uttarakhand

गुड न्यूज:सुप्रीम कोर्ट में उत्तराखंड से प्रथम जज बनने वाले जस्टिस सुधांशु धूलिया

Pahado Ki Goonj

पहाडोंक: Supreme Court Judges: सुप्रीम कोर्ट को सोमवार को 2 नए जज मिले. चीफ जस्टिस एन वी रमण ने सुबह 10 बजे दोनों नए जजों- जस्टिस सुधांशु धूलिया और जस्टिस जमशेद बरजोर पारडीवाला को पद की शपथ दिलाई. सुप्रीम कोर्ट में जजों के स्वीकृत 34 पदों में से 2 खाली थे. अब दोनों पद भर गए हैं.

 पहाडोंक: सुप्रीम कोर्ट में जज बनने वाले जस्टिस सुधांशु धूलिया,
गढ़वाल निवासी पहले न्यायविद 
जस्टिस सुधांशु धूलिया को सुप्रीम कोर्ट का न्यायाधीश नियुक्त किया गया है। 1960 में जन्में 62 वर्षीय जस्टिस धूलिया गढ़वाल के पहले निवासी हैं जो सुप्रीम कोर्ट के जज बने हैं।
जस्टिस धूलिया इससे पहले गुवाहाटी हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश और उससे भी पहले नैनीताल हाई कोर्ट के न्यायाधीश रह चुके हैं।
मूल रूप से पौड़ी गढ़वाल जिले के गांव मदनपुर पट्टी लंगूर मल्ला निवासी जस्टिस धूलिया ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में कई वर्षों तक वकालत की।
जस्टिस धूलिया के पिता और दादा प्रतिष्ठित विद्वान रहे हैं। पिता केशवचंद्र धूलिया जी इलाहाबाद हाईकोर्ट के न्यायाधीश रहे। 1985 में न्यायाधीश पद पर रहने के दौरान ही उनकी मृत्यु हुई थी। वह एक लेखक के रूप में भी जाने गए। कर्मभूमि पत्रिका में वे दिव्य चक्षु नाम से लिखा करते थे।
केशव चंद्र धूलिया जी के पिता और सुधांशु धूलिया जी के दादा भैरवदत्त धूलिया जी स्वतंत्रता सेनानी, पत्रकार और लेखक रहे। कर्मभूमि पत्रिका का उन्होंने संपादन किया। कुली बेगार और भारत छोड़ो आंदोलन में शामिल रहे और 7 वर्ष की जेल की सजा मिली। आजादी के बाद वह उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए चुने गए।
गढ़वाल क्षेत्र से उच्च न्यायालय के जज पद पर पूर्व में तीन या चार न्यायविद पहुंचे हैं। जिनमें विजय बहुगुणा जी, तारा दत्त उनियाल जी एवं जेपी सेमवाल जी भी शामिल हैं।
अब सुप्रीम कोर्ट के जज तक पहुंचने वाले सुधांशु धूलिया गढ़वाल क्षेत्र के पहले निवासी बन गए हैं। उत्तराखंड की जनता की ओर से शुभकामनाएं जस्टिस धूलिया जी को

 

Next Post

झमाझम बारिश के बाद गिरा देहरादून  में गिरा पारा

देहरादून। दोपहर बाद हुई बारिश से मौसम खुशनुमा हो गया है। मसूरी, हरिद्वार, रुड़की, ऋषिकेश, नैनीताल आदि शहरों में मंगलवार दोपहर बाद झमाझम बारिश हुई है। बारिश के बाद पारा गिरने से लोगों को तपती गर्मी से राहत मिली है। मौसम ने करवट बदली तो लोगों के चेहरे भी खिल […]

You May Like