देहरादून-: मंथन सभागार में जिला योजना समिति की बैठक संपन्न।

देहरादून – मंथन सभागार में प्रदेश के परिवहन मंत्रीं एवं जनपद प्रभारी मंत्री यशपाल आर्य की अध्यक्षता में वित्तीय वर्ष 2019-20 की जिला योजना समिति की बैठक सम्पन्न हुई।

बैठक में वित्तीय वर्ष 2019-20 की जिला योजना के लिए शासन स्तर से 60.18 करोड़ की परिव्यय निर्धारित किया गया। जानकारी देते हुए मुख्य विकास अधिकारी/सदस्य सचिव जिला योजना समिति जी.एस रावत ने शासन से प्राप्त दिशा-निर्देशों के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए अवगत कराया कि जिला योजना के इस वित्तीय वर्ष में विभिन्न विभागों के पूर्व से चालू कार्यों के लिए 70 प्रतिशत् तथा नवीन कार्यों के लिए 30 प्रतिशत् की धनराशि प्रस्तावित की गयी है। उन्होंने बताया कि आपदा से क्षतिग्रस्त पेयजल व अन्य मरम्मत की योजनाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाये तथा योजनाओं की संख्या को कम करते हुए समयबद्ध रूप से पूर्ण कराये जायें। उन्होंने बताया कि अधूरे/चालू योजनाएं जो 80 प्रतिशत्, 50 प्रतिशत् एवं 25 प्रतिशत् निर्मित हो चुकी हैं ऐसी योजनाओं को वरीयता के आधार पर पूर्ण कराये जाने के निर्देश प्राप्त हुए हैं। उन्होंने यह भी 6बताया कि जिन योजनाओं में अभी तक कार्य शुरू नही हुआ है ऐसी योजनाओं को निरस्त किया जाय किन्तु महत्वपूर्ण योजनाओं को जिला योजना समिति में पुनः अनुमोदित कर इस वित्तीय वर्ष में प्रस्तावित कराया जाय। उन्होंने जल संरक्षण, संवर्धन एवं कुशल प्रबन्धन को प्राथमिकता दिये जाने पर बल देते हुए अन्र्तविभागीय समन्वय बनाये जाने पर शासन के दिशा-निर्देशों से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि कृर्षि, उद्यान, सिंचाई, लघु सिंचाई, पशु चिकित्सा के क्षेत्र में रोजगारपरक योजनाएं प्रस्तावित कर पलायन को रोके जाने का भरसक प्रयास किया जाय। बैठक में बाताया गया कि पिछले 5 वर्षों में जिला योजना के तहत् 4056.72 करोड़ की धनराशि कम प्राप्त हुई है, जिससे कई विभागों के निर्माण कार्यों में देनदारी अभी तक लम्बित है। 

जिला योजना की इस बैठक में वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए लोक निर्माण विभाग को 10 करोड़, पेयजल निगम को 6.5 करोड़, जल संस्थान को 8.54 करोड़, वन विभाग को 60 लाख, वैकल्पिक उर्जा को 49 लाख लघु सिंचाई को 1.14 करोड़, सिंचाई विभाग को 10 करोड़, चिकित्सा को 2.04 करोड़, आयुर्वेदिक विभाग को 92 लाख, होम्योपैथिक विभाग को 35 लाख, ग्राम्य विकास को 60 लाख गन्ना विकास को 40 लाख माध्यमिक शिक्षा को 1.65 करोड़, नलकूप 3.5 करोड़, समाज कल्याण को 15 लाख, कृषि विभाग को 2 करोड़, उद्यान विभाग को 1 करोड़, पशुपालन विभाग को 2.41 करोड़, मतस्य विभाग को 1.73 लाख, दुग्ध विकास को 31 लाख, सहकारिता को 42 लाख, उद्योग विभाग को 40 लाख, खादी ग्रामोद्योग 10 लाख, रेशम विभाग को 40 लाख, पर्यटन को 80 लाख, खेल विभाग को 1.42 करोड़, युवा कल्याण विभाग को 2.65 करोड़, सूचना को 4 लाख, सेवायोजन को 13.50 लाख, महिला कल्याण को 10 लाख, पंचायतराज विभाग को 80 लाख रू0 की धनराशि का परिव्यय प्रस्तावित किया गया।

बैठक में जिलाधिकारी एस.ए मुरूगेशन ने समिति के सभी सदस्यों का आभार व्यक्त करते हुए उनके द्वारा दिये गये सहयोग के लिए बधाई दी तथा सदस्यों द्वारा विभिन्न विभागों के कार्य योजनाओं पर दिये गये प्रस्तावों पर भी प्रसन्नता व्यक्त की। जिला योजना की इस महत्वपूर्ण बैठक में जिला पंचायत सदस्य, जिला पंचायत अध्यक्ष चमन सिंह, निगम के मेयर सुनील उनियाल, विधायक देहरादून कैन्ट हरबंश कपूर, विकासनगर मुन्ना सिंह चैहान, सहसपुर सहदेव सिंह पुण्डीर, रायपुर उमेश शर्मा (काऊ) समेत जिला योजना समिति के सम्मानित सदस्यों के अलावा विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *