हरेला पर्व पर उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड ने बदरीश वन में वृक्षारोपण किया

Vdo में श्री बद्रीनाथ धाम की यात्रा मन से कीजयेगा,शेयर कर पुण्य प्राप्त कीजयेगा।

श्री बदरीनाथ धाम : उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड तथा वन विभाग,  पुलिस,नगर पंचायत बदरीनाथ एवं हक-हकूकधारियोके संयुक्त तत्वावधान में बदरीनाथ धाम स्थित देवदर्शनी के निकट बदरीश वन में वृक्षारोपण किया गया। इस अवसर पर प्रदेश के मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि के तौर पर चार धाम विकास परिषद के उपाध्यक्ष आचार्य शिव प्रसाद ‌ममगाई‌ ने  वृक्षारोपण की शुरुआत की गई।

24×7 देखें न01 http://ukpkg.comन्यूज़पोर्टल वेब चैनल

सावन सक्रांति एवं हरेला पर्व के महत्व पर भी चर्चा की।इससे पूर्व उन्होंने ने भगवान बदरीविशाल के दर्शन किये तथा सबके सुख-समृद्धि की कामना की।
कोरोना संकट से उबरने हेतु भी प्रार्थना की।
बताया कि देश में कोरोना महामारी समाप्त होते ही चारधाम यात्रा को गति मिलेगी।
इस अवसर पर आचार्य ममगाईं ने कहा कि शास्त्रों में  एक वृक्ष को सौ पुत्रों के समान बताया गया है। प्रकृति की रक्षा से ही जीव जगत सुरक्षित रह सकता है। इस अवसर पर विभिन्न प्रजातियों के डेढ़ सो पौधौं का रोपण किया गया।प्रात:काल भगवान बदरीनाथ जी के मंदिर खुलने के साथ रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी ने मंदिर सिंहद्वार पर पौधों को साक्षी मानकर पूजा की इसके बाद देवस्थानम बोर्ड के कर्मचारी-अधिकारी पौधौं को लेकर बदरीश वन की तरफ रवाना हुए तथा वृक्षारोपण किया गया। उल्लेखनीय है कि बदरीश स्मृति वन में बदरीनाथ दर्शन को पहुंचनेवाले श्रद्धालु अपने पूर्वजों की स्मृति में कई वर्षों से वृक्षारोपण करते है।
जिससे पूर्वजों की चिरस्थायी स्मृति बनी रहती है तथा पर्यावरण संरक्षक के प्रति भी जागरूक बनी रहती है।बदरीश स्मृति वन  वृक्षारोपण कार्यक्रम में चार धाम विकास परिषद के उपाध्यक्ष आचार्य शिव प्रसाद ‌ममगाई‌, उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बी.डी.सिंह,  उप मुख्य कार्याधिकारी सुनील तिवारी, थाना प्रभारी सत्येंद्र सिंह नेगी,अपर धर्माधिकारी सत्यप्रसाद चमोला, सहायक मंदिर अधिकारी राजेन्द्र सिंह चौहान, प्रबंधक राजेन्द्र सेमवाल, अवर अभियंता गिरीश रावत, डॉ हरीश गौड़ मीडिया प्रभारी,दफेदार कृपाल सनवाल, नारायण नंबूदरी सहित  बामणी एवं माणा ग्राम, डिमरी पंचायत, पंडा पंचायत के  प्रतिनिधि,  हक-हकूकधारी वन विभाग एवं नगर पंचायत  के अधिकारी- कर्मचारी,साधु संत  शामिल हुए।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *