एकादशी के व्रत करने से कैंसर की बीमारी नहीं होती

सर्वे भवन्तु सुखिनः,सर्वे सन्तु निरामयः
सर्वे भद्राणि पश्चयन्तु माँ कश्चिद दुःख भाग भवेत।

चन्द्रशेखर पैन्यूली -विश्व कैंसर दिवस पर आप सभी के परिजनों और आपके स्वस्थ जीवन की कामना राष्ट्रीय समाचार पत्र भगवान से करता हैं,कैंसर एक भयानक और बहुत तेजी से फैलती बीमारी है प्रत्येक वर्ष लाखों लोग इस भयानक बीमारी से अकाल मौत का शिकार होते हैं, महिला हो या पुरुष इस बीमारी के कारण लाखों परिवारों को बेहद दुःख और कष्ट मिल रहा है,  कैंसर कई तरह से आदमी को अपने आगोश में लेता है जैसे मुँह का कैंसर,पेट का कैंसर,यकृत का कैंसर,स्तन कैंसर,सर्वाइकल कैंसर आदि के कारण हंसते खेलते लोग मौत के मुँह में चले जाते है। असमय मौत कैंसर जैसी भयावह बीमारी से ही होती हैं,कैंसर की भयावहता को देखते हुए वर्ष1993 से प्रत्येक वर्ष 4 फरवरी को इस भयानक बीमारी के प्रति लोगों में जागरूकता लाने के उद्देश्य से प्रत्येक वर्ष कैंसर दिवस मनाया जाता है, कैंसर के प्रति जागरूकता लाने हेतु आप सभी लोग भूमिका निभाएं ताकि लोगों में कैंसर के प्रति सजगता आये और लोग इस बीमारी के प्रकोप से दूर रहे और जो लोग दुर्भाग्यवश इस बीमारी के चपेट में आ जाये वो लोग इस जानलेवा बीमारी के शुरूआती चरण में ही इसका इलाज करवा सके।विश्व कैंसर दिवस पर आज 4 फरवरी को आप सभी के स्वस्थ जीवन और लम्बी उम्र की कामना भगवान से करते हैं।इसके लिए एकादशी का व्रत रखने से यह बीमारी नही होसकती क्योंकि व्रत के दिन भूख मे कैंसर के सेल ही समाप्त हो जाते हैं।इसका ख़तरा पैदा नहीं होता।
स्वस्थ जीवन की कामना के साथ,सभी के दीर्घायु होने की ईश्वर से प्रार्थना करते हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *