शांतिकुंज आपदा प्रबंधन की राहत टीम बिहार, उत्तराखंड, केरल व महाराष्ट्र के बाढ़ पीडितों की सेवा में जुटी है

गांव-गांव जाकर भोजन, कपड़े, तिरपाल आदि कर रहे हैं वितरित
हरिद्वार,। शांतिकुंज आपदा प्रबंधन की राहत टीम बिहार, उत्तराखंड, केरल व महाराष्ट्र के बाढ़ पीडितों की सेवा में जुटी है। बिहार में शांतिकुंज आपदा प्रबंधन के समन्वयक राकेश जायसवाल, उत्तराखण्ड में दिनेश मैखुरी, अनिल जी, महाराष्ट्र में कैलाश महाजन तथा केरल में महेश राजपुरोहित, रमेश नायर के नेतृत्व में गायत्री के स्वयंसेवक एवं चिकित्सा टीम राहत कार्य में जुटी हैं।
अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ प्रणव पण्ड्या ने बताया कि विगत तीन सप्ताह से बिहार के दरभंगा, मधुवनी जिला सहित सीतामढ़ी के अधरी व पुरौना में बाढ़ पीडितों के लिए भोजनालय चलाया जा रहा है। इसमें बिहार तथा ओडिशा के कई जिलों के कार्यकर्त्ता सेवा कार्य में जुटे हैं। इसके साथ ही एक चिकित्सा टीम बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में चिकित्सा सेवा प्रदान कर रही है। इसी तरह उत्तराखण्ड़ के रुद्रप्रयाग व चमोली में, महाराष्ट्र के कोल्हापुर व सांगली में तथा केरल के वायनाड आदि जिलों में गायत्री परिवार के कार्यकर्ता भाई-बहिन बाढ़ पीड़ितों के लिए भोजन, कपड़े आदि पहुंचाने के कार्य में लगे हैं। इन राज्यों में स्थानीय प्रशासन के अधिकारी व कर्मचारी भी गायत्री परिवार द्वारा चलाये जा रहे राहत सेवा कार्यों में सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के निकटवर्ती जिलों के गायत्री परिवार के कार्यकर्त्ताओं को भी यथासंभव सहयोग करने के लिए कहा गया है। शांतिकुंज की इकाई के रूप में कार्य कर रहे हमारे प्रज्ञा संस्थान, जोन व उपजोन के वरिष्ठ परिजन सेवा कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। बिहार के सीतामढ़ी, मधुवनी सहित कई जिलों के बाढ़ पीडितों को चावल, आटा व अन्य खाद्य सामग्री के साथ कपड़े, तिरपाल आदि वितरित किये गये और यह क्रम आगे भी जारी रहेगा। गायत्री परिवार की पहली प्राथमिकता है कि पीड़ितों को रोटी और कपड़ा जैसे मूलभूत आवश्यकताओं को पूरा करना है। हमारे एक हजार से अधिक स्वयं सेवक बाढ़ पीड़ितों की सेवा में जुटे हंै। आवश्यकतानुसार इन क्षेत्रों में और स्वयंसेवक भेजे जायेंगे, जिससे बाढ़ पीड़ितों तक आसानी से भोजन आदि राहत सामग्री पहुंचाया जा सके। अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ पण्ड्या ने कहा कि शांतिकुंज परिवार बाढ़ पीडितों के दुःख की इस घड़ी में उनके साथ खड़ा है।
————————————————————
प्रेम एवं सद्भाव को बढ़ाने में खेलों का अहम योगदानः संजय गुलाटी    
स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर भेल में सद्भावना मैच आयोजित किया जारहा है
हरिद्वार, बीएचईएल में 73वें स्घ्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्घ्य में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इसी क्रम में भेल स्घ्पोटर्स क्घ्लब द्वारा अधिकारियों और श्रमिक संगठनों के प्रतिनिधियों के बीच एक बैडमिन्घ्टन सद्भावना मैच आयोजित किया गया। बीएचईएल सेक्टर.1 स्थित खेल भवन में आयोजित इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कार्यपालक निदेशक (हीप) संजय गुलाटी एवं विशिष्ट अतिथि कार्यपालक निदेशक (सीएफएफपी) जे. पी, सिंह थे। 
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए संजय गुलाटी ने कहा कि आपसी सदभाव एवं प्रेम को बनाए रखने में खेलों का अहम योगदान है। बीएचईएल की प्रगति में ऐसे कार्यक्रम एवं लोगों की करतल ध्वनियों की महत्वपूर्ण भूमिका है जो कर्मचारियों को आगे बढ़ने हेतु प्रेरित करती हैं। जे. पी, सिंह ने कहा कि बीएचईएल को और आगे बढ़ाने के लिए यूनियनए एसोशियएशन एवं प्रबंधिका को और अधिक मिलजुल कर काम करना होगा। इससे पहले स्पोर्टस क्लब के अध्यक्ष एवं महाप्रबंधक (वैक्स) संजय सक्सेना ने अपने सम्बोधन द्वारा सभी अथितियों का स्वागत किया। इस अवसर पर स्पोर्टस क्लब के संरक्षक महाप्रबंधक यमानव संसाधन एवं टैक्सद्ध संजय सिन्हा अनेक महाप्रबंधकगणए संयुक्त सचिव संजीव चैहान, यूनियन एवं एसोसिएशन के पदाधिकारी आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन महासचिव स्पोर्टस क्लब आलोक सी. केरकेट्टा द्वारा किया गया।      
————————————————————
उतरी हरिद्वार में हॉस्पिटल नहीं बनने के लिए सभी जनप्रतिनिधि जिम्मेदारः सुनील सेठी                                          
हरिद्वार,। व्यापारी नेता सुनील सेठी ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर जाम के कारण गर्भवती महिला की मौत पर दुःख जताते हुए महिला की मौत के लिए जनप्रतिनिधियों को जिम्मेदार ठहराया। सुनील सेठी ने कहा कि बड़े बड़े गड्ढे, टूटे हाईवे और जरा सी भीड़ बढ़ने पर जाम हो जाता है। जनप्रतिनधियों की लापरवाही के कारण अब तक हजारो लोग अपनी जाने गवां चुके हैं। 
सरकारें ओर जनप्रतिन्धी कुम्भकर्णी नींद में सोए हुए है। एक तरफ ट्रैफिक नियमो का उल्लंघन करने पर कई गुना जुर्माना वसूलने को तो नए नए नियम सरकारें जनता पर लागू करती हैं। लेकिन जो व्यक्ति इन टूटी सड़कों पर जाम की वजह से इस हाईवे पर अपनी जान गवा देते हैं। उसके लिए इन सरकारों के पास कोई समाधान नही है। हरिद्वार का दुर्भाग्य है कि कैबिनेट मंत्री, केंद्रीय मंत्री ,पर्यटन मंत्री सालां से हाईवे की दुर्दशा को सुधार नही पाए। पूरी कांवड़ यात्रा इन टूटे व बड़े बड़े गड्डो में ही शिवभक्तों ने पूरी की। बरसात के कारण सड़कों के ठीक हिस्सों पर भी बड़े बड़े गड्ढे हो गए हैं। पूरे हाईवे की हालत खराब है। टू व्हीलर वाले तो हाईवे पर जाने से डरने लगे हैं। रोजाना लोग चोटिल हो रहे हैं। जो घटना कल घटित हुई वो तो बहुत ही दुखद है। सुनील सेठी ने बताया कि कल की घटना की खबर के साथ एक शिकायती पत्र पीएमओ ऑफिस पर देश के प्रधानमंत्री को लिखकर उनसे हरिद्वार के हाईवे में जल्द सुधार टूटे ओर जर्जर हाईवे पर हुई मौत के लिए जिम्मेदाए दोषी अधिकारियो पर कार्यवाही की मांग की। साथ ही उतरी हरिद्वार में हॉस्पिटल निर्माण की मांग भी की गई है। शिकायत भेजने वालो में शहर अध्यक्ष तेज प्रकाश साहू, ज्वालापुर अध्यक्ष विनय श्रोत्रिय, मायापुर अध्यक्ष जितेंद्र चैरसिया, पंकज माटा, राजेश सुखीजा, तरुण व्यास,प्रमोद पाल, भूदेव शर्मा, दीपक पांडेय, संजय मेहता,  अनूप मेहता, प्रीत कमल शर्मा, रविन्द्र चैहान, रितेश वशिष्ट, राजेश शर्मा, पंकज शर्मा, राहुल अरोड़ा, राहुल चैहान, अमित शर्मा, देवेंद्र अरोड़ा, प्रीतम सिंह, मोहित शर्मा, मुकेश अरोड़ा, रोहित भसीन, दीपक मेहता शामिल रहे।
———————————————————
उत्तराखण्ड क्रान्ति दल का द्विवार्षिक महाधिवेशन सम्पन्न
हरिद्वार, उत्तराखण्ड क्रांतिदल के संस्थापक अध्यक्ष स्वर्गीय डीडी पंत के जन्म शताब्दी वर्ष पर द्विवार्षिक महाधिवेशन भारत सेवाश्रम संघ में आयोजित किया गया। पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने स्वर्गीय डीडी पंत के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किए। अधिवेशन को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक काशी सिंह ऐरी ने कहा कि स्वर्गीय डीडी पंत के आदर्शो को आत्मसात करते हुए उत्तराखण्ड क्रांति दल को मजबूती प्रदान करने में अपना योगदान दें। राज्य आंदोलनकारियों के सपनों को साकार करने में उत्तराखण्ड क्रांतिदल की निर्णायक भूमिका सुनिश्चित की जाए।
