मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की अध्यक्षता में उत्तराखण्ड चारधाम देवस्थानम प्रबन्धन बोर्ड की पहली बैठक आयोजित की गई

https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=1131355627257373&id=100011488401321?sfnsn=wiwspwa&extid=QlcDp8llNWZghuB6    कवि ,पत्रकार मनमोहन बधानी का कोरोना का गीत सुने अपना बचाव करें।

देहरादून – मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की अध्यक्षता में आज सीएम आवास में उत्तराखण्ड चारधाम देवस्थानम प्रबन्धन बोर्ड की पहली बैठक आयोजित की गई। बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि विश्वभर में उत्तराखण्ड आध्यात्म का केन्द्र है। उत्तराखण्ड के मन्दिरों की प्राचीन शैली इसकी विशिष्टता है। इसको बनाये रखने के लिए यह सुनिश्चित किया जाय कि मन्दिरों का प्राचीन स्वरूप बना रहे। जो लोग मन्दिरों के आॅनलाईन दर्शन करना चाहते हैं, उन्हें गर्भगृह को छोङकर बाकी मन्दिर परिसर के आनलाईन दर्शन और आडियो के माध्यम से पूजा-अर्चना करने की सुविधा उपलब्ध कराई जाए। साथ ही इसमें धार्मिक मान्यताओं का भी पूरा ध्यान रखा जाय।

साथ ही उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड चारधाम देवस्थाम प्रबन्धन बोर्ड में सबके विशेष रूप से तीर्थ पुरोहितों के हक-हकूकों का ध्यान रखा जायेगा। साथ ही बैठक में मन्दिरों से जुड़ी प्रमुख पाण्डुलिपियों और अन्य ऐतिहासिक महत्व के सामग्री संग्रहण के लिए संग्रहालय बनाने पर भी चर्चा की गई है।

बोर्ड की इस पहली बैठक में निर्णय लिया गया कि राज्य सरकार द्वारा धार्मिक यात्रा के समुचित संचालन के लिए अन्तर्विभागीय समन्वय के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया जायेगा। उत्तराखण्ड चारधाम देवस्थानम प्रबन्धन बोर्ड का अलग लोगो बनाया जायेगा। मन्दिरों की सम्पति, निधि, बहुमूल्य वस्तुओं को बोर्ड के प्रबंधन में अन्तरित करने के लिए मुख्य कार्यकारी अधिकारी को अधिकृत किया गया है, इसके लिए कार्यवाही सबंधित जिलाधिकारियों द्वारा की जायेगी। उत्तराखण्ड चारधाम देवस्थानम प्रबन्धन बोर्ड का अलग बैंक एकाउण्ट होगा। इसके लिए बैठक में राज्य सरकार द्वारा 10 करोड़ रूपये की धनराशि की स्वीकृति दी गई है। बद्री-केदार मंदिर समिति की अवशेष धनराशि भी उत्तराखण्ड चारधाम देवस्थानम प्रबन्धन बोर्ड में ट्रांसफर की जायेगी। बद्री-केदार मंदिर समिति के कार्मिकों का समायोजन उत्तराखण्ड चारधाम देवस्थानम प्रबन्धन बोर्ड में की जायेगी। बोर्ड के लिए अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी की नियुक्ति की जायेगी और वित्त नियंत्रक का एक पद सृजित किया जायेगा। उत्तराखण्ड चारधाम देवस्थानम प्रबन्धन बोर्ड में विभिन्न न्यायिक मामलों के लिए ट्रिब्यूनल बनाई जायेगी। एनआईसी द्वारा बद्री-केदार मंदिर समिति के लिए बनाई गई वेबसाइट का अधिग्रहण कर इसका अपग्रेडेशन किया जायेगा।

इस अवसर पर उत्तराखण्ड चारधाम देवस्थानम प्रबन्धन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन ने कोविड -19 के दृष्टिगत बद्री-केदार मन्दिर समिति के कार्मिकों द्वार दिये गये एक दिन के वेतन का 5 लाख रूपये का चेक मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को सौंपा।
उत्तराखण्ड चारधाम देवस्थानम प्रबन्धन बोर्ड के उपाध्यक्ष सतपाल महाराज ने मानव उत्थान सेवा समिति के माध्यम से भी बोर्ड को 5 लाख एक रूपये की धनराशि देने की घोषणा की। इस अवसर पर उन्होंने अपने महत्वपूर्ण सुझाव भी रखे।

बैठक में विधायक बदरीनाथ महेन्द्र भट्ट, विधायक गंगोत्री गोपाल सिंह रावत, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, सचिव पर्यटन, संस्कृति दिलीप जावलकर, सचिव वित्त सौजन्या, मुख्य कार्यकारी अधिकारी उत्तराखण्ड चारधाम देवस्थानम प्रबन्धन बोर्ड रविनाथ रमन मौजूद रहे।
आगे पढ़ें
मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत को कोविड-19 के दृष्टिगत शुक्रवार को मुख्यमंत्री राहत कोष हेतु  सीताराम भट्ट, महानगर अध्यक्ष, भारतीय जनता पार्टी, देहरादून द्वारा विभिन्न दानदाताओं के माध्यम से 5 लाख 24 हजार 463 रूपये एवं 1 लाख 46 हजार 205 रूपये पीएम केयर्स फण्ड हेतु प्रदान किये।
     श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समित द्वारा मुख्यमंत्री राहत कोष हेतु 3 लाख 10 हजार 710 रूपये, नगर पालिका परिषद, पौड़ी के कर्मचारियों द्वारा अध्यक्ष नगर पालिका परिषद पौड़ी  यशपाल बेनाम के माध्यम से 01 दिन के वेतन की धनराशि 52 हजार रूपये प्रदान की।  यशपाल बेनाम द्वारा अपनी एक माह की पेंशन की धनराशि 48 हजार रूपये का चेक भी मुख्यमंत्री राहत कोष हेतु प्रदान किया गया।
     अध्यक्ष, चारधाम विकास परिषद, आचार्य शिव प्रसाद मंमगाई द्वारा अध्यक्ष बद्रीश कॉलोनी कल्याण समिति की ओर से 11 हजार रूपये तथा बद्रीश कॉलोनी के श्री दिनेश चन्द्र काला की ओर से 2 हजार 100 रूपये की धनराशि का चेक मुख्यमंत्री राहत कोष हेतु प्रदान किया।
     इसके साथ ही  विपिन्न कुमार, जसपुर, ऊधम सिंह नगर द्वारा 11 हजार रूपये,  सचिन बाठला, जसपुर, ऊधमसिंह नगर द्वारा 21 हजार रूपये,  शुभम चौहान, जसपुर, ऊधमसिंह नगर द्वारा 5 हजार 100 रूपये, सुश्री मधु गुसांई द्वारा 25 हजार रूपये,  सुखवीर सिंह पुत्र  केम सिंह द्वारा 11 हजार रूपये,  यशपाल सिंह नेगी द्वारा 11 हजार रूपये,  पदम सिंह द्वारा 10 हजार रूपये, सुश्री शान्ति रावत द्वारा 5 हजार रूपये,  दिनेश कुमार द्वारा 5 हजार 100 रूपये,  धर्मपाल सिंह बिष्ट द्वारा 5 हजार 100 रूपये की धनराशि मुख्यमंत्री राहत कोष हेतु प्रदान की गई है।
आगे पढ़ें

 मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कोविड-19 के दृष्टिगत प्रगति विहार रायपुर, देहरादून निवासी 85 वर्षीय पूर्व प्रधानाचार्य,  मनोहर सिंह रावत द्वारा अपने 85 वें जन्मदिन पर 85 हजार रूपये मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करने के लिये उनकी दानशीलता की भावना का आभार जताया है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने उनका शॉल भेंट कर सम्मान करते हुए कहा कि इस वैश्विक महामारी के विरूद्ध लड़ाई में हमारे बुजुर्गों का भी निरंतर आशीर्वाद हमें प्राप्त हो रहा है जो हमारे मनोबल को बढ़ाने में भी मददगार हो रहा है। इससे पूर्व भी  मनोहर सिंह रावत द्वारा 15 हजार रूपये की धनराशि मुख्यमंत्री राहत कोष हेतु जमा कराई गई है।====.===========================.===

आप न्यूज पोर्टल के जनहित कार्य को बढ़ावा देने के लिए सहयोग करना चाहते हैं ।

तो जरूर किजयेगा।जनता की सेवा में सदैव तत्पर रहते हुए हर खबर आप तक सबसे पहले निशुल्क पहुंचाने में प्राथमिकता रखते हैं।
Bank of india
Pahadon ki goonj
a/c -705330110000013,
Ifsc – BKID0007053, branch -code7053, micr code -248013004, pan -BLVPM3454K

पहाड़ों की गूँज प्रदेश में ही नही देश विदेश में  प्रतिष्ठित समाचार  पत्र एवं न्यूज पोर्टल वेव चैनल  मीडिया की हिंदी http://ukpkg.comवेबसाइट है।www.ukpkg.com में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं।
हमारी वेबसाइट उत्तराखंड सरकार से विज्ञापन के लिए ए श्रेणी में मान्यता प्राप्त है ।
आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें pahadonkigoonj@gmail.com ,वट्सप नंबर 7983825336,पर भेज सकते हैं या हमारे  नंबर 8755286843पर संपादक जीतमणिपैन्यूली  भी संपर्क कर सकते हैं।
साथ ही ग्रह लग्न के अनुसार रोजगार पाने की निशुल्क जानकारीउज्वल भविष्य के लिए प्राप्त करने के लिए कार्यलय मे सम्पर्क कर सकते हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *