दिनभर की प्रमुख खबरों पर एक नजर

शनिवार व रविवार को नगर निगम देहरादून क्षेत्रान्तर्गत सभी कार्यालय बंद रहेंगे

देहरादून,। जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने अवगत कराया है कोविड-19 संक्रमण को लेकर जनपद में स्थिति पूर्ण रूप से निंयत्रण में है, प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा  इस पर पूर्ण रूप से निगरानी की जा रही है। जनपद देहरादून में कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों के निरन्तर चिन्हित होने के फलस्वरूप संक्रमण के प्रसार को रोकने हेतु सुरक्षात्मक उपाय के दृष्टिगत कल शनिवार तथा रविवार को नगर निगम  देहरादून क्षेत्रान्तर्गत एवं छावनी परिषद क्लेमेंन्टाउन तथा छावनी परिषद गढीकैन्ट, अवस्थित सभी भारत सरकार एवं राज्य सरकार के अधीन सभी शासकीय, अर्द्, शासकीय कार्यालय, एवं उपक्रम तथा बैंक व  सभी प्रकार के निजी कार्यालय, देशी तथा विदेशी मदिरा की दुकानें पूर्णतः बन्द रहेंगी।
इस अवधि में नगर निगम देहरादून द्वारा नगर निगम क्षेत्रान्तर्गत सभी प्रतिष्ठानों, दुकानों, सभी कार्यालय तथा सार्वजनिक स्थलों पर सेनिटाइजेशन एवं साफ-सफाई का कार्य किया जायेगा। इस दौरान आवश्यक सेवांए यथा अस्पताल में ओपीडी, स्वास्थ्य विभाग, चिकित्सा, पेयजल, नगर निगम, विद्युत विभाग के कार्यालय, पैट्रोल पम्प, गैस एजेंसी, दवाओं की दुकानें, डेरी(दूध, दही आपूर्ति करने वाली दुकानें), फल-सब्जी की दुकानें, टिफिन सर्विस, मीटध्मछली की दुकानें एवं औद्योगिक ईकाइयां  खुली रहेंगी। इस दौरान आवश्यक सेवाओं में जुड़े वाहनध् चिकित्सीय आकस्मिकता एवं औद्योगिक ईकाइयों से सम्बन्धित वाहनों को छोड़कर अन्य सभी प्रकार के वाहनों के आवागमन पर प्रतिबन्ध रहेगा। जिलाधिकारी ने बताया कि  जनपद में प्रत्येक बुधवार एवं शनिवार को चलाये जाने वाले डेंगू-मलेरिया उन्मूलन अभियान को कल कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम हेतु किये गये लाॅकडाउन अवधि में समस्त जनमानस से उक्त डेंगू-मलेरिया उन्मूलन अभियान को चलाकर अपने निवास स्थान के गमलों, खाली बर्तनों, टायरों में पानी इकठ्ठा न होने देने का अनुरोध किया। जिलाधिकारी ने आमजनमानस से इस अभियान से जुड़कर जनपद में डेंगू-मलेरिया के उन्मूलन में सहयोग प्रदान करते हुए इसके प्रसार को रोकने में प्रशासन का सहयोग करने की अपेक्षा की। वायु सेवा के माध्यम से जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट पर पंहुचे प्रवासी 275 व्यक्तियों को स्वास्थ्य जांच उपरान्त जनपद में क्वारेंटीन किया गया है। इसी प्रकार जनपद के जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट से विभिन्न प्रदेशों के 257 व्यक्तियों को गंतव्यों हेतु भेजा गया। काठगोदाम से देहरादून रेलवे स्टेशन पर 152 व्यक्ति पहुंचे। इसी प्रकार देहरादून रेलवे स्टेशन से दिल्ली हेतु 251 तथा काठगोदाम के लिए 404 व्यक्ति गये।
————————————————–
26 मोबाइल वैन के माध्यम से 234.00 क्विंटल फल-सब्जियों का विक्रय किया गया

देहरादून,। जनपद के विभिन्न चयनित स्थानों पर प्रशासन द्वारा अधिकृत 26 मोबाईल वैन के माध्यम से सस्ते दरों पर 234.00 क्विंटल फल-सब्जियों का विक्रय किया गया। जिला प्रशासन द्वारा बनाये गये विभिन्न कन्टेंमेंट जोन में दुग्ध विकास विभाग द्वारा आई.डी.पी.एल ऋषिकेश में 20 ली0, भरत विहार लेन न.0 4 में 15 ली0, सोलंकी मौहल्ला में 15 ली0, भागीरथी पुरम में 15 ली0, मोहनी रोड़, डालनवाला में 15, सर्कुलर रोड़ में 10 ली0, चमनपुरी में 15 ली0, ब्रहा्रम्पुरी में 10 ली0, वंसत विहार कालोनी में 15 ली0, खुड़बुड़ा मौहल्ला में 15 ली0, कंलिगा कालोनी में 10 ली0 और पूर्वी पटेल नगर में 15 ली0, सहित कुल 170 ली0 दूध विक्रय किया गया।
जिला प्रशासन द्वारा आज थाना पटेल नगर अंर्तगत 45 अन्नपूूर्णा किट जरूरतमंदो को वितरित की गई। जिला प्रशासन की टीम द्वारा स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से जनपद अन्तर्गत विकासखण्ड चकराता, विकासनगर, सहसपुर, रायपुर व डोईवाला एवं तहसील सदर में कुल 175 निराश्रित पशुओं जिसमें, 155 गौवंश एवं 20 अन्य पशुओं को चारा व पशु आहार उपलब्ध कराया गया। जनपद में विभिन्न विकासखण्डवार मनरेगा कार्यों के अन्तर्गत आतिथि तक 1244 निर्माण कार्य प्रारम्भ किये गये, जिनमें 17314 श्रमिकों को सैनिटाईजेशन एवं सामाजिक दूरी का अनुपालन करवाते हुए उक्त कार्य में योजित कर रोजगार उपलब्ध कराया गया। कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डाॅ ए.के डिमरी, एवं जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी जी.सी कण्डवाल द्वारा होटल तिरूपति , होटल पंजाब एसेंस एवं बंगाली स्वीटस के कुल 20 कार्मिको  को प्रशिक्षण दिया गया। कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत जिला आपदा परिचालन केन्द्र देहरादून में जन सहायता हेतु स्थापित कन्ट्रोलरूम में कुल 63 काॅल प्राप्त हुई हैं, जिनमें पास सभी काल पास हेतु प्राप्त हुई। जनपद में कोरोना वायरस से संक्रमण के प्रसार को रोके जाने के दृष्टिगत सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए निबन्धन कार्यालयों में आज जन सामान्य द्वारा कुल 129 लेख पत्रों का पंजीकरण (रजिस्ट्री) कराई गयी, जिससेे 95.71 लघख का राजस्व प्राप्त हुआ।
———————————————————
मेडिकल स्टोर स्वामियों के सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया

देहरादून। जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने कोरोना वायरस संक्रमण कोविड-19 की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु जनपद अन्तर्गत समस्त मेडिकल स्टोर पर बिना चिकित्सक के परामर्श की पर्ची के सर्दी, खांसी व जुकाम की दवाईयों वितरण के प्रतिबन्ध हेतु पूर्व में दिये गये निर्देशों के क्रम में आज जिला प्रशासन द्वारा वास्तविकता जांच हेतु दून चिकित्सालय के निकट एवं चकराता रोड पर स्थित विभिन्न मेडिकल स्टोर पर  ग्राहक के रूप में कार्मिकों को भेजा गया। वास्तविकता जांच के दौरान सामने आया कि बिना चिकित्सकीय पर्ची के खांसी, जुकाम, बुखार की दवा मांगने पर किसी भी मेडिकल स्टोर द्वारा सम्बन्धित को दवा नही दी गयी। जिलाधिकारी द्वारा कोविड-19 संक्रमण के बचाव में समस्त मेडिकल स्टोर स्वामियों द्वारा किये गये सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया है।
जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत 110 सैम्पल जाचं हेतु भेजे गये तथा 106 जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई, जिनमें 21 व्यक्तियों की रिपोर्ट पाॅजिटिव आने के फलस्वरूप जनपद में कोरोना पाॅजिटिव संक्रमितों की संख्या 447 हो गई है, जिनमें  163 व्यक्ति वर्तमान में उपचाररत् हैं। इसके अतिरिक्त जनपद में आज कुल 335 व्यक्तियों के सैम्पल लिये गये तथा  34 व्यक्तियों की रैण्डम सैम्पलंग की गयी।
———————————————
कन्टेंमेंट जोन में 433 लोगों की सामुदायिक निगरानी का कार्य किया गया

देहरादून। आंगनबाड़ी कार्यकर्तियों की 18 टीमों द्वारा जनपद देहरादून अन्तर्गत बनाये गये विभिन्न कन्टेंमेंट जोन में 433 व्यक्तियों की सामुदायिक निगरानी का कार्य किया। जनपद में आतिथि तक आंगनबाड़ी कार्यकर्तियों द्वारा  ब्व-डवतइपकपजल  अवस्था वाले कुल 2488 व्यक्ति चिन्हित कर लिए गये हैं। इसी प्रकार आशा कार्यकर्तियों द्वारा जनपद में होम क्वारेंटीन किये गये 1069 व्यक्तियों की सामुदायिक निगरानी का कार्य किया। अन्य राज्यों से जनपद में पंहुचे कुल 868 व्यक्तियों को स्वास्थ्य परीक्षण के उपरांत क्वारेंटाइन किया गया।
कोरोना वायरस संक्रमण कोविड-19 की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु समस्त मेडिकल स्टोर पर बिना चिकित्सक के परामर्श की पर्ची के सर्दी, खांसी व जुकाम की दवाईयों का विक्रय प्रतिबन्धित किये जाने के उपरान्त समस्त मेडिकल स्टोर स्वामियों द्वारा जनपद में कुल 93 व्यक्तियों को चिकित्सकीय पर्ची के आधार पर सर्दी, खांसी व जुकाम की दवाईयां विक्रय की गयी।
कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत लाॅक डाउन अवधि के दौरान जनपद में बनाये गये 2 राहत शिविरों में ठहरे हुए 18 व्यक्तियों का चिकित्सकों एवं परामर्शदाताओं द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण उपरान्त कांउसिलिंग प्रदान की गयी। कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत दिहाड़ीध्मजदूरी करने आये 6 श्रमिकों जिन्हे जैन धर्मशाला  देहरादून  में  बनाये गये राहत शिविर में ठहराया गया है, की साईकेट्रिक सपोर्ट टीम द्वारा रिवाइस्ड कांउसिलिंग की गयी। आज विभिन्न ड्यूटियों में तैनात कार्मिकों को 38 एन-95 मास्क, 310 ट्रिपल लेयर मास्क, 10 पीपीई किट, 50 वीटीएम वायल, 96 सेनिटाइजर, 167 सर्जिकल गलब्स, 400 एक्सामिनेशन गलब्स वितरित किये गये।
—————————————–
बंदी का राजस्व माफ करने की मांग

देहरादून। साप्ताहिक बंदी के दौरान राजस्व माफ करने के लिए शराब व्यवसाई अब लामबंद होते प्रतीत हो रहे हैं, विदित रहे गत सप्ताह जिलाधिकारी द्वारा एक आदेश जारी कर २ दिन साप्ताहिक बंदी (शनिवार व रविवार) को शराब की बिक्री को भी प्रतिबंधित किया था। दिनांक ९ जून २०२० को शराब व्यवसाई रामबाबू ने आबकारी आयुक्त को प्रेषित एक पत्र के माध्यम से अवगत कराया है की कोविड-१९ के कारण वैसे भी शराब की बिक्री में काफी कमी आई है साथ ही जिलाधिकारी द्वारा दो दिवसीय साप्ताहिक बंदी के दौरान शराब बिक्री प्रतिबंधित करने के कारण होने वाले नुकसान को ध्यान में रखते हुए उपरोक्त दो दिवस का राजस्व भुगतान करने में असमर्थता जताई है उपरोक्त के साथ ही शराब व्यवसाई अनीता जायसवाल, पूर्ण चंद, मोहनलाल,अवतार सिंह इत्यादि ने भी आबकारी आयुक्त को पत्र लिखकर उक्त साप्ताहिक बंदी का राजस्व माफ करने की मांग की है।
—————————————————-
अधर में लटका बदरीनाथ हाईवे पर निर्माणाधीन पुल

रुद्रप्रयाग, आजखबर। जिले के मुख्य बाजार में बदरीनाथ हाईवे पर निर्माणाधीन पुल का निर्माण कार्य चार माह बाद भी पूरा नहीं हो सका है। जिस कारण वाहन चालकों के अलावा स्थानीय जनता को भी भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में पुल न बनने के कारण बदरीनाथ हाईवे पर आए दिन जाम लग रहा है। जबकि, मानसून सीजन में भी काफी समस्याएं पैदा हो सकती हैं। वहीं, प्रशासन संबंधित कार्यदायी संस्था को नोटिस भी जारी कर चुका है। लेकिन, पुल निर्माण कार्य अधर में ही लटका हुआ है। ऑल वेदर रोड़ के तहत रुद्रप्रयाग बाजार में चैड़ीकरण का कार्य चल रहा है। बदरीनाथ हाईवे से सटी कई दुकानों और घरों को भी ध्वस्त किया जा चुका है। बदरीनाथ हाईवे पर रुद्रप्रयाग में पुराने डाट पुल को ध्वस्त कर नये पुल का कार्य निर्माणाधीन है। दरअसल, यह पुल बदरीनाथ और केदारनाथ दोनों धामों को जोड़ता है। चार माह पूर्व ध्वस्त किए गए इस पुल की जगह नए पुल का निर्माण अप्रैल माह तक तैयार हो जाना था। लेकिन, अभी तक पुल तैयार नहीं हो पाया है। कोरोना वायरस के कारण जारी लाॅकडाउन के बीच कुछ दिनों तक पुल का निर्माण कार्य बंद रहा। ऐसे में लाॅकडाउन के बीच पुल का निर्माण कार्य करने की अनुमति प्रशासन ने दे दी है। लेकिन, पुल का निर्माण कार्य समय पर नहीं हो पाया है। पुल न बनने से जहां वाहनों को अतिरिक्त सफर तय करना पड़ रहा है। तो बाजार में आए दिन जाम भी लग रहा है। मामले में पुलिस अधीक्षक नवनीत सिंह ने कहा कि पुल निर्माण को लेकर लगातार संबंधित कार्यदायी संस्था से वार्ता की जा रही हैं। पुल निर्माण को लेकर कार्यदायी संस्था को नोटिस भी भेजा गया है। जिस पर संबंधित संस्था ने 30 जून तक पुल तैयार करने की बात कही है।
———————————————
एनएचएच कर्मी बोले, सरकार कर रही अनदेखी

पौड़ी, आजखबर। कोरोना महामारी से बचाव व रोकथाम के लिए जूझ रहे एनएचएम कर्मचारियों ने प्रदेश सरकार पर अनदेखी का आरोप लगाया है। कर्मचारियों का कहना है कि एनएचएम कर्मचारी पिछले लंबे समय से तीन सूत्रीय मांग के समाधान को लेकर संघर्ष कर रहे हैं, लेकिन प्रदेश सरकार लगातार कर्मचारियों की अनदेखी करती आ रही है। कहा कि केंद्र सरकार द्वारा मिलने वाले लाभ भी प्रदेश सरकार एनएचएम कर्मचारियों को नहीं दे रही है।एनएचएम कर्मचारी संगठन ने मुख्यमंत्री से कर्मचारियों के नियमितीकरण की मांग की है।
संगठन के जिलाध्यक्ष शरद रौतेला ने बताया कि वर्ष 2017 में कर्मचारियों ने 19 दिनों तक आंदोलन किया। इस दौरान भाजपा नेताओं ने तत्कालीन प्रदेश सरकार पर कर्मचारियो की उपेक्षा का आरोप लगाया था। लेकिन सत्ता में आते ही यह एनएचएम कर्मचारियों को भूल गई है। कहा कि केंद्र सरकार ने वर्ष 2017 में एनएचएम कर्मचारियों को 15 फीसदी परफारमेंस बोनस दिया, लेकिन यह बोनस आज तक कर्मचारियों को नहीं मिला है। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी से बचाव व रोकथाम में लगातार एनएचएम कर्मचारी जुटे हुए हैं। लेकिन हमें कोरोना वॉरियर्स की श्रेणी में ही नहीं रखा है। कहा कि कोरोना सेवा में मिलने वाले प्रत्येक लाभ से कर्मचारियों को वंचित रखा गया है। एनएचएम कर्मचारी वर्ष 2017 को शासन को भेजे नियमितिकरण प्रस्ताव के अनुरुप नियमितिकरण किए जाने,15 फीसदी परफरमेंस बोनस का लाभ दिए जाने और हरियाणा की तर्ज पर एनएचएम कर्मचारियों पर सेवा नियमावली लागू किए जाने की मांग कर रहे हैं। इस अवसर पर प्रदीप रावत, दीपक सौरभ, मनीष भट्ट, राजीव रावत आदि मौजूद रहे।
————————————————
शिक्षामंत्री के बयान का किया विरोध

पौड़ी, आजखबर। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय द्वारा बच्चों को सरकारी स्कूलों में दाखिला कराने वाले बयान पर भारतीय राष्ट्रीय युवा कांग्रेस पौड़ी के पदाधिकारियों ने विरोध जताया है। पदाधिकारियों ने शिक्षा मंत्री से सरकारी स्कूलों का आधुनिकीरण करने और शिक्षा बजट में कटौती न करने की मांग की है।भारतीय राष्ट्रीय युवा कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष एवं पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष आशीष नेगी ने कहा कि युवा कांग्रेस ने कुछ दिन पहले कोरोना महामारी को देखते हुए सरकार से 3 महीने का बिजली व पानी का बिल व 3 महीने की छात्र-छात्राओं की फीस माफी के लिए सीएम को ज्ञापन भेजा था लेकिन सरकार ने अभी तक इस पर कोई भी ध्यान नहीं दिया है। कहा कि एक तरफ सरकार हर साल शिक्षा बजट में कटौती कर छात्रों के साथ खिलवाड़ करने का काम कर रही है। वहीं दूसरी ओर सूबे के शिक्षा मंत्री इस तरीके का बयान दे रहे हैं जो की उन्हें शोभा नहीं देता है। कहा कि कोरोना महामारी के चलते बेरोजगारी आने से अभिभावक अपने बच्चों की फीस माफ करने की गुहार सरकार से लगा रहे है लेकिन शिक्षा मंत्री अपनी शिक्षा नीतियों में बदलाव न करके इस तरीके का बयान दे रहे है जबकि उन्हें अपने शिक्षा तंत्र में सुधार करने की आवश्यकता है। कहा कि यदि सरकार बयानबाजी न करते हुए सरकारी स्कूलों का आधुनिकीकरण करें तो अभिभावक अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों दाखिला दिलाएंगे। सरकार को सरकारी स्कूलों की दशा सुधारने के लिए ठोस कदम उठाने की जरूरत है। युवा कांग्रेस ने सरकार से शिक्षा बजट में कटौती न करने, 3 महीने की छात्र-छात्राओं की फीस माफ करने की मांग की है। विरोध करने वालों में पूर्व यूआर मोहित सिंह, छात्रसंघ सचिव गोपाल नेगी, पूर्व छात्रसंघ सचिव आकाश रावत, पूर्व छात्रसंघ कोषाध्यक्ष अंकित सुंद्रियाल, पूर्व छात्रसंघ सहसचिव शिवानी भंडारी, छात्र नेता दीपक नौटियाल, संजना गुजराल, निशा ममगांईं, कामिनी आदि थे।
————————————————————
वर्चुअल रैली के लिए संयोजक नियुक्त

टिहरी, आजखबर। आगामी 15 जून को प्रस्तावित भाजपा की वर्चुअल रैली में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भाजपा के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। यह जानकारी देते हुये भाजपा टिहरी के जिलाध्यक्ष विनोद रतूड़ी ने देते हुये बताया कि रैली के लिए विधानसभावार संयोजक बनाये गये हैं। संयोजकों के रूप में घनसाली विधानसभा से चंद्रकिशोर मैठाणी, प्रताप नगर से प्रेम दत्त जुयाल, धनोल्टी से आशुतोष कोठारी, नरेंद्र नगर से राजपाल पुंडीर, देव प्रयाग से जेपी चंद, टिहरी से अरविंद मखलोगा को तय किया गया है। महिला मोर्चा के लिए महिला समन्वयक के रूप में पूर्व ब्लाक प्रमुख थौलधार रजनी सजवाण को जिम्मेदारी दी गई है। जिलाध्यक्ष रतूड़ी ने बताया कि बीते 11 जून से 17 जून तक सभी बुथ व मंडल स्तरों पर प्रधानमंत्री मोदी के संकल्प पत्र वितरण का कार्यक्रम भी चलाया जा रहा है।
———————————————–
विधायक नेगी ने ग्रामीणों को बांटे इंडक्शन चुल्हे

