उत्तराखंड के लाल ब्रीडकुल के यमडी मनोज सेमवाल को केंद्र में दी बड़ी जुमेदारी

नई दिल्ली/देहरादून। उत्तराखण्ड में एक से एक लाल पैदा हुए हैं ।उनमें उत्तराखंड के निवासियों में समय समय पर जानकारी कभी भारत सरकार ,कभी अन्य प्रदेश की सरकार के द्वारा अहम पद की जिम्मेदारी देने से मालूम होता है ।इस बीच प्रदेश के लिए एक और ख़ुशी की बात है कि भारत सरकार ने एक और उत्तराखण्डी अभियंता को अहम पद पर नियुक्ति दी है।उत्तराखंड सरकार के निगम से कार्यमुक्त होने के बाद केंद्र सरकार ने ब्रिडकुल देहरादून (उत्तराखंड) के निवर्तमान प्रबंध निदेशक मनोज कुमार सेमवाल को नेशनल कोपोरेटिव कंजूमर फेडरेशन का प्रबंध निदेशक नियुक्त किया है। 2 मार्च को इनके आदेश जारी कर दिए हैं।

बता दें ब्रिडकुल ( उत्तराखंड सरकार का निगम) में सेमवाल ने अपना चार साल के सफल कार्यकाल में निगम को घाटे से उबार दिया था। सेमवाल की प्रतिनियुक्ति समाप्त होने पर राज्य सरकार ने उन्हें केंद्र के लिए रिलीव कर दिया था।इस अबसर पर उनका कहना था कि ब्रीडकुल अच्छा चले ,अच्छा चलने के लिए शुभकामनाएं देते हैं।ज्ञात हो कि यह निगम 15 करोड़ रुपये सरकार की पूंजी निवेश करने से बनाया गया है ।इन्होंने कम लागत में प्रोजेक्ट बनाने में अपनी इच्छा शक्ति का परिचय देते हुए अपना भवन बना कर उसका राजस्व लेने का कार्य करते हुए सरकार का रुपये अल्प समय की अबधि में वापस कर मिशाल उत्तराखंड में अन्य निगमो में कार्यरत प्रबंध निदेशक मंडल को देकर  अच्छा 

कार्य किया है। सरकार को कमा कर देने का पाठ पढ़ा कर विदा लिया ।जबकि उत्तराखंड के अन्य निगम घाटे की भरपाई के लिए आई ए एस अधिकारी गैर

जुमेदारी का प्रदर्शन करते हुए सरकार का मुंह ताकते रहते हैं। शासन में बैठे अधिकारीयों को उत्तराखंड की चिंता कितना कुछ है यह घपले घुटालो पर कार्यवाही नहीं करने से पता चलता है।राज्य को लूटाने के लिए अधिकारी बेताब हैं ।300से ज्यादा घुटालो को कराने में माहिर अधिकारी  ताजा उदाहरण है कि अभी बीज को बिना गरंटी के देदिया ।बिहार के व्यपारी को अब
ढूंडलीजियेगा उनको ।मजे की बात यह है कि उनकी जमानत भी वापिस देदीगई है। अब देखना है कि उत्तराखंड के कोन कोन निगम सरकार की पूंजी शीघ्र वापसी करती है।

आपको बता दें सेमवाल रेलवे सेवा के अधिकारी हैं और उनके विगत दिनों भारत सरकार में जॉइंट सेक्रेटरी के रूप में इम्पैनल्मेंट हो गया था। नवनियुक्त एमडी ने फोन पर सम्पर्क करने पर कहा कि उत्तराखंड राज्य मेरी जन्म भूमि है ।यहीं से इस मुकाम तक पंहुचा हूँ, मुझसे जो भी बेहतर होगा वह देश के साथ साथ उत्तराखंड के लिए करूँगा। उत्तराखंड के विकास में अपना योगदान केंद्र सरकार में रहते हुए भी देता रहूंगा।
यह उनके जीवन के साथ साथ प्रदेश के लिए सुखद समाचार है कि अच्छे पद का लाभ प्रदेश सरकार को भी मिलता रहेगा।सरकार को उत्तराखंड में लूटपाट करने वाले लोगों पर शिकंजा कसने के लिए इच्छा शक्ति का परिचय देते हुए जनता में अच्छा सन्देश देना चाहिए।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *