नौकरी पाने के लिए रोजगार समाचार

नौकरी पाने के लिए क्या-क्या नहीं करना पड़ता है। सीवी बनाओ, उसे इधर-उधर मेल करो, जॉब पोर्टल पर उसे अपलोड करो, बार-बार उसे अपडेट करो, इंटरव्यू दो, जब तक नौकरी ना मिले, दर-दर की ठोकरें खाते रहो। लेकिन शायद अब आपको नौकरी पाने के लिए इतने पापड़ नहीं बेलने पड़ेंगे।

हमारे देश में नौकरी किसी युद्ध से कम नहीं। खासतौर पर इसलिए क्योंकि हायरिंग कर रहे लोगों और कंपनियों तक पहुंच पाना सबके बस की बात नहीं। लेकिन अब आपको जॉब ढूंढने की झंझट से राहत मिल सकती है। रोजगार समाचार नाम की  कंपनी ने लॉन्च किया है एक नया मोबाइल एप्लिकेशन जिसका नाम है रोजगार समाचार। इस ऐप की सबसे बड़ी खूबी ये है कि ये भर्ती करने वाली कंपनी और नौकरी ढूंढ रहे कंडीडेट को आमने सामने लाता है। ताकी दोनों पार्टियां एक-दूसरे के साथ साधे कनेक्ट हो सकें।

खुद नौकरी ढूंढने के लिए आपको एक मजबूत नेटवर्क की जरूरत पड़ती है। वहीं जॉब पोर्टल मदद लेने पर ब्रोकर या मिडिलमेन पर निर्भर होना पड़ता है। वहीं आमने सामने एप्लीकेशन में आपको सीवी अपलोड करने की जरूरत नहीं। सिर्फ रेजिस्टर करिए, अपना प्रोफाइल बनाइए। अपने बारे में कुछ अहम डीटेल्स भरिए और अगल-अलग सेक्टर की कंपनियों के साथ सीधा संपर्क करिए। इस ऐप में हर कंपनी के एचआर डिपार्टमेंट का नंबर और मेल आईडी दिया होता है। यानी आप सीधे अपनी पसंदीदा कंपनी को कॉल या ई-मेल कर सकते हैं। अगर आपको कोई कंपनी पसंद नहीं तो आप उसे ब्लॉक भी कर सकते हैं। ये एक लोकेशन वेस्ड अप्लीकेशन है। यानी आप जगह के हिसाब से नौकरियों को फिल्टर भी कर सकते हैं।

इस ऐप की मदद से आप अपने रिक्रूटर को फॉलो भी कर सकते हैं। फिलहाल ये एप्लीकेशन आईओएस और एंड्राइड पर फ्री में मौजूद है। मोबाइल एप के अलावा इसका डेस्कटॉप वर्जन भी लॉन्च हो चुका है। आने वाले सालों में कंपनी अपनी सर्विस के लिए चार्ज भी करेगी। फिलहाल रोजगार समाचार को इस्तेमाल करने वाले लोगों की शिकायत ये है कि इस ऐप में कुछ नंबर गलत हैं तो कुछ आउट ऑफ सर्विस हैं। कई लोगों का ये भी कहना है कि नए यूजर नेम के साथ रजिस्टर होना मुश्किल है। लेकिन ओवरऑल देखा जाए तो ये एप्लिकेशन अपनेआप में अनोखी पहल है। क्योंकि इसमें सिर्फ आपको नौकरी नहीं मिलती बल्की अच्छा अनुभव भी मिलता है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *