यतिन हत्याकांड :हत्या नहीं आत्महत्या , होटल कर्मचारियों ने लगाया था शव को ठिकाने

देहरादून: पुलिस ने यतिन हत्याकांड में बड़ा खुलासा किया है। मामले में हत्या नहीं बल्कि आत्महत्या की बात सामने आई है।
दिनदहाड़े युवक को गोली मारकर बीते सोमवार को शव राजपुर रोड के पास फेंक दिया था।मामला पहले हत्या का लग रहा था परन्तु पुलिस जांच में अब एक नया मोड सामने आया है। इंजीनियर यतिन की हत्या नहीं की गई। बल्कि उसने आत्महत्या की थी।

एसएसपी निवेदिता ने बयान जारी कर बताया कि मामले की अभी पूरी तरह जांच की जा रही है। यतिन के परिजनों को भी घर से बुला लिया गया है।ड्रग्स लेने की आदत और मानसिक परेशानी के चलते उसने खुद को गोली मार दी थी। यतिन ने खुद को होटल में गोली मारी, जिसके बाद होटल कर्मचारियों ने उसके शव को ठिकाना लगाया। मामले में दो होटल कर्मचारियों को हिरासत में ले लिया गया है।

पहले एक होटल कर्मचारी ने पुलिस को पुलिस को सोचना दी थी की एक शव मिला है जिसके आसपास बहुत लोग खड़े है और मेने इसे पहचान लिया है। यह युवक हमारे लौज मे दिनांक 15.11.17 को रूम न0 3 मे रूका था जिसका नाम यतीन वर्मा पुत्र श्री बसन्त लाल वर्मा निवासी ग्राम तल्ला कत्यूर बागेश्वर की है। मौके पर पुलिस और FSL की टीम पहुंची तथा मुअयाना करने पर पाया कि मृतक के सिर मे गोली लगी हुयी थी तत्काल उच्च अधिकारी गणो को सूचना देकर शव की तलाशी ली गयी तलाशी में मृतक की पहनी पैन्ट की बायी जेब से एक कारतूस जिन्दा .315 बोर तथा जेब से आधार कार्ड बरामद हुआ जिससे मृतक की शिनाख्त की गयी मौके पर पंचायतनामा की कार्यवाही की गयी और बरामद कारतूस को सील सर्वे मोहर किया गया व शव को पोस्टमार्टम के लिये भेजा गया।
बरामद सामान का विवरण
1-एक तमन्चा .315 बोर मय 03 जिन्दा कारतूस

2- एक तमन्चा 315 बोर मय01 खोखा फायर शुदा

3- एक अदद चाकू

4- एक बुलेट फयार शुदा

पुलिस टीम द्वारा आस पास के सभी होटलो की सघन चैकिगं की गयी तथा आस पास लगे सी .सी.टी.वी केमरो की फुटेज ली गयी तथा घटना स्थल से डाटा संकलित किया गया। सी.सी.टी.वी फुटेज से प्राप्त जानकारी के अनुसार पाया कि मृतक यतीन वर्मा उपरोक्त का होटल दून व्यू मे ठहरा था जिसके आधार पर जांच प्रारम्भ की जांच मे सहायक मैनेजर राजकुमार पुत्र रामनरेश निवासी ग्राम नजर अलीका पुरा जिला सुलतान पुर साथी शत्रुधन पुत्र लाल बाहुदर हसुवा सुरमन थाना जगदीश पुर जिला सुलतान पुर उ0 प्र0 से हिकमत अमली से पूछताछ की गयी तो दोनो द्वारा मांफी मांगते बताया साहब हमसे गलती हो गयी है यह व्यक्ति हमारे होटल मै दिनांक 25.11.17 को आया था जिसकी हमने लालच के कारण रजिस्ट्रर मे एन्ट्री नही की थी दिनांक 26.11.17 को मै समय करीब 10 बजे पैसे मांगने के लिये गया दरवाजा खटखटाया तो अन्दर से कोई आवाज नही आयी तब हमने दरवाजे मे लगी पलाई को हटा कर देखा तो वह लडका मरा हुआ था तब हम दोनो डर गये हमने सोचा कभी हमे पुलिस पकड ले इस डर से हमने किसी को नही बताया और रात्रि मे करीब 3 बजे राजकुमार – शत्रुधन व साथी अखिल हम तीनो द्वारा मृतक को कमरा न0 7 से उठाकर सीडीयो से नीचे ले जाकर सडक पर डाल दिया तथा कमरा न0 7 मे विस्तर व खून को साफ कर दिया तथा विस्तर को छत मे छिपा दिया तथा कमरे मे पडे तमन्चे व मृतक के समान को छत के ऊपर खाली पानी की टंकी मे छिपा कर रख दिया
सूचना पर मौके पर FSL की टीम बुलायी गयी व साक्ष्य संकलन किया गया मृतक के कपडो मे एक सुसाईट नोट व अन्य कागजात व सामान बरामद हुआ तथा घटना मे प्रयुक्त एक तमन्चा व एक खाली खोखा तथा एक अन्य तमन्चा व तीन जिन्दा कारतूस .315 बोर, एक चाकू बरामद हुये जिसे FSL की टीम की मौजूदगी मे सील सर्वे मोहर किया गया जांच मे प्रथम द्दष्टया मामला आत्महत्या का पाया गया है।

घटना के अनावरण के लिए उच्च अधिकारी गणो व जनता द्वारा पुलिस टीम की प्रशन्सा की गयी व टीम उत्साह बर्धन के लिए 2500 रू0 इनाम की घोषणा भी की गयी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *