यमुना बचाओ यात्रा हरिपुर, हरी घाट होते हुए गंगनानी बड़ाकोर्ट एवं यमुनोत्री तक पहुंचेगी – राजेंद्र प्रसाद सेमवाल

Pahado Ki Goonj

.(कालसी ) लोक पंचायत जौनसार-बावर एवं अनमोल ग्राम स्वराज्य संस्थान के संयुक्त तत्वाधान में यमुना बचाओ अभियान यात्रा का हरिपुर पहुंचने पर भव्य स्वागत किया गया साथ ही यमुना नदी में सफाई अभियान चला कर यमुना बचाओ अभियान का शुभारंभ भी किया गया इस अवसर पर मां यमुना की आरती भी की गईl

यमुना घाट हरिपुर पर आयोजित कार्यक्रम के अवसर पर वक्ताओं ने एक स्वर में कहा है कि यमुना नदी को नमामि गंगा के तर्ज पर नमामि यमुना को भी शामिल किया जाए l
ग्वालियर, राजस्थान, मथुरा वृंदावन ,यमुना नगर देहरादून आदि स्थानों से आए श्रद्धालुओं ने यमुना के घाटों की सफाई की इस अवसर पर लोक पंचायत के सदस्य श्री चंद शर्मा ने कहा है कि हरिपुर का यह यमुना तट हरिद्वार की तर्ज पर विकसित था परंतु अतीत में भयंकर बाढ़ आने के कारण यह स्थान तहस-नहस हो गया और हम इसे पुनर्निर्मित नहीं कर सके l शर्मा ने कहा है कि इस स्थान पर भव्य मां यमुना का मंदिर एवं घाटों का पुनर्निर्माण करना चाहिए l शर्मा ने जगत ग्राम में हुए अश्वमेघ यज्ञ, कालसी में अशोक के शिलालेख, व्यास नहरी एवं बुधपुरी वह चार नदियों के संगम का उल्लेख करते हुए इस स्थान के ऐतिहासिक महत्व पर प्रकाश डाला ।
प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य संतोष खंडूरी ने कहा है कि यमुना नदी को बचाना समय की आवश्यकता है उन्होंने सरकार से मांग की है कि जिस प्रकार नमामि गंगे योजना पर करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं ठीक उसी प्रकार यमुना नदी का भी पुनरुद्धार किया जाना चाहिए उन्होंने यमुना नदी के प्राचीन इतिहास पर भी प्रकाश डाला साथ ही कहा है कि यमुना नदी में हरिपुर प्रथम प्रयाग के नाम से जाना जाता था ।
यात्रा संयोजक राजेंद्र प्रसाद सेमवाल ने कहा है कि देहरादून में से प्रारंभ होकर यमुना बचाओ यात्रा हरिपुर, हरी घाट होते हुए गंगनानी बड़ाकोर्ट एवं यमुनोत्री तक पहुंचेगी और घाटों को स्वच्छ करते हुए यमुना नदी को पवित्र करने का कार्य किया जाएगा
इस अवसर पर संभव मच परिवार द्वारा यमुना की स्वच्छता पर एक नाटक भी प्रस्तुत किया गया ।
इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य केसर नेगी पौड़ी जिले की पूर्व ब्लाक प्रमुख इंदु नेगी, समाजसेवी कुसुम सती कंडवाल, सतपाल चौहान ,प्रीतम सिंह चौहान, विनीता जोशी ,मदन मोहन जोशी ,पूरन कापड़ी ,कुसुम पंत ,प्रदीप शर्मा, संजय गैरोला , हेमाडपंत, सुनील वर्मा, स्वजल के विशेषज्ञ अनुभव रावत, मंजू जोशी आदि सहित अनेक लोग उपस्थित थे । कार्यक्रम का संचालन लोक पंचायत के सदस्य भारत चौहान ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

टिहरी झील में कैबिनेट बैठक आयोजित करने का एक बड़ा मकसद था

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को नई टिहरी में पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि राज्य सरकार पर्यटन को उत्तराखण्ड में रोजगार सृजन के बड़े माध्यम के रूप में देख रही है। टिहरी झील में कैबिनेट बैठक आयोजित करने का एक बड़ा मकसद यही था कि टिहरी झील […]

You May Like