uttarakhand

बारिश का कहरः उत्तराखंड में 24 लोगों की मौत

Pahado Ki Goonj

नैनीताल। उत्घ्तराखंड में बीते 48 घंटे से हो रही बारिश ने कहर मचा दिया है। नैनीताल जिले के रामगढ़ ब्घ्लॉक के एक गांव में मकान जमींदोज होने से दस लोगों के मौत की खबर है। धारी तहसील के चौखुटा गांव में भूस्घ्खलन की जद में आए मकान में एक ही परिवार के छह लोगों की दबकर मौत हो गई। भीमताल में मकान ढहने से एक बच्घ्चा मलबे में दब गया है। अल्घ्मोड़ा जिले में एक मकान पर पहाड़ी से मलबा आने के कारण तीन लोगों की दबकर मौत हो गई है। अल्घ्मोड़ा नगर में भी मकान की दीवार गिरने से किशोरी की दबकर मौत हो गई। बागेश्घ्वर जिले में पहाड़ी से गिरे पत्घ्थर की चपेट में आने से एक युवक की मौत हो गई। अल्मोड़ा-हल्द्वानी हाईवे पर खीनापानी क्षेत्र में मलबे में दबने से दो श्रमिकों की मौत हो गई है। फिलहाल 24 लोगों के मौत की खबर है। वहीं, नैनीताल का संपर्क देश-दुनिया से कट गया है। नैनीताल झील का पानी ओवरफ्लो होकर बह रहा है। काठगोदाम रेलवे स्घ्टेशन पर करीब सौ मीटर का संटिंग नेक गौला नदी में बह गया। जलभराव के कारण ट्रेनों का संचालन निरस्घ्त कर दिया गया है। पहाड़ के दर्जनों मार्ग मलबा आने के कारण बंद हो गए हैं।नैनीताल जिले के रामगढ़ ब्घ्लॉक के झुतिया गांव मकान ढहने से नौ लोगों की मौत हो गई। वहीं, एक की हालत गंभीर बताई जा रही है। राजस्व गाँव सकुना में तड़के मकान में पहाड़ी से मलबा आ गया। कमरे में 10 मजदूर सो रहे थे। जिसमें से एक तो उठकर बाहर कूद गया। जिसकी हालत गम्भीर बतायी जा रही है। नौ मजदूरों की मलबे में दबकर मौत हो गई। सुबह ग्राम प्रधान सुरेश मेर ने घटनास्थल का जायजा लिया और प्रशासन की टीम को घटना की जानकारी दी। रास्घ्ते बंद होने के कारण प्रशासन और एसडीआरएफ की टीमें मौके पर नहीं पहुंच पा रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

नैनीताल आपदाः 915 लोगों को निकाला सुरक्षित,30 की मौत की पुष्टि

नैनीताल। जनपद में लगातार हो रही बारिश के के बीच आपदा प्रबंधन टीम एवं एसडीआरएफ को मय आपदा उपकरणों के तत्काल आपदाग्रस्त क्षेत्रों में फंसे यात्रियों को सुरक्षित जगह पहुंचाया गया है। इस दौरान कल्सिया नाले के पास, फतेहपुर मुखानी, गोला नदी बनभूलपुरा, इंद्रानगर, गोला लालकुआं, करकट नाला कालाढूंगी, पूछड़ी […]

You May Like