वैली ब्रिज टूटने से भारत की रक्षा तैयारियों को बड़ा झटका

पिथौरागढ़। भारतकृचीन सीमा को जोड़ने वाला सिनर नाले पर बना वैली ब्रिज टूट गया है। जिससे भारत की सीमा पर तैयारियों को बड़ा झटका लगा है।
जानकारी के अनुसार भारत चीन सीमा को जोड़ने वाला यह वैली ब्रिज सामरिक दृष्टि से अत्यन्त ही महत्व का माना जाता था। यही एक मात्र पुल था जो भारत को चीन सीमा से मिलम रोड के माध्यम से पहुंचने का रास्ता था। चीन के साथ जारी संघर्ष के बीच भारत ने सीमा पर अपनी रक्षा तैयारियों को आगे बढ़ाते हुए तेजी से रोड निर्माण का काम किया जा रहा है। इसी क्रम में मिलम रोड के चैड़ी करण का काम बीआरओ द्वारा किया जा रहा है। हालांकि रोड निर्माण के लिए बड़ी बड़ी मशीनें व निर्माण सामग्री हवाई मार्ग से पहुंचाई जा रही है लेकिन आज एक लोडर ट्रक द्वारा भारी भरकम पोकलैंड मशीन को इस वैली ब्रिज से ले जाते समय यह पुल भरभरा कर गिर गया।। जिसमें मशीन व ट्रक को तो नुकसान पहुंचा ही साथ ही पुल टूटने से भारी नुकसान हुआ है। इस हादसे में दो लोग घायल भी हुए है।
इस वैली ब्रिज से इतनी भारी भरकम मशीन व ट्रकों को लेकर जाना प्रतिबन्धित है फिर भी इसे ले जाने की इजाजत किसके द्वारा दी गयी यह बड़ा सवाल है। चीन के साथ भारी तनाव के बीच सीमा पर व्यवस्थाएं सुधारने की कोशिशों को इस दुर्घटना से बड़ा झटका लगा है। हादसे के लिए बीआरओ के अधिकारी जिम्मेदार है या कोई और यह बात तो अलग है लेकिन मिलम रोड निर्माण(चैड़ी करण) का भी अब तब तक कोई फायदा नहीं हो सकता है जब तक इस पुल का पुर्ननिर्माण नहीं हो पाता।
यह दुर्घटना एक बड़ी लापरवाही है जिसे लेकर अब हड़कंप मचा हुआ है।। वैली ब्रिज के टूटने से भारत की रक्षा तैयारियों को बड़ा झटका लगा है। राज्य में 345 किलोमीटर लम्बी चीन सीमा पर इन दिनों फोर्स व तोपों की तैनाती की जा रही है। वहंीं ऐसे समय में इस पुल का टूटना इन तैयारियों में बड़ी बाधा बन गया है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *