अरुण जेटली नही रहे ,आज अंतिम संस्कार होगा

Pahado Ki Goonj

दिल्ली,देश के पूर्व वित्त मंत्री बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली जी नही रहे,24अगस्त दोपहर 12 बजकर 7 मिनट पर दिल्ली के एम्स में उन्होंने आखिरी सांस ली,जेटली जी काफी लंबे समय से अस्वस्थ थे ,9 अगस्त से वो एम्स दिल्ली में ही भर्ती थे,जेटली जी मोदी सरकारके के पहले कार्यकाल में वित्तमंत्री के अलावा रक्षा मंत्री भी रहे,अरुण जेटली बीजेपी के Aप्रमुख रणनीतिकार थे, प्रमोद महाजन की हत्या के बाद जेटली द्वारा अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यक्रम की जिम्मेदारी संभाली गई थी।बीजेपी के संकट से उभर ने के लिए जाने जाते थे

राज्यसभा में नेता विपक्ष भी रहे,डीयू के पूर्व छात्र संघ अध्य्क्ष भी रहे,कानून में डिग्री हासिल करने वाले जेटली जाने माने वकील थे,विद्वान व्यक्तित्व के धनी जेटली जी पंजाबी ब्राह्मण परिवार से ताल्लुक रखते थे,उन्होंने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता से राजनीतिक जीवन की शुरुआत की थी। उनका 1 बेटा और 1 बेटी है,जेटली जी का जन्म दिसम्बर 1952 में हुआ और आज 67 वर्ष की आयु में उनका निधन हो गया,जेटली जी का निधन बीजेपी और देश के लिए अपूर्णीय क्षति है,अरुण जेटली

नरेंद्र मोदी के विश्वत नेता थे,बीजेपी ने विगत वर्ष अटल जी को खोने के बाद,इसी अगस्त माह की 6 तारीख को पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन के बाद आज अरुण जेटली जी का निधन बीजेपी और देश की राजनीति के लिए कभी न भर सकने वाली क्षति है।कैलाश कॉलोनी स्थित आवास पर पहुंचा अरुण जेटली जी का पार्थिव शरीर, कल सुबह 10 बजे तक यहाँ दर्शन कर सकेंगे लोग,कल सुबह 11 से दोपहर 2 बजे तक बीजेपी मुख्यालय पर दर्शनों के लिए लाया जाएगा जेटली जी का पार्थिव शरीर,कल निगम बोध घाट में संस्कार होगा।उनके परिवार को इस इस दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करे,ईश्वर अरुण जेटली जी को अपने श्री चरणों मे जगह दे ।उनके लिए www.ukpkg.com परिवार संवेदना व्यक्त करते हुए भगवान उन्हें आत्मशांति शान्ति प्रदान करें।
चन्द्रशेखर पैन्यूली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

यमुना वैली टैक्सी यूनियन ने आपदा पीड़ितों के लिए दी खाद्यान्न सामग्री।

यमुना वैली टैक्सी यूनियन ने आपदा पीड़ितों के लिए दी खाद्यान्न सामग्री । बड़कोट। (मदन पैन्यूली) यमुना वैली टैक्सी मालिक वेलफेयर एसोसिएशन नौगांव एवं बड़कोट शाखा ने आराकोट क्षेत्र के आपदा […]

You May Like