टिहरी, आजखबर। वन विभाग की ग्रीन मिशन योजना के तहत टिहरी विधायक डा धन सिंह नेगी ने ग्राम गाजणा, पाली, नैल व चोपड़ी में वन विभाग के सौजन्य से 72 ग्रामीणों को इंडक्शन चूल्हों का वितरण सोसियल डिस्टेंस्टिंग के साथ किया। इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि विधायक डा नेगी ने कहा कि वनों को बचाने के लिए ग्रीन मिशन योजना के तहत जो पहल की गई है। इसमें आम लोग वनों को बचाने में अपना सहयोग प्रदान करें। अधिकाधिक वृक्ष लगाकर पर्यावरण को सुरक्षित रखने का भी आहवान किया। जंगली व पेड़ों पर आम लोगों की निर्भरता कम हो। इसके लिए ग्रीन मिशन योजना के तहत ग्रामीणों को इंडक्शन के चुल्हों का वितरण विधायक नेगी के माध्यम से किया गया। प्रधान नैल विनोद उनियाल ने कहा कि इंडक्शन चुल्हों के वितरण से ग्रामीणों को सुविधा मिलेगी और ग्रामीण वनों की ओर निर्भरता से दूर होंगे। इस अवसर प्रधान गाजणा ललित सुयाल, भाजपा मंडल अध्यक्ष चम्बा धर्म सिंह रावत, वन दरोगा लक्ष्मण सिंह सजवाण, विष्णु सजवाण, जितेंद्र सजवाण, सचिन सजवाण, लाल सिंह सजवाण, गंभीर सिंह, कुंवर सिंह, सुरेंद्र सुयाल आदि मौजुद रहे।
—————————————————–
गंगोत्री-यमुनोत्री में नहीं पहुंचे श्रद्धालु

उत्तरकाशी, आजखबर। उत्तराखंड के चारधामों की यात्रा दर्शन के लिये अभी स्थानीय लोगों को ही अनुमति मिलने के तहत गुरुवार को 92 लोगों ने भगवान बदरी विशाल के दर्शन किए। इनमें सभी बदरीनाथ के बामिणी, नागणी , माणा   गजकोटी के रहने वाले हैं। सभी 92 लोगों ने सोसल डिस्टेंसिंग का सम्मान करते हुये देवस्थानम बोर्ड के दिशा निर्दशों के अनुसार भगवान के दर्शन किए।
मंदिर के सभा मंडप के मुख्य द्वार से दर्शनाथियों ने दर्शन किये। जो मंदिर के गर्भ गृह और अनुष्ठान अभिषेक के लिये बैठने वाले स्थान से दूर है।
भगवान के दर्शन करने वाले स्थानीय नागणी के बदरी लाल कहते हैं भगवान के दर्शन पाकर जीवन धन्य हुआ।  माणा के प्रधान पीताम्बर मोल्फा ने कहा भगवान के दर्शन करते समय विश्व को कोरोना से मुक्त करने की प्रार्थना की।  मंदिर के दर्शन के लिये स्थानीय ग्रामीणों और नगर पंचायत बदरीनाथ के मूल निवासियों के लिये अनुमति है।  देवस्थानम बोर्ड के कर्मचारी मंदिर के निकट कक्ष में दर्शन करने जा रहे स्थानीय लोगों का चिह्नीकरण कर रहे हैं। जिन स्थानीय लोगों के चिह्नीकरण में दिक्कत हो रही है उनसे पहचान पत्र और आधार कार्ड भी लिया जा रहा है। दर्शनार्थियों के नाम रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। उत्तराखंड के चार धामों में स्थानीय लोगों को मंदिर के दर्शन की अनुमति के निर्णय के क्रम में गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में दूसरे दिन भी श्रद्धालु नहीं पहुंचे।
इससे धाम में सन्नाटा पसरा हुआ है। बुधवार को प्रदेश सरकार ने स्थनीय लोगों को चारधाम यात्रा करने की छूट दी। लेकिन इस छूट का चारधाम यात्रा पर कोई प्रतिकूल असर नहीं दिखाई दिया।
—————————————————
बदरीनाथ में मां उर्वशी से मिलने पहुंचे भगवान कुबेर

बदरीनाथ, आजखबर। परम्परा और मान्यता के अनुसार जेठ पुजाई के लिये बदरी भगवान के भोग लगने के बाद बामिणी गांव के हक हूकधारियों द्वारा गाजे बजे के साथ भगवान कुबेर को बामिणी गांव उर्वशी मंदिर में लाया गया।
इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया। पौराणिक मान्यता है कि जेठ माह में भगवान कुबेर बामिणी गांव के उर्वशी मंदिर मां उर्वशी से मिलने जाते हैं। जहां पहुंचने के बाद भगवान कुबेर एवं मां उर्वशी को विशेष रूप से तैयार किया हुआ दाल-चावल का भोग लगाया गया। जिसे ग्रामीणों में प्रसाद के रूप में वितरण किया गया। सायं काल को मंदिर खुलने के बाद भगवान कुबेर को बदरीनाथ मंदिर में विराजमान किया गया। इस अवसर पर राजेश मेहता, बलदेव मेहता, राजदीप सनवाल , जगमोहन भंडारी आदि मौजूद थे।
———————————————————

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *