पहाड़ी से मलबा आने से बंद बदरीनाथ हाईवे खुला

Pahado Ki Goonj

चमोली। तोताघाटी के पास पहाड़ी से मलबा आने से बंद हुआ बदरीनाथ हाईवे सुबह करीब नौ बजे खोल दिया गया। मार्ग बुधवार रात से बंद था, जिस कारण यहां वाहनों की लंबी कतार लग गई थी। जानकारी के मुताबिक बुधवार रात को तोताघाटी के पास रोड कटिंग का काम चल रहा था। इस दौरान पहड़ी से भारी मलबा सड़क पर आ गया और हाईवे अवरुद्ध हो गया था।
पांच दिन बाद बुधवार को लामबगड़ में बदरीनाथ हाईवे सुचारु हो गया है। शाम पांच बजे हाईवे से मलबा पूरी तरह से हट जाने के बाद वाहनों की आवाजाही सुचारु हुई। छह जून को तड़के तीन बजे चट्टान से बोल्डर और मलबा आने से हाईवे अवरुद्ध था।
एनएच ने वाहनों की आवाजाही के लिए यहां वैकल्पिक मार्ग भी बनाया है, लेकिन यहां मिट्टी होने के कारण वाहन फंस रहे थे। जिससे स्थानीय लोगों के साथ ही आईटीबीपी व सेना के जवानों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। अब हाईवे सुचारु होने से सेना व लोगों ने राहत की सांस ली है।
बदरीनाथ हाईवे धार्मिक के साथ ही सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है। छह जून को तड़के तीन बजे चट्टान से बड़े-बड़े बोल्डर छिटक कर हाईवे पर आ गए थे। जिससे हाईवे पर वाहनों की आवाजाही रुक गई। दो दिन बाद एनएच की ओर से अलकनंदा के किनारे से वैकल्पिक मार्ग का निर्माण किया गया। लेकिन यहां मिट्टी का भरान होने से वाहन आगे नहीं बढ़ पाए। जिससे स्थानीय लोगों के साथ ही सेना व आईटीबीपी के जवानों को आवाजाही में दिक्कतों का सामना करना पड़ा। बुधवार को एनएच की जेसीबी से हिल साइड का मलबा पूरी तरह से निस्तारित करने के बाद शाम पांच बजे हाईवे को वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया गया। जोशीमठ के एसडीएम ने बताया कि लामबगड़ में हाईवे खोल दिया गया है। यहां फंसे ट्रक व बड़े वाहनों की निकासी कर दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

गुरूवार से केदारनाथ की यात्रा शुरु, 30 जून तक सिर्फ रुद्रप्रयागवासियों को अनुमति

रुद्रप्रयाग। मंगलवार को देवस्थानम बोर्ड के फैसले के बाद केदारनाथ धाम की यात्रा खोल दी गई है। पहले चरण में 30 जून तक सिर्फ स्थानीय निवासियों यानी रुद्रप्रयाग जिले के लोगों के लिए ही यह यात्रा खोली गई है। गुरूवार से सोनप्रयाग में प्रशासन के पास जारी करने के बाद […]

You May Like