श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खोलने की तैयारी को दिया गया अंतिम रूप ,15 मई को खुलेंगे धाम के कपाट।

चारधाम यात्रा 2020

श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा। 15 मई को प्रात: खुलेंगे कपाट।

 

*  श्री बदरीनाथ धाम के रावल ऋषिकेश क्वारंटाईन के दौरान स्वस्थ पाये जा रहे।

* उनकी पहली कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आयी नैगेटिव

* पूर्ण स्वस्थ महसूस कर रहे रावल

* एहतियात के तौर पर 4 मई को होगा दूसरा कोरोना टेस्ट

* 24 घंटे मे आयेगी टेस्ट रिपोर्ट

 

* 5 मई को नृसिंह मंदिर  जोशीमठ पहुंच सकते हैं रावल

* 15 मई को  प्रात: 4 बजकर 30 मिनट पर  खुलेंगे श्री बदरीनाथ धाम के कपाट

 * 14 मई शाम बद्रीनाथ धाम पहुंचेंगी आदि गुरू शंकराचार्य जी की गद्दी के साथ उद्धव जी, कुबेर जी एवं गाडू घड़ा( तेल कलश) यात्रा।

* नरेन्द्र राजदरबार से 5 मई को शुरू हो रही तेल कलश यात्रा

 

* कोरोना महामारी से बचाव हेतु सभी कार्यक्रम संक्षिप्त शोसियल डिस्टेंसिंग का होगा पूर्णत पालन।

गोपेश्वर/ ऋषिकेश/ देहरादून:  30 अप्रैल।श्री बदरीनाथ धाम के कपाट इस यात्रा वर्ष 15 मई को प्रात: 4 बजकर 30 मिनट पर खुल रहे है। देवस्थानम बोर्ड के चुनिंदा कर्मचारी विगत दिनों से कपाट खुलने की ब्यवस्थाओं में जुटे हैं।

मंदिर परिसर से बर्फ हटायी जा चुकी है। मंदिर पर रंग रोगन भी भी अंतिम चरण में है। पानी बिजली ब्यवस्था बहाल की जा चुकी है। इस दौरान शोसियल डिस्टेंसिंग (शारीरिक दूरी) का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है।

उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम् बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा.हरीश गौड़ ने यह जानकारी देते हुए बताया कि विगत दिनों देवस्थानम बोर्ड के कर्मचारी अधिकारी तैयारियों हेतु बदरीनाथ धाम पहुंचे थे। देवस्थानम बोर्ड के अभियंता विपिन तिवारी एवं अवर अभियंता गिरीश रावत कार्य करवा रहे है। बताया कि गढ़वाल आयुक्त एवं  देवस्थानम बोर्ड के सीईओ  रमन रविनाथ ने चार धाम कपाट खुलने की तैयारियों हेतु आदेश किये थे गंगोत्री-यमुनोत्री में उपजिलाधिकारी भटवाड़ी एवं बड़कोट को निर्देशित किया गया था।   बी. डी. सिंह (आईएफएस) को बदरीनाथ एवं केदारनाथ में कपाट खुलने की तैयारियों का जिम्मा दिया गया। 

कोरोना महामारी पर नियंत्रण के पश्चात चारधाम यात्रा जल्दी शुरू होने की उम्मीद जताई जा रही है। यद्यपि अभी  चारों धामों  के केवल कपाट खुल रहे है 

इस क्रम में  अक्षय तृतीया 26 अप्रैल को श्री गंगोत्री-यमुनोत्री धाम एवं कल 29 अप्रैल को श्री केदारनाथ धाम के कपाट खुल गये हैं।

 कोरोना महामारी से बचाव के तहत जारी सरकारी एडवाइजरी के अनुसार फिलहाल  धार्मिक स्थलों में तीर्थ यात्रियों को आने की अनुमति नहीं है।  सीमित संख्या में ब्यवस्थाओं से जुड़े चुनिंदा लोग श्री बदरीनाथ धाम में उपस्थित रहेंगे

बताया कि श्री बदरीनाथ धाम के रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी ऋषिकेश में 14 दिन के क्वारंटीन में है एवं वह स्वस्थ है तथा उनके तीन सेवादारों का स्वास्थ्य भी सामान्य है।  एम्स  ऋषिकेश से उनकी पहली कोरोना रिपोर्ट नैगेटिव आयी है। ऐहतियातन 4 मई को उनका दूसरा कोरोना टेस्ट होना है आशा है कि सब कुछ सामान्य रहेगा एवं  उसके पश्चात 5 मई को नृसिंह मंदिर जोशीमठ पहुंच जायेंगे।

कपाट खुलने के कार्यक्रम के तहत 13 मई बुधवार को नृसिंह मंदिर जोशीमठ से आदि गुरू शंकराचार्य जी की डोली प्रस्थान  योग-ध्यान बदरी मंदिर पांडुकेश्वर प्रस्थान करेगी। 14 मई को श्री उद्धव जी एवं कुबेर जी गाडू घड़ा (तेल कलश) यात्रा

के साथ शांयकाल तक श्री बदरीनाथ धाम पहुंच जायेंगे।

नरेन्द्र नगर राजदरबार से तेल कलश यात्रा 5 मई को शुरू हो रही है। 

15 मई को प्रात: 4 बजकर 30 मिनट पर श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुल जायेंगे। इस दौरान शोसियल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाने तथा मास्क लगाने से लेकर साफ सफाई सेनिटाइजेन का ध्यान रखे जाने के निर्देश हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार

विभिन्न धार्मिक संस्थाओं की ओर से विधानसभा बदरीनाथ विधायक महेंद्र भट्ट एवं गंगोत्री विधायक गोपाल सिंह रावत को उत्तराखंड चार धाम देवस्थानम्  बोर्ड का माननीय सदस्य नामित किये जाने पर  बधाईयों का सिलसिला जारी है। उल्लेखनीय है कि विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने दोनों विधायकों को नामित किया।तथा विधान सभा सचिव द्वारा कल अधिसूचना जारी की गयी थी। वहीं आयुक्त /  देवस्थानम बोर्ड सीईओ रमन रविनाथ ने चमोली जिले के मुख्य कोषाधिकारी दीपक चंद्र भट्ट को   देवस्थानम् बोर्ड के वित्त नियंत्रक का अतिरिक्त प्रभार  दिये जाने के आदेश दिये हैं ताकि देवस्थानम बोर्ड के वित्तीय देयकों, आय-ब्यय आदि वित्तीय मामलों को गति मिल सके।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *