मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जन औषधि केन्द्रों के माध्यम से आम आदमी तक जन औषधियों की उपलब्धता सुनिश्चित किये जाने पर बल दिया है

Pahado Ki Goonj

देहरादून पहाड़ों की गूंज समाचार,मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जन औषधि केन्द्रों के माध्यम से आम आदमी तक जन औषधियों की उपलब्धता सुनिश्चित किये जाने पर बल दिया है। उन्होंने कहा कि गरीबों को गुणवत्तायुक्त सस्ती दवा उपलब्ध हो यह हमारा उद्देश्य होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में अधिक से अधिक जन औषधि केन्द्रों की स्थापना के साथ ही रेलवे स्टेशनों पर भी जन औषधि की विपणन व्यवस्था बनाये जाने की बात कही। मुख्यमंत्री ने चिकित्सकों से भी लोगों को जन औषधि दवा क्रय करने हेतु पहल करने में जन तंत्र विकसित करने से सम्बन्धित प्रस्तुतिकरण का अवलोकन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जन औषधि परियोजना के तहत गरीबों तक गुणवत्ता युक्त चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना समय की जरूरत है। यह व्यवस्था प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों तक प्रभावी हो इसके लिये प्रयास किये जाने चाहिए। इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री ने एथिक्स गु्रप के सीएमडी श्री विपिन केवडिया द्वारा दिये गये प्रस्तुतिकरण का अध्ययन कर इस सम्बन्ध में कार्यवाही के निर्देश भी सचिव स्वास्थ्य को दिये।
इस अवसर पर सचिव अमित सिंह नेगी, प्रभारी सचिव डॉ. पंकज पाण्डेय, महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ0 अमिता उप्रेती आदि उपस्थित थे।

आगेपढें
देहरादून मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की संस्तुति उपरान्त प्रदेश में उपनल के माध्यम से प्रायोजित कार्मिकों के नियत मानदेय में वृद्धि का शासनादेश जारी कर दिया गया है। उपनल कार्मिको के मानदेय में लगभग 20 प्रतिशत की वृद्धि की गई है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उपनल कार्मिक के मानदेय में वृद्धि के लिये लम्बे समय से मांग कर रहे थे। कार्मिकों के व्यापक हित को ध्यान में रखते हुए मानदेय में वृद्धि की गई है। इससे हजारो उपनल कर्मियों को लाभ होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार 2020 प्राप्त करने वाले प्रदेश के अध्यापकों को मुख्यमंत्री ने दी बधाई

राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार 2020 प्राप्त करने वाले प्रदेश के अध्यापकों को मुख्यमंत्री ने दी बधाई मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश के दो अध्यापकों को राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार 2020 के लिये चयनित होने पर उन्हें बधाई दी है। राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार प्राप्त करने वालों में प्रधानाचार्य जी.एच.एस.एस पुडकुनी, कपकोट (बागेश्वर) […]

You May Like