श्री केदारनाथ धाम के कपाट शीतकाल हेतु 29 अक्टूबर प्रातः 8.30 बजे बंद होंगे

Pahado Ki Goonj

श्री केदारनाथ धाम के कपाट शीतकाल हेतु 29 अक्टूबर प्रातः 8.30 बजे बंद होंगे।

श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में आयोजित समारोह में हुई घोषणा
* श्री मद्महेश्वर जी के कपाट 21 नवंबर को प्रात: बंद होंगे।
* 24 नवंबर को मद्महेश्वर मेला
*श्री तुंगनाथ जी के कपाट
6 नवंबर को प्रात: 11.30 बजे बंद होंगे।

उखीमठ: पावन पर्व विजयदशमी के शुभ अबसर परश्रीबदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति केकार्याधिकारी यन पी जमलोकी ने कहा कि वर्ष ग्यारहवें ज्यौर्तिलिंग भगवान केदारनाथ जी के कपाट 29 अक्टूबर को प्रात: 8 .30 बजे भैयादूज के अवसर पर बंद होंगे। ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति द्वारा आयोजित भव्य समारोह में धर्माचार्यों की उपस्थिति में आयोजित समारोह में तिथि का ऐलान किया गया।

इसी दिन बाबा केदारनाथ जी की पंचमुखी डोली रात्रि प्रवास हेतु रामपुर पहुंचेगी। 30 अक्टूबर गुप्तकाशी तथा 31 अक्टूबर को शीतकालीन गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंचेगी।

इसी तरह द्वितीय केदार मद्महेश्वर जी के कपाट शीतकाल हेतु 21 नवंबर प्रातः बजे बंद होंगे। डोली इसी दिन प्रथम पड़ाव गौंडार पहुंचेगी ‌ 22 नवंबर को राकेश्वरी मंदिर रांसी तथा 23 नवंबर को गिरिया प्रवास 24 नवंबर शीतकाल गद्दीस्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंचेगी। 24 नवंबर को उखीमठ में भब्य मद्महेश्वर मेला आयोजित होगा।
तृतीय केदार श्री तुंगनाथ जी के कपाट शीतकाल हेतु 6 नवंबर प्रात: 11.30 बजे को बंद हो जायेंगे। इसी दिन उत्सव डोली चोपता पहुंचेगी।
7नवंबर को भनकुन प्रवास 8 नवंबर शीतकालीन गद्दीस्थल मक्कूमठ पहुंचेगी।
श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में आयोजित समारोह में श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के उपाध्यक्ष अशोक खत्री, कार्याधिकारी एन.पी.जमलोकी, मंदिर सुपरवाइजर, पुजारी शिवशंकर लिंग, अभ्युदय जमलोकी, आचार्य हर्ष जमलोकी, वेदपाठी यशोधर मैठाणी, पंचगाई प्रतिनिधि शिवानंद पंवार, पं. सत्य प्रसाद सेमवाल,वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी वचन सिंह रावत, वरिष्ठ सहायक प्रेम सिंह रावत, देवानंद गैरोला, विदेश शैव, नवीन शैव , देवी प्रसाद तिवारी, भगवती शैव,मनीष तिवारी, आदि मौजूद रहे। जबकि श्री तुंगनाथ जी के शीतकालीन गद्दीस्थल मक्कूमठ में आयोजित समारोह में मठापति रामप्रसाद मैठाणी, प्रबंधक प्रकाश पुरोहित, बलबीर नेगीआदि मौजूद रहे।
यह जानकारी मंदिर समिति के मिडिया प्रभारी ड हरिश गौड़ ने दी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

स्वास्थ्य सेवाओं की बदतर स्थिति,एनएचएम ने उत्तराखण्ड पर लगाया जुर्माना

देहरादून। उत्तराखंड में स्वास्थ्य सेवाओं पर हमेशा सवाल खड़े होते रहे हैं। लेकिन अब एनएचएम (नेशनल हेल्थ मिशन) की एक रिपोर्ट में भी इस बात का न केवल खुलासा हुआ है बल्कि उत्तराखंड जैसे पर्वतीय राज्यों को इसका खामियाजा भी भुगतना पड़ेगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि राज्यों का […]

You May Like