बिजली पानी की बढ़ती कीमतों को लेकर शान्ति ठाकुर ने मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन। सकारात्मक कार्रवाई न होने पर दी आंदोलन की चेतावनी।

बिजली पानी की बढ़ती  कीमतों को लेकर शान्ति ठाकुर ने  मुख्यमंत्री  को भेजा ज्ञापन।                       सकारात्मक  कार्रवाई न होने पर दी आंदोलन की  चेतावनी।                                    बड़कोट।   (मदनपैन्यूली )                                                                                  दिल्ली में चुनाव के अब उत्तराखंड में भी  बिजली पानी मुफ्त  की मांग शुरू हो गई है।  प्रदेश में बिजली और पानी के बिलों में लगातार हो रही बढ़ोतरी से खफा ग्लेशियर लेडी शांति ठाकुर ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा है । बिजली-पानी के  बिलों में की जा रही बढ़ोतरी पर अंकुश लगाने की मांग की है।  तथा इस मांग पर सकारात्मक कार्यवाही नही किये जाने पर जनता के साथ मिलकर आंदोलन करने की भी चेतावनी दी है। 

 

तिलु रौतेली पुरस्कार से सम्मानित ग्लेशियर शांति ठाकुर ने शनिवार को बड़कोट में बिजली और पानी के बिलों में लगातार हो रही बढ़ोतरी लर गहन नाराजगी जताई। उन्होंने यहां पत्रकारों से वार्ता कर कहा कि उत्तराखंड से पानी और बिजली अन्य राज्यों तक पहुंच रही है। लेकिन, जिस राज्य से पानी निकल रहा है और बिजली बन रही है, उस राज्य में हर साल लगातार बिजली और पानी के बिल बढ़ाये जा रहे हैं। इससे प्रदेश के गरीब लोगों का शोषण किया जा रहा है। बढ़े हुए इन बिलों से लोग परेशान हैं। यहां का पानी व बिजली के बिलों से आम जनता त्रस्त है। और दिल्ली में लोगों को बिजली व पानी मुफ्त में मिल रहा है। जबकि उत्तराखंड के लोगों के लिए बिजली, पानी की मुफ्त व्यवस्था होनी चाहिए थी। जहां से करीब आधे देश बिजली और पानी मिल रहा है। 

लेकिन, उत्तराखंड के वासियों को खूब महंगी बिजली, पानी मिल रहा है।  कुल मिलाकर देखा जाए तो   प्रदेश में जो भी सरकार रही उसने उत्तराखंड के गरीबों का लगातार शोषण किया है, सभी ने यहां के गरीबों के हितों की लगातार अनदेखी की है। 

ग्लेशियर लेडी शांति ठाकुर ने इस मौके पर प्रदेश के मुख्यमंत्री को भी ज्ञापन भेजकर बिजली एवं पानी के बढ़े हुए बिलों को कम करने तथा प्रदेश के गरीब लोगों को कम दर पर बिजली व पानी देने की मांग की। साथ ही उन्होंने यह भी चेतावनी दी है कि यदि बढे हुए इन बिलों पर अंकुश लगाने के लिए कोई उचित कार्यवाही नहीं की जाती है तो, वह आम लोगों के साथ मिलकर आंदोलन करने को मजबूर होंगे। इस मौके पर अजय पाल सिंह अनिल कुमार ,रमेश जगूड़ी, बबीता, संगीता, आराधना, कुलवंती, राजकुमारी संदीप चौहान आदि मौजूद रहे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *