM3454K

11/10 Rajpur road dehradun 248001 वाटस 7983825336,  मेल id pahadonkigoonj@gmail.com

जल्द ही दुनियाभर के श्रद्धालु जो कि किन्हीं कारणों से देवभूमि नहीं आ पाते हैं, यहां के चार धाम सहित अन्य प्रमुख मंदिरों और धार्मिक स्थलों के ऑनलाईन दर्शन कर सकेंगे। इसके लिए जिओ, एक डिजीटल प्लेटफार्म तैयार करेगा। श्री यमुनोत्री,गंगोत्री केदारनाथ,और बदरीनाथ, सहित अन्य धार्मिक स्थलों का दर्शन किया जा सकेगा। उत्तराखण्ड में हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं। इनके अलावा लाखों लोग ऐसे भी हैं जो कि पूरी श्रद्धा होने पर भी किन्हीं कारणों से नही आ पाते हैं। ऐसे लोग भी चारधाम सहित देवभूमि उत्तराखण्ड में स्थित अन्य मंदिरों के दर्शन लाभ कर सकें, इसके लिए उत्तराखण्ड सरकार, जिओ के सहयोग से ऑनलाईन व्यवस्था करने जा रही है। जिओ, डिजीटल प्लेटफार्म तैयार कर उत्तराखण्ड सरकार को उपलब्ध करवाएगा।
गौरतलब है कि इन्वेस्टर्स समिट से पहले, अगस्त 2018 में मुम्बई में आयोजित रोड़ शो के दौरान  मुकेश अम्बानी ने मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत से भेंट कर डिजीटल उत्तराखण्ड के लिए नेट कनेक्टीवीटी में सहयोग का प्रस्ताव दिया था। इसी क्रम में जिओ ने फाईबर कनेक्टीवीटी पर काम किया। लगभग 89 प्रतिशत काम किया जा चुका है।
मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि, ‘‘चार धाम और दूसरे प्रमुख मंदिरों के लाईन दर्शन से दुनिया भर के लोग उत्तराखण्ड की आध्यात्मिकता से परिचित होंगे। शारीरिक अस्वस्थता या अन्य दूसरे कारणों से आने में असमर्थ श्रद्धालु, चारधाम का दर्शन लाभ कर सकेंगे।’’  
राज्य सरकार द्वारा की गई व्यवस्थाओं के बाद, पिछले वर्ष रिकार्ड संख्या में श्रद्धालु चार धाम और हेमकुण्ड साहिब आए थे। आल वेदर रोड़ और ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाईन परियोजना बनने के बाद एक करोड़ श्रद्धालुओं के आने का अनुमान है। इतने बड़े स्तर पर व्यवस्थाएं करने के लिए चारधाम देवस्थानम बोर्ड बनाया गया है। चारधाम देवस्थानम बोर्ड के बाद, डिजीटल प्लेटफार्म पर चारधाम के दर्शनलाभ की उपलब्धता, उत्तराखंड की आध्यात्मिकता को देश विदेश के श्रद्धालुओं तक पहुंचाने में बहुत बड़ी पहल होगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

चिन्याली सौड़ :- कार दुर्घटना में एक कि मौत ।

चिन्याली सौड़ :-. (Madanpainuly)                 कार दुर्घटना में एक कि मौत । आज सुवह चार बजे नेरी गांव से उत्तरकाशी की तरफ आ रही एक स्विफ्ट कार के दुर्घटनाग्रस्त होने से उसमें सवार एक ब्यक्ति की मौत हो गई है।  प्राप्त जानकारी के अनुसार […]

You May Like