फेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया व्यापार मंडल ने दिया धरना

Pahado Ki Goonj

फेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया व्यापार मंडल ने दिया धरना

नई दिल्ली :फेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया व्यापार मंडल के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेश्वर पैन्यूली ने कहा कि आज जंतर मंतर, नई दिल्ली फेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया व्यापार मंडल एवं देश के 15 राज्यों से 35 प्रमुख व्यापारिक संगठन से लगभग 1000 व्यापारी नेता द्वारा एकल बिंदु “जीएसटी” के समर्थन में एवं खुदरा में विदेशी निवेश के विरोध में एक दिवसीय धरना एवं व्यापारिक सभा का आयोजन किया गया और प्रधान मंत्री को एक ज्ञापन सौपा गया ।
एकल बिंदु “जीएसटी” के प्रस्ताव को फेडरेशन द्वारा अप्रैल 2018 में प्रधान मंत्री को प्रेषित किया था और प्रधान मंत्री कार्यालय द्वारा अरुण जेटली जी की अस्वस्था के चलते, केंद्रीय वित्त सचिव हसमुख अधिया जी को एकल बिंदु “जीएसटी” हेतु अधिकृत किया ,जिस पर फेडरेशन के एक शिष्ट मंडल ने कार्यकारी अध्यक्ष जयेन्द्र तन्ना जी के नेतृत्व में अप्रैल में एक विस्तृत प्रेजेंटेशन प्रस्तुत किया । सरकार द्वारा कोई सकारात्मक पहल नहीं की गये है और व्यापारी वर्ग इस सम्बन्ध में स्वयं को उपेक्षित महसूस कर रहा है । एकल बिंदु “जीएसटी” के समर्थन में देशभर में लगातार व्यापारियों की जगह जगह पर सभाएं हो रही है और सभी व्यापारिक संगठनों ने आज सम्मिलीत रूप से आज जंतर मंतर पर संगठित हो कर सरकार के समक्ष सामूहिक रूप से एकल बिंदु “जीएसटी” के समर्थन में यह धरना एवं व्यापारिक सभा आयोजित की है । प्रधान मंत्री जी को सौपे गये ज्ञापन में व्यापारिक संगठनों द्वारा मुख्य रूप से एकल बिंदु “जीएसटी” की मांग की गयीं है । एकमत से सभी व्यापारिक नेताओ ने मांग की कि 14 माह पश्चात भी “जीएसटी” व्यापारियों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है, यधपि सरकार ने समय समय पर वाँछित सुधार भी किये और सरलीकरण हेतु भी प्रयास किये परन्तु भारत के व्यापारियों की अधिकांश महत्वपूर्ण समस्या का निदान नहीं हो पाया है । सरकार के स्तर पर भी कर का संग्रहण में गिरावट आ रही है और कर चोरी भी नहीं रुक पा रही है । जटिल कर प्रणाली होने के कारण उपभोक्ता भी भ्रमित स्थिति में है और जाने अनजाने ज्यादा मूल्य चुकाने के लिये विवश है । माननीय प्रधान मंत्री को सौपे गये ज्ञापन में वर्णित किया गया है कि इन सब समस्या का एक मात्र समाधान एकल बिंदु “जीएसटी” प्रणाली है । एकल बिंदु “जीएसटी” प्रणाली में निर्माता स्तर पर पूरा “जीएसटी” यानि कि अधिकतम

