मुख्यमंत्री  धामी का जोशीमठ को ज्योतिर्मठ घोषित करने पर  किया अभिनन्दन-ब्रह्मचारी मुकुंदानन्द

Pahado Ki Goonj

मुख्यमंत्री  धामी का जोशीमठ को ज्योतिर्मठ घोषित करने पर  किया अभिनन्दन-ब्रह्मचारी मुकुंदानन्द

ज्योतिष्पीठ का प्रतिनिधिमंडल मिला मुख्यमंत्री से ।
पहाडोंकीगूँज पौष तदनुसार  देहरादून
जोशीमठ का नाम ज्योतिर्मठ रखे जाने पर ज्योतिर्मठ के प्रतिनिधिमंडल ने ब्रह्मचारी मुकुंदानन्द के नेतृत्व में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मिलकर उनका आभार व्यक्त किया ।
इस अवसर पर ज्योतिष एवं द्वारका शारदापीठ शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का धन्यवाद ज्ञापित कर उन्हें आशीर्वाद दिया ।

ज्योतिष पीठ की ओर से एक प्रतिनिधिमंडल ने आज शाम

पुष्कर सिंह धामी से उनके आवास में मिलकर उनका अभिनंदन किया । ज्योतिर्मठ की ओर से शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती के शिष्य प्रतिनिधि स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती की ओर से अभिनंदन पत्र प्रेषित किया गया । जिसमें जोशीमठ नगर का नाम पौराणिक ज्योतिर्मठ रखे जाने पर प्रसन्नता व्यक्त कर मुख्यमंत्री की दीर्घायु की मंगल कामना की गई । इस अवसर पर प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया कि जौलीग्रांट स्थित एयरपोर्ट का नाम आदि गुरु शंकराचार्य के नाम पर रखा जाना चाहिए, जिस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह केंद्र का विषय है । वे लोगों की भावना से केंद्र सरकार को अवगत कराएंगे । प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री को ज्योतिर्मठ आगमन का भी आमंत्रण दिया ।

ध्यान से सुनियेगा औऱ11 लोगों को अवश्य शेयर कीजिएगा
11 का बड़ा महत्व खुसहाली के लिए है 11 गते मंन्गशीर्ष भगवान श्रीकृष्ण के वहाँ से जनता से विदा लेकर गुप्त सेम में गुप्तवास लिया है।

प्रतिनिधिमंडल में ब्रह्मचारी मुकुंदानंद, ब्रह्मचारी श्रवणानंद,डा बृजेश सती,डॉ रमेश पांडे, बद्रीनाथ मंदिर के पूर्व धर्माधिकारी जगदंबा प्रसाद सती , भारत नौटियाल, अभिषेक बहुगुणा, प्रवीण नौटियाल, सचिन गौतम,शिवानंद उनियाल, आदिउपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

खटीमा को ऐतिहासिक सौगात देंगे सीएम धामी

देहरादून। वर्ष 2021 के जाते-जाते प्रदेश की धामी सरकार खटीमा विधानसभा क्षेत्र को एक बड़ी सौगात देने जा रही है। 29 दिसम्बर को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी खटीमा में ’सुरई ईकोटूरिज्म जोन’ और ’ककरा क्रोकोडाइल ट्रेल’ का लोकार्पण करेंगे। ’सुरई ईकोटूरिज्म जोन’ प्रदेश का पहला ऐसा ईकोटूरिज्म जोन होगा जहां […]

You May Like