uttarakhand

2006 से टिहरी बांध प्रभावित होने के नाते नही मनाते त्योहार

Pahado Ki Goonj

मित्रों आपको सपरिवार धन तेरस की हार्दिक बधाई
एशिया के सबसे बडे टिहरी बांध से प्रभावित प्रतापनगर का निवासी हूं बांध की झील में पानी भरने से प्रतापनगर की दूरी बढ़ने से सभी प्रकार की असुभिधा होरही है ।हम कृत्रिमता के कारण अभाव में जी रहे है ।हमारी मागें पूरी समझौते की बावजूद नही होरही है। प्रभावित्त गाजणा छेत्र ,प्रतापनगर संघर्ष समिति के संयोजक होने के नाते मेरा वर्ष2006 से त्योहार एवं वर्ष 2008 से चुनाव में भागीदारी नहीं करता ,अब मा० न्यायालय के आदेश के बाद भी पूरी नही की जारही है ।मांगे पूरी न होने तक प्रतानगर की जनता की ओर से अपना लोकतंत्र में नेताओं अधिकारियों के जनहित में इच्छा शक्ति के अभाव को दूर करने के लिये तप एवं त्याग है ।अब माननीय न्यायालय ने मांग पूरी करने के लिये आदेश दे दिया है।परंतु अभि तक कार्य वही नही हो पाई है। अब हम गुलामि में जीने जैसे 16 वीं सदी में जीने के लिये मजबूर हो रहे हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

पत्रकार दैफने करूआना गलिजिया की मौत से मानवीयता की हत्या

बेलेट,माल्टा ।दुनिया  के कई नेताओं की मुश्किल ने पत्रकार की जीना मुहाल कर हत्या बम से करा दिया।पनामा पेपर का खुलासा करने वाली खोजी पत्रकार की कार में बम्ब बिस्फोट होने से मौत होगई।पत्रकार दैफने करूआना गलिजिया 53 की मोत से मानवीयता की हत्या होगई । माल्टा के प्रधानमंत्री जोसेफ […]

You May Like