दिन भर की कुछ खास खबरें

सिंगर सोनिया आनंद रावत ने अपने अंदाज में ”निस्वार्थ” से किया कोरोना सुपर हीरोज का आभार

देहरादून। सिंगर सोनिया आनंद रावत ने कोरोना सुपर हीरोज का आभार अपने अंदाज में ”निस्वार्थ” से किया। कोरोना सुपरहीरोज के लिए गाने का एलबम लाॅच किया गया है। कोरोना महामारी के बीच कोरोना वाॅरियर्स को प्रोत्साहित करने और उनको अपने तरीके से आभार व्यक्त करते हुए सारेगामापा फेम सिंगर सोनिया आनंद रावत ने एक गाना ”निस्वार्थ” आज लाॅंच किया। गाने की लाॅंिचंग सीएमआई अस्पताल में की गई।
गाने की लाॅंच सीएमआई अस्पताल में रखी गई थी जहां गाने के बारे में जानकारी देते हुए गूंज संस्था की अध्यक्ष और गायिका सोनिया आंनद रावत ने कहा कि आज जहां पूरी दुनिया कोरोना से लड़ रही है वहीं हमारे वो सुपर हीरोज जो हाॅस्पिटल में डाक्टरर्स, वार्ड ब्वायज, नर्सेज आदि के रूप में, पुलिस डिपार्टमंेट, सफाई कर्मचारी, सोशल एक्टिविस्ट, कई समाज सेवी संस्थाएं अपना अपना फर्ज निभाने में लगी है। जिस तरह से किसी जंग के वक्त सिपाही बार्डर पर तैनात हमारी रक्षा कर रहे होते है और लड़ रहे होते है इसी तरह समाज के ये सिपाही भी हमारे लिए निस्वार्थ भाव से एक एसी लड़ाई लड़ रहे है जिसका अंत कब तक होगा कहा नहीं जा सकता। ये लोग भी अपनी जान जोखिम में डाल कर हमारी जान बचाने की जी जान से कोशिश में लगे है। इस दौरान निस्वार्थ गाना लांच किया गया जिसे पद्मश्री डॉक्टर आरके जैन पूर्व मंडी समिति अध्यक्ष रविंद्र सिंह आनंद एसपी ट्रैफिक प्रकाश चंद्र आर्य और डॉक्टर महेश कुरियाल ने समान रूप से किया इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि पद्मश्री डा. आरके जैन ने भी गाने सराहना करते हुए कहा कि इस तरह से इस कोरोन काल में कार्य करने वाले सभी लोगांे का उत्साहवर्धन होता है। एसपी ट्रैफिक प्रकाश चंद आर्य ने कहा कि यह गाना बहुत उत्साहवर्धन करने वाला है इससे उत्तराखंड की पुलिस को प्रोत्साहन मिलेगा श्री रविंद्र आनंद ने कहा कि यह गाना करोना वॉरियर्स जिसमें डॉक्टर मीडिया पुलिस और सफाई कर्मचारियों को समर्पित है कार्यक्रम में एसपी ट्रेफिक प्रकाश चंद्र आर्य शहर के जाने माने न्यूरोसर्जन डा. महेश कुड़ियाल बतौर विशिष्ट अतिथि रमा गोयल नितिन जैन आशा आनंद आदि मौजूद थे।
——————————————–
मंगेतर और उसके दोस्त के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज

देहरादून। जिम संचालक नमन राठौर खुदकुशी प्रकरण में मंगेतर और उसके दोस्त के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले में नमन के पिता धर्मबीर सिंह निवासी शीशवाली थाना नकुड़ जिला सहारनपुर ने पटेलनगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया।
पटेलनगर के देहराखास में जिम संचालक नमन राठौर ने अपनी मंगेतर को मौजूदगी में कमरे में चार मार्च को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। मंगेतर फांसी का फंदा काटकर हॉस्पिटल ले गई थी, लेकिन डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया था। नमन के पिता धर्मबीर सिंह की तहरीर के अनुसार नमन की मरने से पहले अपने दोस्तों से बात हुई थी। दोस्तों के मुताबिक नमन पैसों की वजह से बहुत परेशान था। उसे अपने दोस्त जॉनी निवासी सिकन्दरपुर मुंडलाना, रुड़की से लाखों रुपये लेने थे। बार-बार कहने पर भी जॉनी उसके पैसे नहीं दे रहा था। जिस कारण जॉनी ने नमन को कई बार धमकियां भी दीं। घटना के समय एक लड़की भी कमरे में मौजूद थी। शक जताया कि इन दोनों ने नमन को नाजायज रूप से परेशान कर आत्महत्या करने को मजबूर किया। साक्ष्य छिपाने को नमन का शव पंखे से लगी चुन्नी को काटकर पूर्व मे ही उतार लिया गया। ऐसा करने तक किसी को भी कोई सूचना नहीं दी गयी। नमन के मोबाइल में जॉनी से पैसों के संबन्ध में हुई चैट का भी रिकार्ड भी है। इंस्पेक्टर सूर्यभूषण नेगी ने बताया कि विवेचना में आने वाले साक्ष्यों के आधार पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।
————————————————–
राष्ट्रीय दृष्टि दिव्यांगजन सशक्तिकरण संस्थान में ई कवि गोष्ठी आयोजित

देहरादून। राष्ट्रीय दृष्टि दिव्यांगजन सशक्तिकरण संस्थान देहरादून में आज कोविद-19 जैसी महामारी के सामयिक विषय पर ई कवि गोष्ठी आयोजित की गई। कवि गोष्ठी का शुभारम्भ विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचन्द्र अग्रवाल ने किया। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने अपने सम्बोधन में संस्थान के प्रगति कार्यो की सराहना करते हुए कि दृष्टि दिव्यांगजनों के कल्याणार्थ समर्पित यह संथान निदशक प्रो. नचिकेता राउत के दिशा-निर्देशों में निरन्तर आगे बढ रहा है। जिसका दर्शन आज की कवि गोष्ठी के आयोजन से भी भली-भांति लगाया जा सकता है। कवि गोष्ठी में कई दृष्टि दिव्यंाग कवियों ने भी आधुनिक तकनीकि गूगलमीट के माध्यम से रचना पाठ कर किया। विधानसभा अध्यक्ष श्री अग्रवाल ने संस्थान की कलात्मक गतिविधियांे के संवर्द्धन हेतु संस्थान के निदेशक प्रो. नचिकेता राउत सहित पूरी टीम को बधाई दी।
इससे पूर्व संस्थान के निदेशक प्रो. नचिकेता राउत ने पुष्पगुच्छ देकर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचन्द्र अग्रवाल का स्वागत किया। प्रो. राउत ने विधानसभाध्यक्ष की संस्थान के प्रति दर्षित अभिरुचि हेतु उनको आभार ज्ञापित किया।
ई कवि गोष्ठी के प्रारम्भ में कविता बिष्ट ने सरस्वती वन्दना के साथ कविता ‘‘कोरोनाकाल के हालात देखो साहब ,जीवन अभिशाप बन गया आज साहब’’, दृष्टि दिव्यांग कवियों में संयोजक आर0पी0 सिंह ने कोरोना को भगाना है, देहली से चन्द्रवीर सिंह सरोजिनी, बिजनौर से अनिल शर्मा, जितेन्द्र डिमरी, सतेन्द्र शर्मा तरंग ने ऊंचा उठाते नहीं, ना जाति न कोई धर्म, पद बड़ा संसार में हासिल कराते कर्म, नरेश सिंह नयाल, गीतकार सतीष बंसल ने हृदयस्पर्षी गीत, हास्य के हरियाणिवी कवि रोशनलाल हरियाणिवी ने हास्य की फुलझडियां, गीतकार पीयूष निगम ने फील्मी पेरोडी, देहरादून के प्रख्यात गीतकार कवि श्रीकान्त शर्मा ने ‘होनी को होकर रहना है कौन सका है टाल, तीन लोक में सबसे ज्यादा ताकतवर है काल’’ ने काव्य पाठ किया। ई कवि गोष्ठी का ंसंचालन योगेश अग्रवाल ने करते हुए व्यग्ंय मुक्तक का रचना ‘‘जमीं पर कोरोना, आसमान में टिड्डी, पाताल में भूकम्प, समुद्र में तूफान हैं, घर में नाराज पत्नी है, फिर भी आरोग्य सेतु बता रहा है कि आप सेफ श्रीमान है।’’ कवि गोष्ठी के समापन पर स. कमलवीर ंिसंह जग्गी-शिक्षाविद् ने विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचन्द अग्रवाल, संस्थान के निदेशक प्रो. नचिकेता राउत, गोष्ठी के संयोजक आरपी ंिसंह, गोष्ठी के ंसचांलक एवं मीडिया प्रभारी योगेश अग्रवाल सहित सभी आमन्त्रित कवियों का आभार व्यक्त किया।
——————————————————-
चिन्हित राज्य आंदोलनकारी समिति ने गैरसैंण ग्रीष्मकालीन राजधानी अधिसूचना की प्रतियां फूंकी

-कहा, गैरसैंण को ग्र्रीष्मकालीन नहीं स्थायी राजधानी घोषित करे सरकार

देहरादून। चिन्हित राज्य आंदोलनकारी समिति के केन्द्रीय अध्यक्ष हरिकृष्ण भट्ट और महिला शाखा की अध्यक्ष सावित्री नेगी के नेतृत्व में अनेकों राज्य आंदोलनकारियों ने देहरादून में जन विरोधी, आंदोलनकारी विरोधी, शहीद विरोधी, गैरसैंण ग्रीष्मकालीन राजधानी अधिसूचना की प्रतियों को जलाया।
राज्य आंदोलनकारी ऐस्लेहाल चैक के पास एकत्रित हुए और प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए गैरसैंण ग्रीष्मकालीन राजधानी अधिसूचना की प्रतियां फूंकी। उन्होंने नारे लगाए ‘गैरसैण दूर नहीं स्थाई राजधानी से कम मंजूर नहीं’ उत्तराखंड के शहीद अमर रहे। चिन्हित राज्य आंदोलनकारी समिति के केंद्रीय मुख्य संरक्षक धीरेंद्र प्रताप के आह्वान पर ग्रीष्मकालीन राजधानी की घोषणा के राज्यव्यापी विरोध में आज राज्य में दो दर्जन से ज्यादा स्थानों पर जनविरोधी ग्रीष्मकालीन राजधानी की अधि सूचना को अग्नि को समर्पित किया गया। समिति के केंद्रीय मुख्य संरक्षक धीरेंद्र प्रताप, अध्यक्ष हरि कृष्ण भट्ट, महिला शाखा अध्यक्ष सावित्री नेगी और संगरक्षक जयप्रकाश उत्तराखंडी ने आंदोलनकारियों का आह्वान किया कि वह गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने की मुहिम को जारी रखें व कल भी राज्य के तमाम हिस्सों में जनविरोधी, तुगलकी आदेश की प्रतियों को जलाना चारी रखें। धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि हमारा अहिंसक आंदोलन है और हम शांतिपूर्ण लड़ाई लड़कर ही गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाकर रहेंगे। हरि कृष्ण भट्ट ने कहा कि जैसे ही कोरोना समाप्त होगा आंदोलनकारी समिति गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने के समर्थन में देहरादून में विशाल रैली आयोजित करेगी। हरि कृष्ण भट्ट ने बताया कि वह कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह से भी मिले और उनके द्वारा गैरसैण को खुला समर्थन दिए जाने पर आभार व्यक्त किया।
—————————————————————

जल एवं स्वच्छता मिशन की बैठक में स्वजल के कार्याें की समीक्षा की गई

अल्मोड़ा। जिला जल एवं स्वच्छता मिशन की बैठक आज विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चैहान की अध्यक्षता में जिला कार्यालय सभागार में सम्पन्न हुई। बैठक में जल जीवन मिशन के अंतर्गत उत्तराखंड पेयजल निगम, जल संस्थान एवं स्वजल की कार्य योजना के साथ ही स्वजल द्वारा संचालित कार्यों की समीक्षा की गई।
बैठक में उपाध्यक्ष ने कहा कि केन्द्र सरकार की जल जीवन मिशन योजनान्तर्गत वर्ष 2024 तक प्रत्येक घर को पेयजल संयोजन से जोड़ा जाना है। इस कार्य को पेयजल निगम,जल संस्थान एवं स्वजल विभाग के माध्यम से कराया जाएगा। इसके लिए अधिकारियों को ठोस कार्य योजना अभी से तैयार करनी होगी। उन्होंने कहा कि राजस्व गांवों को पेयजल से संतृप्त करने हेतु ग्राम सभा की खुली बैठक में प्रस्ताव प्राप्ति के साथ ही प्रत्येक गांव में एक पेयजल उपभोक्ता समिति बनेगी ताकि योजना का रख-रखाव सही तरह से किया जा सके। उन्होंने कहा कि जिले में वर्ष 2024 तक शत प्रतिशत लक्ष्य की पूर्ति हो सके इस हेतु अन्य संबंधित विभागों के साथ भी समन्वय कर विभागवार लक्ष्य आवंटित किए जाय। उन्होंने परियोजना प्रबंधक स्वजल को निर्देश दिए कि वर्तमान वित्तीय वर्ष हेतु पेयजल निगम, जल संस्थान एवं स्वजल विभाग के द्वारा जो भी कार्य प्रस्तावित किए गए हैं उनकी सूची जिले के माननीय सभी विधायक गणों एवं अध्यक्ष जिला पंचायत को भी उपलब्ध कराई जाय, ताकि उनके क्षेत्र में कोई योजना इस वर्ष हेतु छूट गई हो, या आवश्यकीय हो तो उसे सम्मिलित किया जा सकें।
मा0 उपाध्यक्ष ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को शुद्व जल मिले इसका हमे विशेष ध्यान रखना होगा तभी जल जीवन मिशन की परिकल्पना साकार हो सकेगी। उन्होंने कहा कि सरयू पेयजल योजना का प्रस्ताव शासन को प्रेषित किया गया है जिससे आने वाले समय में हमें काफी लाभ प्राप्त होगा। इस दौरान उन्होंने कहा कि सीवर लाईन बिछाये जाने हेतु भी उनकी ओर से निरन्तर प्रयास किया जा रहा है जिससे शहर को सीवर की समस्या से निजात मिल सके। मुख्य विकास अधिकारी मनुज गोयल ने कहा कि जल जीवन मिशन का उद्देश्य हर घर को पेयजल आपूर्ति करना है। इसी लक्ष्य के अनुरूप संबंधित विभाग आपसी समन्वय के साथ कार्य करें। बैठक में सभी सदस्यों द्वारा कहा कि गांव में पेयजल की पर्याप्त मात्रा में आपूर्ति हेतु तकनीकी रूप से सर्वे का कार्य कराया जाय तभी योजना अधिक समय तक जलापूर्ति करेगी। बैठक में परियोजना प्रबंधक स्वजल परियोजना निदेशक नरेश कुमार ने जनपद में जल जीवन मिशन के अंतर्गत योजना के क्रियान्वयन के संबंध में विस्तृत जानकारी एवं प्रस्तावित कार्यों की जानकारी दी गई। बैठक में जिला विकास अधिकारी के0के0 पंत, मुख्य कृृषि अधिकारी प्रियंका सिंह, अधिशासी अभियन्ता जल निगम के0डी0 भटट के अलावा जल संस्थान, जल निगम व अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
———————————————————–

कोविड केयर सेन्टरों की व्यवस्थाआंे का जायजा लिया

अल्मोड़ा। जनपद में कोविड-19 क्वारंटीन एवं कोविड केयर सेन्टरों की व्यवस्थाआंे का जायजा लेने हेतु जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने क्वारंटीन सेंटर तथा कोविड केयर सेन्टरों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओ का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने राजस्व पुलिस एवं भूलेख सर्वेक्षण संस्थान पातालदेवी, जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान डायट व होटल शिखर आदि संस्थानों में निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने क्वारंटीन तथा केयर सेन्टरों की सभी व्यवस्थाओं पर संतोष व्यक्त करते हुये क्वारंटीन व्यक्तियों को मुहैया करायी जा रही सुविधाओं के लिए स्वास्थ्य विभाग की सराहना की। उन्होने कोविड केयर सेन्टर में रखे गये व्यक्तियों की प्रतिदिन काउन्सिलिंग करने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिये। उन्होने भारत सरकार द्वारा समय-समय पर जारी होने वाली कोविड-19 गाइड लाईन का अनुपालन करते हुये सोशल डिस्टैसिंग, मास्क तथा सेनिटाइजेशन प्रयोग के लिए लोगो को प्रेरित करने के लिए भी कहा।
जिलाधिकारी ने कहा कि सेन्टरों में नियमित सेनेटाईजेशन का भी विशेष ध्यान रखा जाय। इसके अलावा भोजन आदि मंे भी विशेष सावधानी बरती जाय। उन्होंने कहा कि सेन्टर में रहे रहे लोगो को किसी प्रकार की असुविधा न हो इसका विशेष ध्यान रखा जाय। ठहरे हुए लोगो को मनोरंजन आदि की भी व्यवस्था करने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिये। इस दौरान उन्होंने सेन्टर में रह रहे लोगो की जानकारी भी प्राप्त की। निरीक्षण के दौरान उपजिलाधिकारी सीमा विश्वकर्मा, नोडल अधिकारी कोविड केयर सेन्टर कमलेश मेहता, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 सविता हयांकी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 योगेश पुरोहित, डिप्टी कलैक्टर गौरव पाण्डे, आपदा प्रबन्धन अधिकारी राकेश जोशी, प्रबन्धक होटल शिखर राजेश बिष्ट, प्राचार्य डायट राजेन्द्र कुमार के अलावा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
———————————————————-
न्यायपंचायतों में विशेष कैम्पों का आयोजन 10 से 23 जून तक

अल्मोड़ा। जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, पी0एम0 किसान सम्मान निधि योजना, प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना एवं किसान के्रडिट कार्ड योजना हेतु विशेष कैम्प का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, पी0एम0 किसान सम्मान निधि योजना, प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना एवं किसान के्रडिट कार्ड हेतु जनपद के सभी न्यायपंचायतों में विशेष कैम्पों का आयोजन किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने बताया कि 10 जून से 23 जून तक जनपद के प्रत्येक न्यायपंचायत पर अभियान चलाकर विशेष कैम्पों का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इन कैम्पांे में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, पी0एम0 किसान सम्मान निधि योजना, प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना एवं किसान के्रडिट कार्ड की जानकारी देने के साथ-साथ कृषकों से सम्बन्धित योजनाओं के आवेदन पत्र भी प्राप्त किये जाएगें। इन विशेष कैम्पों का आयोजन प्रातः 11ः00 बजे से अपरान्ह् 2ः00 बजे के मध्य किया जायेगा। इन कैम्पों में विभागीय स्टाॅल भी लगाकर कृषकों को लाभान्वित किया जाएगा। उन्होंने सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये है कि वे स्वयं अथवा अपने अधीन अधिकारी के माध्यम से आयोजित होने वाले विशेष कैम्पों में अनिवार्य रूप से भाग लेना सुनिश्चित करेंगे ताकि जनपद हेतु आवंटित लक्ष्यों की शत-प्रतिशत पूर्ति की जा सके।
————————————————————-
गैरसंैण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाए जाने का किया विरोध

देहरादून। उत्तराखण्ड चिन्हित राज्य आन्दोलनकारी समिति के कार्यकर्ताओं ने समिति की महिला शाखा की केन्द्रीय अध्यक्ष सावित्री नेगी के नेतृत्व में आज देहरादून में राज्य सरकार द्वारा गैरसंैण को ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित किये जाने संबंधी अधिसूचना पर विरोध दर्ज किया।
चिन्हित राज्य आन्दोलनकारी समिति की अध्यक्ष सावित्री नेगी के नेतृत्व में आये प्रतिनिधिमण्डल जिसमें बिमला रावत, गुड्डी रावत, लक्ष्मी गुसांई, शामिल थे, ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नाम संबोधित पत्र पार्टी के प्रदेश महामंत्री संगठन विजय सारस्वत को सौंपते हुए कांग्रेस पार्टी की सरकार बनने पर गैरसैण को स्थायी राजधानी बनाये जाने के प्रीतम सिंह के बयान को आन्दोलनकारियों की भावनाओं का सम्मान बताते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर पुरोला विधायक राजकुमार, पूर्व विधायक विक्रम सिंह नेगी, पूर्व मंत्री अजय सिह, विशेष आमंत्रित सदस्य सुभाष चैधरी, निवर्तमान मीडिया चेयरमैन राजीव महर्षि, महामंत्री पी.के. अग्रवाल, नवीन जोशी, हरिकृष्ण भट्ट, निवर्तमान प्रवक्ता गरिमा दसौनी, संदीप चमोली, भूपेन्द्र नेगी, कमर खान ताबी, अजय रावत, पुष्कर सारस्वत, शोभाराम आदि उपस्थित थे।
इस अवसर पर प्रदेश महामंत्री संगठन विजय सारस्वत ने कहा कि गैरसंैण में राजधानी बुनियादी ढांचा तथा भवन निर्माण का कार्य कांग्रेस पार्टी की देन है तथा कांग्रेस पार्टी कीे विजय बहुगुणा एवं हरीश रावत के नेतृत्व वाली सरकार ने अपने कार्यकाल में राज्य आन्दोलन की भावना का सम्मान करते हुए गैरसैंण में राज्य की राजधानी की नींव रखी तथा गैरसैंण में सत्र का आयोजन कर शुरूआत की थी जिसका आज भारतीय जनता पार्टी झूठा श्रेय लेने की चेष्टा कर रही है। उन्हांेने कहा कि भाजपा ने सदैव राज्य निर्माण आन्दोलन की भावना को कुचलने का काम किया है।
————————————————-

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *