ज्यादा ब्याज का झांसा देकर लोगों से की करोड़ों की ठगी करने वाले दबोचे

ऋषिकेश। रायवाला पुलिस ने बीते रोज ठगी के मामले में बड़ा खुलासा करते हुए 2 लोगों को गिरफ्तार किया है। दोनों लोगों ने फर्जी कंपनी बनाकर करोड़ों रुपए की ठगी की है। हालांकि इस मामले में पुलिस के साथ-साथ एसटीएफ की टीम भी जांच कर रही थी। जांच में कई तथ्य सामने आने के बाद दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।
पिछले काफी समय से रायवाला में कैलाशी विजन प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड नाम की कंपनी कर रही थी। जिसमें रायवाला में रहने वाले लोगों ने अपनी मेहनत की कमाई जमा की थी। लोगों ने 8.5 प्रतिशत सालाना ब्याज दर की लालच में इस कंपनी में खाते खुलवा कर पैसे जमा किए। पैसे न मिलने की वजह से कई बार रायवाला स्थित ब्रांच के मैनेजर ने कंपनी के मालिकों से संपर्क किया। मगर उसे भी संतोषजनक जवाब नहीं मिला. जिसके बाद कैलाशी विजन प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड रायवाला ब्रांच के मैनेजर ने खुद ही रायवाला थाने पहुंचकर कंपनी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। शिकायत के आधार पर कंपनी की जांच एसटीएफ के द्वारा की जाने लगी। जब लोगों ने अपने पैसे मांगने शुरू किया तो कंपनी ने पैसे देने के नाम पर टालमटोल करनी शुरू कर दी। जांच में कई चैंकाने वाले तथ्य सामने आए। जिसमें उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश सहित मध्यप्रदेश में भी इस कंपनी की ब्रांच होने की बात सामने आई। रायवाला पुलिस और एसटीएफ की संयुक्त जांच में इन दोनों लोगों को पूछताछ के लिए लाया गया। जिसके बाद पुलिस ने इनकी कंपनी में कई तरह की फर्जीवाड़े का खुलासा किया। फिलहाल इन दोनों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया है। रायवाला थाना प्रभारी हेमंत खंडूरी ने बताया कि इस कंपनी की शिकायत पिछले कुछ समय से मिल रही थी। जिसके बाद पुलिस और एसटीएफ इसकी जांच में लगी। जांच में पाया गया कि कंपनी खोलने वाले लोग पहले देहरादून में एक फर्जी कंपनी में काम करते थे। जहां कंपनी के बंद होने और उसके मालिक के गिरफ्तार होने के बाद उन्होंने खुद ही अपनी कंपनी खोलने का निर्णय लिया। जिसके बाद उन्होंने बहुत तेजी से अपनी शाखाएं अलग-अलग राज्यों में खोली। गौरतलब है कि फर्जी कंपनी बनाकर लोगों का पैसा जमा करना इस कंपनी के अधिकार क्षेत्र में नहीं आता। इसके बावजूद भी इन्होंने नियमों के विपरीत जाकर इस तरह का काम किया। पुलिस ने बताया कि इस कंपनी का डायरेक्टर पांचवी पास है। उन्होंने बताया कि अकेले रायवाला में ही 110 लोगों का खाता इस कंपनी में है। जिसमें लगभग 40 लाख रुपए जमा किए गए थे। बता दें कि उत्तरप्रदेश के बिजनौर जिले में नजीबाबाद के रहने वाले कमल भारती और देहरादून स्थित सेलाकुई निवासी नसीबुद्दीन ने गलत तथ्यों के आधार पर ‘ कैलाशी विजन’ प्रोड्यूसर कंपनी खोली थी। इसके बाद कंपनी की देहरादून जनपद के विभिन्न इलाकों में 13, कोटद्वार में 1, नजीबाबाद में 5 और मध्यप्रदेश में 3 ब्रांच खोली गई। कंपनी ने संबंधित क्षेत्रों में लोगों के खाते खोलकर आरडी, एफडी, डेली डिपॉजिट स्कीम और लोन के नाम पर करीब 28 करोड़ रूपए जमा किए गये। कुछ लोगों को रकम लौटाई गई, लेकिन अधिकांश का पैसा उन्हें वापस नहीं दिया गया।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *