uttarakhand

भाग -2 भगवान श्रीरामचन्द्र जी का अवतरण और श्रीनाम की महिमा का माहात्म्य में कोरोना के उपाय 

Pahado Ki Goonj

उत्तरकाशी पहाडोंकीगूँज   राम चरितमानस मुनि भावन । *बिरचेउ  संभु सुहावन  पावन ॥* *भावार्थ   *श्री रामचरितमानस मुनियों को अति पावन प्रिय है। इस सुहावने और पवित्र मानस की भगवान श्री आशुतोष काशी विश्वनाथ शिव शंकर भोलेनाथ महादेव जी ने स्वयं अपने कर कमलों से रचना की थी।* *रचि महेश निज मानस […]