 उन्होंने कहा कि स्वर्गीय डीडी पंत ने हमेशा ही उत्तराखण्ड राज्य को प्रगति के पथ पर अग्रसर करने में अपना योगदान दिया। उनके आदर्श आज भी उत्तराखण्ड के युवाओं को प्रेरणा देते हैं। पूर्व मंत्री दिवाकर भट्ट ने कहा कि स्वर्गीय डीडी पंत ने उत्तराखण्ड के विकास में नए आयाम रचे। उनके आदर्शो को अपनाकर उत्तराखण्ड के विकास में अपना योगदान दें। उन्होंने कहा कि भाजपा कांग्रेस मात्र राजनैतिक लाभ लेने के चक्कर में प्रदेश को विनाश की और ले जा रही है। खेतीहर किसानों की अनदेखी की जा रही है। ग्रामीण क्षेत्रों का विकास नहीं हो पा रहा है। किसानों को सही रूप से सब्सिडी व अन्य योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। राज्य आंदोलनकारियों के सपनों के अनुरूप राज्य का विकास ना होना भाजपा की कथनी करनी को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड क्रांति दल का प्रत्येक कार्यकर्ता अपने दायित्व को समझते हुए उत्तराखण्ड के विकास में अपना योगदान दे। पूर्व अध्यक्ष त्रिवेंद्र सिंह पंवार ने कहा कि राज्य सरकार पलायन रोकने में पूरी तरह से नाकाम हो चुकी है। उत्तराखण्ड का विकास नहीं हो पा रहा है। राज्य के युवाओं को रोजगार नहीं मिल पा रहे हैं। प्रदेश में शराब कारोबारी धड़ल्ले से अवैध नशों का कारोबार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि त्रिवेंद्र सरकार उत्तराखण्ड की मान मर्यादाओं को दरकिनार कर शराब के कारखाने लगाने का काम कर रही है। जिसको किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। स्वर्गीय डीडी पंत के सपनों को साकार करने में उत्तराखण्ड क्रांति दल का प्रत्येक कार्यकर्ता अपना योगदान दे।  जिला अध्यक्ष राकेश राजपूत ने दो दिवसीय अधिवेशन में पधारे पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं का आभार प्रकट करते हुए कहा कि भाजपा कांग्रेस एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। राज्य का विकास पूरी तरह से अवरूद्ध है। प्रदेश सरकार शराब माफियाओं को संरक्षण देने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड क्रांति दल निजी खेतों में चुगान, गांव बचाओ अभियान को प्रदेश भर में जनजागरूकता के रूप में चलाएगी। उन्होंने कहा कि यूकेडी का प्रत्येक कार्यकर्ता राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों का खुलकर विरोध करेगा। संचालन डीके पाल ने किया। अधिवेशन में सरिता पुरोहित, संजय चैहान एडवोकेट, एमडी शर्मा, रविन्द्र वशिष्ठ, राजीव देशवाल, दीपक गोनियाल, जयंत अमोली, दीपक चैहान, नसीम अहमद, नितिन सैनी, हरिशंकर उपाध्याय, एसपी जुयाल, विवेक कुमार, राजकुमार चैहान, डीएस पुण्डीर, ब्रजवीर सिंह तथा उत्तराखण्ड के समस्त जिला अध्यक्ष, अन्य पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे। 
————————————————————
नगर कीर्तन के स्वागत की तैयारियों में जुटा सिख समाज
हरिद्वार। श्री गुरुनानक देव महाराज के 550वें जन्मोत्सव के अवसर पर अमृतसर पाकिस्तान से सिख संगत द्वारा अंतरराष्ट्रीय नगर कीर्तन भृमण सम्पूर्ण देशभर में किया जा रहा है। इस क्रम में 14 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय नगर कीर्तन देहरादून से हरिद्वार होते हुए चंडी चैंक होकर उत्तरप्रदेश बिजनौर जाएगा। अनूप सिंह सिद्धू ने बताया कि नगर कीर्तन 14 अगस्त को दोपहर 12 बजे हरिद्वार पहुंचेगा। नगर कीर्तन का भव्य स्वागत हरिद्वार की सिख संगत द्वारा चंडी चैक पर किया जाएगा। स्वागत कार्यक्रम के पश्चात नगर कीर्तन नजीबाबाद के लिए प्रस्थान करेगा। नगर कीर्तन यात्रा में पवित्र गुरु ग्रंथ साहिब की पालकी  तथा श्री गुरु गोविंद सिंह महाराज के शस्त्रो से सजी झांकी सम्मिलित होगें। विक्रम सिंह सिद्धू ने सिख समाज से अंतर्राष्ट्रीय नगर कीर्तन के स्वागत कार्यक्रम में अधिक से अधिक संख्या में भाग लेने की अपील की। मेयर अनीता शर्मा ने आनन्द समाधि के पास होने स्वागत कार्यक्रम स्थल का जायजा लिया और अधिकारियों को साफ सफाई व अन्य व्यवस्थाएं लागू करने के निर्देश दिए। 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *