uttarakhand

हर चरण में सिर्फ एक हफ्ते के चुनाव प्रचार की छूट देने मूड में निर्वाचन आयोग

Pahado Ki Goonj

नई दिल्ली,े। कोरोना के बीच चुनाव सुरक्षित भी हो और उम्मीदवारों को जनता के बीच जाने का अवसर भी मिले, इसे लेकर मंथन तेज हो गया है। ऐसे में हर चरण में एक हफ्ते तक प्रचार की छूट देने के विकल्प पर विचार किया जा रहा है। अगर सहमति बनी तो 22 जनवरी यानी शनिवार तक पांच राज्यों में लगे प्रतिबंध को जनवरी के अंत तक बढ़ाया जा सकता है। उसके बाद पहले चरण वाले क्षेत्रों में प्रचार की अनुमति दी जा सकती है। यह छूट चरणवार दी जाएगी ताकि एकबारगी पूरे प्रदेश में भीड़ न इकट्ठी होने लगे।आयोग ने स्थिति की समीक्षा के लिए शनिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय सहित राज्यों के स्वास्थ्य प्रमुखों व विशेषज्ञों की उच्चस्तरीय बैठक बुलाई है जिसमें कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा होगी। कुछ राज्यों में कोरोना के मामले घट रहे हैं तो कई जगह बढ़ रहे हैं।
आयोग के सूत्रों के अनुसार, उम्मीदवारों का हक है कि वे जनता तक जाएं, अपनी बात रखें, उन्हें समझाएं और अपनी योजनाएं बताएं। लिहाजा अवसर तो देना ही होगा, लेकिन सतर्कता जरूरी है। चूंकि यह विधानसभा चुनाव है इसलिए एक हफ्ते की छूट पर्याप्त हो सकती है।

Next Post

उत्तराखंड कांग्रेस पार्टी में 53 विधानसभा के प्रत्याशियों की सूची जारी कीगई है

देहरादून, उत्तराखंड पहाडोंकीगूँज  की सबसे बड़ी खबर कांग्रेस के मुख्य चुनाव समिति के महा सचिव मुकुल वासनिक  ने अपने प्रत्याशियों की घोषणा की। पिछले डेढ़ महीने से कांग्रेस अपने इन प्रत्याशियों के नामों की छटनी करने में जुटे हुए थे लेकिन जिस तरीके के हालात कांग्रेस में दिखाई दिए और […]

You May Like