सीमा सुरक्षा बल के स्थापना दिवस पर सभी जवानों ,अधिकारियों को बहुत बहुत बधाई

Pahado Ki Goonj

देहरादून,अपने आदर्श वाक्य जीवन ,पर्यन्त , कर्तव्य के साथ अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए देश की सीमाओं पर 24 घण्टे तैनात सीमा सुरक्षा बल के स्थापना दिवस पर सभी जवानों ,अधिकारियों को बहुत बहुत बधाई,BSF भारत का एक प्रमुख अर्धसैनिक बल है एवँ विश्व का सबसे बड़ा सीमा रक्षक बल है। जिसका गठन 1 दिसम्बर 1965 में हुआ था। इसकी जिम्मेदारी शांति के समय के दौरान भारत की अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं पर निरंतर निगरानी रखना, भारत भूमि सीमा की रक्षा और अंतर्राष्ट्रीय अपराध को रोकना है। 1 दिसम्बर 1965 को के.एफ. रुस्तम जी के नेतृत्व में गठित इस समय बीएसएफ की 188 बटालियन है और यह 6,385.36 किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा करती है जो कि पवित्र स्थलों, दुर्गम रेगिस्तानों, नदी-घाटियों और हिमाच्छादित प्रदेशों तक फैली है। सभी BSF कर्मियों को हम सलाम करता हैं क्योंकि आप हर वक्त देश की सीमाओं पर तैनात होकर हम सभी देशवासियों की रक्षा करते हैं, आप कच्छ के रण में हो या राज्स्थान के रेगिस्तान अथवा कश्मीर के ग्लेशियर में ,या उत्तर पूर्व की सीमा हो,हर जगह बेहद ईमानदारी और चौकन्ने रहकर देश की सुरक्षा में तैनात रहते हैं,शायद ही आप किसी होली,दीपावली या किसी तीज,त्यौहार पर अपने परिजनों संग घर पर रहते होंगे,क्योंकि प्रमुख तीज त्योहारों पर आपको अधिक सतर्कता के साथ ड्यूटी करनी होती है ताकि कोई भी दुश्मन देश के त्योहारों के अवसर पर देश के अंदर अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं से न आ सके,आप हमारे असली हीरो हैं, आपको बेशक पूर्ण सेना का दर्जा प्राप्त न हो लेकिन आप अपने कर्तव्य,अदम्य साहस से सदैव सेना के जवानों के जैसे ही मातृभूमि की रक्षा हेतु खड़े हैं, आज BSF के स्थापना दिवस पर हम आप सभी BSF जवानों,कर्मियों ,और आपके परिवारों को बधाई देता हैं,ईश्वर आपको स्वस्थ रखें, आपकी रक्षा करें ताकि आप अधिक दृढ़ता और पराक्रम के साथ देश की सीमाओं की रक्षा में जुटे रहें।
जय हिन्द, जय भारत।
चन्द्रशेखर पैन्यूली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

1 दिसंबर 2019 से बदल गए ये 5 नियम जिससे आपकी जेब पर पड़ेगा सीधा असर

नई दिल्ली। एक दिसंबर से कुछ नियम और चीजें बदल गई हैं। इससे आपके जीवन पर सीधा प्रभाव पड़ेगा। ज्यादातर मामलों में आप पर भार ही बढ़ेगा। मोबाइल कॉल दरों से लेकर आपकी बीमा पॉलिसी तक महंगी हो गई। एटीएम से नगद निकालना भी जेब ढीली कर सकता है। आइए […]

You May Like