खुदरा मूल्य पर प्रचलित “जीएसटी” दर पर पूरा कर निर्माता स्तर पर वसूल कर लिया जाए और विक्रेता वर्ग को, जिसकी करदाता संख्या में लगभग 75 से 80 प्रतिशत की भागीदारी है, ”जीएसटी” के अनुपालन से मुक्त कर दिया जाए । एकल बिंदु “जीएसटी” लागु होने से व्यापारी “जीएसटी” के झंझट से मुक्ति मिल जाएगी, कर के चोरी रोकने से सरकार का राजस्व बढ़ जायेगा और अधिकतम खुदरा मूल्य उचित होने से उपभोक्ता भी राहत महसूस करेंगे ।
आज के धरने का दूसरा मुख्य मुद्दा लगभग 5 करोड़ व्यापारी एवं उन पर आश्रित लगभग 45 करोड़ जनमानस के भविष्य से सम्बंधित है । भारत सरकार द्वारा विदेशी व्यापारिओं के लिए खोले गये दरवाज़ों पर सभी उपस्थित व्यापारी नेताओ ने अपना रोष प्रकट किया और भारत सरकार की खुदरा में विदेशी निवेश की नीति और परिचालन का विरोध किया ।
इसके अतिरिक्त विदेशी कैश एंड केरी थोक व्यवसाय द्वारा भारत में वितरण और खुदरा (रिटेल) कारोबार के लिए उत्पन्न खतरे से सरकार को आगाह कराने हेतु फेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया व्यापार मंडल का एक प्रतिनिधि मंडल कार्यकारी अध्यक्ष सी अच् कृष्णा के नेतृत्व में केंद्रीय उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु से 10 जुलाई 2018 को भेट की और एक ज्ञापन सौपा । 2010 की भारत सरकार की नीतियों से भारत में स्थापित हुए विदेशी कैश एंड केरी थोक व्यवसाय, तय किये गयी नियमो का उलंघन कर भारत के खुदरा व्यापारियों के लिए एक खतरा बनते जा रहे है । इसके अतिरिक्त वह अपनी सीमाओं को लाँघ कर वितरण क्षेत्र में भी प्रवेश करने जा रहे है जिसका सीधा सीधा असर 10 लाख से 12 लाख वितरण क्षेत्र में लगे देशी व्यापारियों पर पड़ने की सम्भावना है जिससे भारत का स्वदेशी एवं परंपरागत व्यवसाय समाप्त होने के कगार पर है ।
आज के धरने में कोलकत्ता से मुख्य रूप से पधारे पूर्व संसद एवं सन्मार्ग समाचार पत्र समूह के अध्यक्ष विवेक गुप्ता जी ने अपने एकल बिंदु “जीएसटी” की मांग का समर्थन किया और बताया कि आपने संसद के कार्यकाल में उन्होंने “जीएसटी” पासबुक सिस्टम का सुझाव दिया था । फेडरेशन के कार्यकारी अध्यक्ष एवं रामा पेपर मिल के अध्यक्ष प्रमोद अग्रवाल ने एकल बिंदु “जीएसटी” को कुशल कर प्रशासन हेतु एक कारगर कदम बताया । फेडरेशन की कपडा समिति के अध्यक्ष तारा चंद कासट
ने एकल बिंदु “जीएसटी” को कपडा व्यवसाय के लिये संजीवनी बूटी के संज्ञा करार दी ।
फेडरेशन के दिल्ली प्रदेश प्रभारी राधे श्याम शर्मा ने बताया कि यदि एकल बिंदु “जीएसटी” व्यवस्था लागु होती है तो व्यापार 25% तक बढ़ जायेगा और जिससे सुस्त पड़ी अर्थव्यवस्था को गति मिलेंगी । श्री अनिल भाटिया , अध्यक्ष हरियाणा उद्योग व्यापार हित मंडल ने कहा कि एकल बिंदु “जीएसटी” में कर विवाद लगभग समाप्त हो जाएगें। राधे श्याम नारंग, प्रांतीय अध्यक्ष उत्तर प्रदेश व्यापार मंडल ने एकल बिंदु “जीएसटी” को रोजगार देने वाली सबसे बड़ी सामाजिक योजना करार दी है और कहा है कि देश के युवाओ को रोज़गार ज्यादा मिलेगा यदि व्यावसायिक गतिविधिया बढ़ जाएगी ।
धरने में प्रमुख व्यापारी नेता रामबाबू रस्तोगी राष्ट्रीय अध्यक्ष सामाजिक उद्योग व्यापार मंडल-लखनऊ, दीपक राज शर्मा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिल भारतीय संयुक्त व्यापार मंडल, विकास जैन प्रांतीय अध्यक्ष उत्तर प्रदेश युवा व्यापार मंडल, अजय त्रिपाठी मुन्ना प्रदेश अध्यक्ष उद्योग किसान व्यापार मंडल, उत्तर प्रदेश, श्री भूपेंदर सिंह सोबती अध्यक्ष आगरा मंडल व्यापार संगठन, महेंद्र कुमार जैन अध्यक्ष आगरा पुली एवं कृषि यन्त्र निर्माता एसोसिएशन, प्रदीप कुमार पिप्पल अध्यक्ष भीम युवा व्यापार मंडल, पवन मनोचा अध्यक्ष उत्तर प्रदेश व्यापारी समन्यव समिति, विशेश्वर नाथ हांडा प्रदेश महामंत्री उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंच, कुंवर उमर मोनिस राष्ट्रीय अध्यक्ष मुस्लिम व्यापार मंडल, संजय गुप्ता अध्यक्ष उद्योग व्यापार मंडल, मोदी नगर, गिरिराज न्याति अध्यक्ष राजस्थान कपडा व्यापार महासंघ, राजीव शर्मा राष्ट्रीय सलाहकार संयुक्त व्यापार मंडल, संजीव गुप्ता प्रदेश अध्यक्ष भरतपुर व्यापार महासंघ, भरतपुर, उमेश शर्मा अध्यक्ष लखनऊ सिक्योरिटी एसोसिएशन, नवीन अरोड़ा अध्यक्ष लखनऊ साइकिल एसोसिएशन, सुशील माहेश्वरी नूतन जी अध्यक्ष अवध व्यापार मंडल, बहराइच, राजेंद्र पाल सिंह सेंगर प्रदेश अध्यक्ष मध्य प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल, अनुराग मलिक प्रदेश उपाध्यक्ष / जिलाध्यक्ष (सहारनपुर) प्रतिनिधि उद्योग व्यापार मंडल, जिला सहारनपुर, संजीव जिंदल, प्रदेश मंत्री पश्चिमी उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल ,जिला मेरठ, सुनील गर्ग अध्यक्ष हापुड़ उद्योग व्यापार मंडल, अभिमन्यु गुप्ता जिला अध्यक्ष उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल, जिला बागपत, श्री नमन राठी नगर अध्यक्ष, उद्योग व्यापार मंडल, नगर
डिबाई, भानु प्रकाश शर्मा अध्यक्ष नगर व्यापार मंडल, भिवानी जिला, हरियाणा, सुधीरकांत शर्मा राष्ट्रीय संयोजक उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल, अमरचंद शर्मा जनरल सेकेटरी एसोसिएशन ऑफ़ क्लॉथ मर्चेंट, डिस्ट्रिक्ट हमीर पुर, मो. जावेद खान प्रदेश अध्यक्ष उद्योग व्यापार उत्थान व्यापार मंडल, नदीम अहमद कुरैशी, प्रदेश अध्यक्ष व्यापारी एकता व्यापार मंडल, उत्तर प्रदेश, श्री लीलाधर गर्ग,अध्यक्ष आदमपुर व्यापार मंडल, हरियाणा. ने भी एकल बिंदु “जीएसटी” के समर्थन में एवं खुदरा में विदेशी निवेश के विरोध में अपने अपने महत्त्व पूर्ण विचार रखे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

यमुनोत्री पैदल मार्ग में एक तीर्थयात्री की मौत

यमुनोत्री पैदल मार्ग में एक तीर्थयात्री की मौत बड़कोट। यमुनोत्री धाम की यात्रा पर जा रहे एक तीर्थयात्री की पैदल मार्ग में 19 कैंची पर हृदय गति रुकने से मौत हो गई। मंगलवार को 63 वर्षीय नरेंद्र सिंह बेतियाल पुत्र लोहरे राम निवासी हिंडौन कैरोली राजस्थान दिन के समय जानकीचट्टी […]

You May Like