यूथ फाउडेशंन के संस्थापक ,एनआईएम के पूर्व प्रधानाचार्य कर्नल अजय कोठियाल ने बड़कोट आकर आम लोगों से मुलाकात की

Pahado Ki Goonj

मदन पैन्यूली/बड़कोट। उत्तरकाशी के बड़कोट यूथ फाउडेशन के तहत चलाये जा रहे सेना में भर्ती से पूर्व कैम्प के दौरान कर्नल अजय कोठियाल बड़कोट पहुंचे जहां उन्होने भर्ती से पूर्व प्रशिक्षण के लिए चयनित युवक और युवतियों से मुलाकात की यमुना घाटी के नौगांव और पुरोला में विगत सप्ताह से यूथ फाउडेशन के तहत रवांई जौनपुर के युवक युवतियों को सेना में भर्ती के लिए दिये जाने वाले प्रशिक्षण का कैम्प लगा हुआ था इसी बीच फाउडेशंन के संस्थापक ,एनआईएम के पूर्व प्रधानाचार्य कर्नल अजय कोठियाल ने बड़कोट आकर आम लोगों से मुलाकात की । उन्होने कहा कि उत्तराखण्ड में युवाओं को सही दिशा देना लक्ष्य रहा है जो भविष्य में जारी रहेगा ।
उन्होने युवकों के साथ युवतियों को भी सेना में भर्ती से पूर्व प्रशिक्षण दिये जाने का कार्य शुरू किये जाने की बात की

कर्नल ने कहा कि सेना मे भर्ती के लिए दिये जा रहे प्रशिक्षण में 70 प्रतिशत चयन हो जा रहा है और जो 30 प्रतिशत लोग बच रहे है उनके लिए सैक्यूरेटी एंजन्सी के तहत चयन कर रोजगार दिये जाने की येाजना बनायी जा रही है। ताकी सत प्रतिशत रोजगार उत्तराखण्ड के युवक और युवतियों को दिया जा सकें । उन्होने कहा समाज हित व समाज सेवा के लिए जिस भी मंच का उनको सहारा लेना पड़ेगा वह लेगें और समाज को सही दशा व दिशा देने का काम करेगें , उन्होने उत्तराखण्ड के हर जनपद से सैकड़ों युवकों को सेना , अद्र्व सैनिक एंव पुलिस में भर्ती करवाये जाने को लेकर प्रेरणा दिये जाने का भरोसा दिया।
सभा का संचालन जयप्रकाश बहुगुणा ने किया इस मौके पर प्रतिनिधि देवेन्द्र सिंह चौहान, नगर व्यापार मंडल

अध्यक्ष राजाराम जगूडी वरिष्ठ पत्रकार सुनील थपलियाल जयवीर सिंह जयाड़ा , सुन्दर सिंह , यशवन्त रावत , सत्येन्द्र राणा, मदन सिंह राणा, प्रकाश असवाल , भगवान सिंह राणा, मंजीत रावत , उत्तम रावत , चिरंजीव डिमरी सुशील गौड़, दिनेश कोठियाल , बलदेव परमार, अजय पाल सिंह राणा, बलवीर सिंह रावत , विशाल सिंह , मुकेश सिंह , प्रीतम सिंह , सविता , छात्रसंघ अध्यक्ष नवीन जगूडी दीपक रावत , कमल सिंह सहित सैकड़ो लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

अमर शहीद श्रीदेव सुमन जी के बलिदान दिवस पर उन्हें कोटि- कोटि नमन एवं श्रद्धांजलि

आजादी के लिये किस महान पुरुष का25 जुलाई बलिदान हुआ थे? जी हाँ आज यानी 25 जुलाई को उस महान क्रंतिकारी का बलिदान दिवस है जिन्होंने हमे राजशाह से आजादी के लिए 84 दिनों तक तिल तिल करके मरना पड़ा। जिनकी रोटियों में कांच कूट कर डाला गया और उन्हें […]

You May Like