प्रवासियों को 14 दिन हरिद्वारऋषिकेश में कवरन्टीन के लिए रखें -जीतमणि पैन्यूली

पहाड़ों की गूंज का कहना है कि प्रवासियों को 14 दिन हरिद्वार में रखें

 

उत्तराखंड प्रदेश के प्रवासी काफी परेशानी में है पत्र लगातार जनता की परेशानियों से केंद्र एवं राज्य सरकार से सुधार लाने के लिए जनसरोकार के मुद्दे उठा रहे हैं ।पूर्व विधायक से वार्ता का vdo

https://youtu.be/YMCYylLt_Og
देखें http://ukpkg.comन्यूज पोर्टल वेव चैनल,जनहित में शेयर किजयेगा।

कोरोना से बचाव के लिए बराबर जन सम्बाद करते हुए स्वछ पत्रकारिता के माप दण्ड को आगे बढ़ाने में उत्तराखंड की जनता एवं देश के बचाव के कार्य में तल्लीन है।

आज हमारा देश पोलियो से मुक्ति नहीं ले पाया, एड्स,कैंसर बाएं पसारे हुए हैं कैंसर से हजारों लोग रोज मर रहे हैं। कोरोना-19 कोविड उपन्यास बैक्टीरिया की खबर दिसम्बर 2019 से चल रही है।

हमारे देश के नोकर शाहओं को अरबों रुपये चीन दूतावास में जनता का उड़ाते हुए कोई ठोस परिणाम नहीं दे पा रहे हैं ।इसके बारे में उपन्यास1982 में प्रकाशित किया गया था तब से हमारे दूतावास एक नोबेल नहीं खरीद कर उसपर विचार करने के लिए समय नहीं दे सका
आज यह बीमारी फैलने जारही है उत्तराखंड में141 आज दिन तक हो गये।
प्रदेश सरकार के नगर विकास मंत्री एवं प्रवक्तता मदन कौशिक हरिद्वार से प्रतिनिधित्व करते हैं।धर्मस्व एंव पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के बहुत बड़े आश्रम भी है।

देश के कोने कोने से आदमी वहीं आते हैं। हरिद्वार ,रिश्केश में 500 से ज्यादा आश्रम हैं जहाँ एक लाख से भी ज्यादा यात्री हमेशा रुकते हैं आज कल खाली है आश्रम जन सेवा के लिए साधु संतों ने बनाये रखें है। जो लोग आरहे हैं उन्हें 14 दिन तक वहीं रखने की व्यबस्था किजयेगा।तो उत्तराखंड के पर्वतीय इलाकों इस महामारी की चपेट में नहीं आयेंगे।

आज गाँव में लोग कवरन्टीन के मसले पर बैमनस्यता फैल रही है। और बीमारी के टेस्ट में समय बर्बाद होने लगे हैं।सरकार को वहां चेकपोस्ट पर चेकअप करते हुए रिपोर्ट आने तक रोकडेना चाहिए।इस सम्बंध में पूर्व विधायक विक्रम सिंह नेगी, कांग्रेस ब्लाक अध्यक्ष सब्बल राणा, पूर्व प्रमुख प्रतापनगर पूर्ण चंद रमोला, पूर्व प्रधान खरौली प्रेम सिंह, पूर्व प्रधान खोलगड प्रतापनगर महाबीर सिंह, शीशपाल रमोला रमोल गाँव,हर्षमणी पैन्यूली लिखवार गाँव ने कहा कि सरकार को जनकारी है कि इस महामारी को रोकने के लिए वेक्सीन तैयार नहीं हो पाई है तो हरिद्वार, ऋषिकेश में कवरन्टीन कर प्रवासी की हिपाजत होसकती है वहां पर आयुर्वेद संस्थान मौजूद है। अन्य हॉस्पिटल भी मौजूद है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *