पत्र एवं पोर्टल परिवार की ओर से9,01,232 सुधी पाठकों को रामनवमी की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं

पत्र एवं पोर्टल परिवार की ओर से 901232 सुधी पाठकों को रामनवमी की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं

भगवान राम के जन्मोत्सव का यह पर्व हमें  भारतीय संस्कृति के उदात्त गुणों, भक्ति, श्रद्धा, शक्ति, शान्ति, शील तथा सदाचार की प्रेरणा प्रदान करते हुए गौरान्वित करता है। वहीं श्री राम का जीवन चरित्र आदर्श जीवन के साथ ही आचरण की शुद्धता के लिए हमे मनुष्य होने के  नाते प्रेरित करता है।
सम्पादक जीतमणि पैन्यूली ने इस पावन पर्व पर प्रदेश एंव देश के नेताओं के लिए सन्देश दिया कि मनुष्य जो बोलते हैं वह मनन करने के बाद बोलता है तब ही वह मनुष्य कहने लायक है ।अन्यथा वह पशुओं की श्रेणी में है हमारे नेता पशुओं की श्रेणी में आने का प्रयास न करें  जो बोलते हैं उसे पूरा कर आगे बोलते रहें।नेताओं को अमर्यादित नहीं होना चाहिए । पैन्यूली ने कहा कि भगवान राम अपने अच्छे कर्मों से  मर्यादा पुरुषोत्तम राम कहलाये उन्होंने राजा होकर भी दलित समाज बंचितों की सेवा की वह राजा होकर भी राजाओं से मदत नहीं मांगी वह कोल भील ,केवट, बानर ,शबरी, के घर गये ।आज राम की भूमि पर राम के नाम पर सत्ता पाकर भस्मासुर की भूमिका हमारी सरकार निभाने का काम करते हुए सभी हदे पार करने लगी हैं उन्हें इन बूरी प्रबृत्ति से बचाने में श्री राम मदद करते हुए इन्हीं शब्दों के साथ पत्र एवं पोर्टल परिवार  प्रदेश एवं देश की खुशहाली की  कामना की है।  

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *