टिहरी जिले में आने वाले प्रवासी को अब ऋषिकेश मुनिकीरेती में रहना होगा क्वॉरेंटाइन ;- डीएम मंगेश घिल्डियाल

एक्शन में टिहरी डीएम मंगेश, मुनिकीरेती में प्रवासियों को क्वारंटाइन करने की तैयारी

 

 टिहरी जिले में डीएम मंगेश घिल्डियाल के आते ही जनपद को वैश्विक महामारी को रोना से बचाने में लग गए वही जिले के प्रशासनिक अधिकारी भी एक्शन में आ गए हैं। डीएम ने मुनिकीरेती पहुंचकर सभी होटल व्यवसायियों के साथ बैठक की। इस दौरान ऋषिकेश के मुनिकीरेती में  को लेकर चर्चा हुई। इसमें होटल व्यवसायियों की मदद ली जाएगी।  

अभी तक ऋषिकेश में प्रवासियों को रुकवाने के लिए प्रशासन ने कोई ठोस व्यवस्था नहीं की थी। इसके चलते सभी प्रवासी टिहरी पहुंच रहे थे और टिहरी में अचानक कोरोना के मामले बढ़ गए, लेकिन अब प्रशासन ऋषिकेश में ही प्रवासियों को क्वारंटाइन करेगा। डीएम ने कहा की इस मुहिम में ली जाएगी। प्रवासियों को अब होटल में ही ठहराया जाएगा, जिससे कोरोना संक्रमण का खतरा कम हो। डीएम ने  को निर्देश दिए कि क्वारंटाइन सेंटर में बेहतर खाने की व्यवस्था की जाए। पूर्ति अधिकारी को इसके लिए नोडल बनाया गया है।जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने जीएमवीएन_गेस्ट_हाउस_गंगा_रेसोर्ट शीशम झाड़ी मुनी की रेती में होटल व्यवसायियों के साथ एक बैठक ली।  जिसपर सभी होटल व्यवसायियों का सकारात्मक समर्थन दिखा। जिलाधिकारी ने कहा कि यह_मानवता_को_बचाने की पहल है, जिसमें हर नागरिक/व्यावसाही का सहयोग आवश्यक है, ताकि संक्रमण को कम्युनिटी स्तर पर फैलने से रोका जा सके। 

जिलाधिकारी ने #उदाहरण_प्रस्तुत_करते_हुए_कहा कि यदि 15000 व्यक्तियों को गांव में होम क्वॉरेंटाइन किया जाए तो उनकी 24 घंटे देखरेख करना लगभग नामुमकिन है। इसी प्रकार यदि इन 15000 व्यक्तियों को 400 से 500 होटलों के कक्षों में संस्थागत कोरेंटिन किया जाए तो उनकी दिन-रात देखभाल करने में बिल्कुल आसानी होगी।  जिलाधिकारी ने अधिग्रहण किए जाने वाले होटलों में सफाई, सुरक्षा एवं अन्य सेवाएं/ व्यवस्थाएं किस प्रकार होगी इस बारे में व्यवसायियों को विस्तृत जानकारी दी। कहा की अधिग्रहण किए जाने वाले #होटलों_के_कक्षों_का_सरकार_द्वारा_तय_दरों_के_अनुसार_भुगतान किया जाएगा।  उन्होंने कहा कि इस समय जनपद में लगभग 450 होटल की उपलब्धता है जिसमें लगभग 6000 कक्षों की उपलब्धता है । जिलाधिकारी ने कहा कि अगर हम कोरोना वायरस को अपने जनपद में कम्युनिटी लेवल पर फैलने से रोक पाए तो #यह_बहुत_बड़ी_उपलब्धि होगी और इसमें #आपका_सहयोग_हमेशा_याद_रखा_जायेगा,

 उन्होंने बताया कि यहां रोके गए लोगों में जिनके सैंपल की रिपोर्ट नेगेटिव आती हैं उन्हें घरों के लिए भेजा जाएगा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *